ProfileImage
15

Post

5

Followers

9

Following

PostImage

Avinash Kumare

July 14, 2024

PostImage

Donald Trump Attack: डोनाल्ड ट्रम्प यांच्यावर 20 वर्षीय तरुणाने केला गोळीबार, हे होत कारण


Donald Trump Attack: Federal Bureau of Investigation ने शनिवारी Pennsylvania मध्ये निवडणूकी प्रचार करतांना Donald Trump यांच्यावर गोळ्या झाडून अटॅक करण्यात आला आहे. त्या व्यक्तीची ओळख पटलेली असून हा फक्त 20 वर्षीय तरुण आहे. Thomas Crooks असं त्याचं नाव असल्याचे Federal Bureau of Investigation यांनी सांगितले हा हल्ला करण्यामागचा त्याचा उद्देश पोलीस शोधत आहेत. दरम्यान, Donald Trump यांच्यावर हल्ला करताच क्षणामध्ये सीक्रेट सर्व्हिसच्या सदस्यांनी प्रतिहल्ला केला. या प्रतिहल्ल्यात थॉम मॅथ्यू क्रुक्स या तरुणाचा मृत्यू झाला आहे.

हे देखील वाचा : Pradhan Mantri Pik Vima Yojana: फक्त याच पिक्कांना मिळणार नुकसान भरपाईचा लाभ

अमेरिकेचे माजी अध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प शनिवारी  (Donald Trump Attack) यांच्यावर झालेल्या हल्ल्यानंतर Federal Bureau of Investigation (FBI)  पत्रकार परिषदेत एजंटने सांगितले की, संशयिताकडे ओळखपत्र नसल्यामुळे त्या शूटरची ओळखी करण्यासाठी अधिकारी DNA तपासणी करण्यात येईल. Donald Trump Attack यांच्या वर हल्ला करणाऱ्या तरुणाकडे कोणतीही ओळख नव्हती. त्यामुळे त्याची DNA तपासणी करण्यात येईल. असं त्यांनी सांगितले होते.

 


PostImage

Avinash Kumare

July 8, 2024

PostImage

Pradhan Mantri Pik Vima Yojana: फक्त याच पिक्कांना मिळणार नुकसान भरपाईचा लाभ


Pradhan Mantri Pik Vima Yojana: महाराष्ट्र राज्य शासनाने केवळ एक रुपयात पीक विमा योजना खरीप हंगाम 2024 लागु केली असुन त्याची नोंदणी राष्ट्रीय पीक विमा पोर्टलवर सुरु आहे. शेतकरी बांधव www.pmfby.gov.in वर लॉगिन करून पीक विम्यात सहभाग नोंदवु शकतात. प्रधानमंत्री पीक विमा योजना कर्जदार किंवा बिगर कर्जदार शेतकऱ्यांसाठी ऐच्छिक असली तरी विमा हप्ता नाममात्र एक रुपया इतका कमी असल्याने सर्व शेतकरी बांधवानी त्याचा लाभ घ्यावा, असे आवाहन करण्यात येत आहे.

हे देखील वाचा : Sarkari Yojana 2024: खुशखबर ! या योजने अंतर्गत बारावी पास युवक- युवतींना सरकार देणार महिन्याला ₹ 10 हजार रुपये, जाणून घ्या केव्हा आणि कसे

आजच आपल्या जवळच्या CSC VLE नामित बँका येथे ही पीक विमा नोंदणी करता येते. नोंदणीची अंतिम तारीख 15 जुलै 2024 असली तरी शेवटच्या दिवसांतील गर्दी टाळण्यासाठी शेतकऱ्यांनी त्वरीत सहभाग नोंदवावा. भाडेपट्टीने शेती करणाऱ्या शेतकऱ्यांना पीक विमा योजनेत भाग घेता येईल. त्यासाठी नोंदणीकृत भाडे करार पोर्टलवर अपलोड करावा लागेल.

भात (धान), खरीप ज्वारी, बाजरी, नाचणी (रागी), मुग, उडीद, तूर, मका ही तृणधान्ये व कडधान्ये तसेच भुईमुग, कारळे, तीळ, सूर्यफुल, सोयाबीन ही गळीत धान्ये पीके आणि कापुस, खरीप कांदा ही नगदी पीके अधिसुचित मंडळ किंवा तालुका स्तरावर पीक विमा करण्यास पात्र आहेत.

 

हे देखील वाचा : आता एकल पालकांच्या मुलांना मिळणार महिन्याला २२५० रुपये

 

Pradhan Mantri Pik Vima Yojana: असा आहे उद्देश

  • पिकांच्या नुकसानीच्या वेळात शेतकऱ्यांचे आर्थिक स्थैर्य अबाधित राखणे.
  • नावीन्यपूर्ण व सुधारित मशागतीने तंत्रज्ञान व सामग्री वापरण्यासाठी प्रोत्साहन देणे.
  • कृषी क्षेत्रासाठीच्या पतपुरवठ्यात सातत्य राखणे.
  • उत्पादनातील जोखर्मीपासून शेतकऱ्यांच्या संरक्षणा बरोबरच अन्नसुरक्षा पिकांचे
  •  विविधीकरण आणि कृषी क्षेत्राचा गतिमान विकास करणे.
  • स्पर्धात्मकतेत वाढीचा उद्देश साध्य होण्यासाठी मदत होणार आहे.

हे देखील वाचा : किसान का उत्पादन होगा डब्बल, मिलेंगे ३ करोड़ लोगों को पक्के मकान: प्रधानमंत्री का किसानों और गरीबों के लिए पहला बड़ा फैसला

 

Pradhan Mantri Pik Vima Yojana: या नुकसानींना मिळणार भरपाई

  • हवामान घटकांचा प्रतिकुल परिस्थितीमुळे पिकाची पेरणी न झाल्यामुळे होणारे नुकसान.
  •  हंगामात हवामानातील प्रतिकुल परिस्थितीमुळे होणारे नुकसान.
  • पीक पेरणीपासुन काढणी पर्यंतच्या कालावधीतील नैसर्गिक आग.
  • वीज कोसळणे, गारपीट.
  • वादळ, चक्रीवादळ, पुरामुळे पीकक्षेत्र जलमय होणे (भात पीक वगळून)
  • भुखलन, दुष्काळ पावसातील खंड, कीड व रोग आदी बाबींमुळे उत्पन्नात होणारी घट.
  •  स्थानिक नैसर्गिक आपत्तीमुळे पिकांचे होणारे नुकसान.

अशीच माहिती जनून घेण्यासाठी आमच्या WhatsApp ग्रुप ला जॉइन करा, WhatsApp ग्रुप जॉइन करण्यासाठी खालील WhatsApp बटन ला क्लिक करा.

 


PostImage

Avinash Kumare

July 4, 2024

PostImage

आता एकल पालकांच्या मुलांना मिळणार महिन्याला २२५० रुपये


आता एकल पालकांच्या मुलांना मिळणार 
महिन्याला 2250 रुपये  

 

My khabar 24 :  क्रांतीज्योती सावित्रीबाई फुले बालसंगोपन या योजनेतून एकल पालक असणाऱ्या मुलांना दरमहा २२५० रुपये मिळणार आहे. आर्थिक लाभ घेण्यासाठी तुम्हाला अर्ज करावा लागणार आहे.  त्यासाठी हा लेख वाचने तुमच्या साठी फार गरजेच आहे. तर यापूर्वी जी योजना चालू होती त्या योजनेतून एकल पालक असणाऱ्या मुलांना  १ हजार १०० रुपये मिळत होते. पण आता त्यामध्ये वाढ करण्यात आली आहे.  

 

● विधवा ,घटस्पोटीत महिला तसेच अनाथ बालकांना ही योजना मिळण्यासाठी महिला व बालकल्याण विभागाकडे ही अर्ज करणे आवश्यक आहे. 
महिला व एकात्मिक बालविकास  विभागाच्या कार्यालयात पंचायत समिती आणि कुटुंब संरक्षण अधिकारी यांच्याकडे अर्ज करू शकता. 

 

तसेच पालक नसलेल्या किंवा एक पालक असलेल्या म्हणजेच आई वडील दोघांपैकी एक गमावलेल्या ० ते १८ वर्ष या वयोगटातील बालकांना शासनातर्फे बालसंगोपन योजने अंतर्गत महिन्याला 2025 रु. दिले जातात. 
 हे अनुदान थेट लाभार्थ्यांच्या बँक खात्यात जमा होणार 

 

आपल्या महाराष्ट्र राज्यातील प्रत्येक जिल्ह्यातल्या हजारो मुलांना या योजनेचा लाभ मिळत आहे. 
महाराष्ट्र मधील सर्व श्रेणीतील मुलांना या योजनेचा लाभ दिला जातो.   

 

बालसंगोपन योजतील लाभार्थी पात्र 

 ● या योजनेचा लाभार्थी एक पालक असलेल मूल. घरगुती संकटात अडकलेल मूल, घटस्फोटित मुले, विभक्त असलेले पालकांचे मुलं, गंभीर आजाराने रुग्णालयात असलेलं पालकांचे मुलं ,  दिव्यांग मुलं मतिमंद मुलं, 
आणि हरवलेली मुलं विविध घटकांतील बालकांना या योजनेचा लाभ दिला जातो. अगोदर या योजनेअंतर्गत ११०० रुपये दिले जात होते. परंतु आता योजनेत लाभार्थी मुलांना २२५० रुपये दिले जाते. ३१ जानेवारी  
२०२३ हे अनुदान आता वाढवणात आलं आहे.  

बाल संगोपन योजनेसाठी लागणारे आवश्यक कागदपत्रे 

१) योजनेतील विहित नमुन्यातील अर्ज 

२) मुलांचे पासपोर्ट आकाराचे तीन साईज फोटो 

३) घरासमोर पालकांसोबत बालकांचा फोटो ४ बाय ६ चा फोटो कार्ड आकाराच रंगीत फोटो दोन मुलं असल्यास दोन्ही मुलांसोबत पालकांचं स्वतंत्र फोटो.  

४ पालकांचे व बालकाचे झेरॉक्स  

५) तहसीलदार यांचं उत्पन्नाचा दाखला 

६) पालकांचं मृत्यू असल्याचं मृत्यूचा दाखला 

७) मुलांचे बँक पासबुक झेरॉक्स व नसल्यास पालकांचे पासबुक  

८) पालकांचा रहिवासी दाखला( ग्रामपंचायत व नगरपालिका यांचा) 

९ ) मृत्यूचा अहवाल ( जर तो व्यक्ती कोविड ने मृत्यू झाला असेल तर मृत्यूचा अहवाल चालेल 

१०) रेशनकार्ड ची  झेरॉक्स लागेल


बाल संगोपन योजना -- वैशिष्ट्ये

 मित्रांनो  महाराष्ट्र शासनाने ही योजना राज्यातील सर्व मुलांच्या कल्याणासाठी त्यांच्या येणाऱ्या उज्वल भविष्या साठी ही खासकरून अनाथ बालकांना पैसे अभावी कधीही शिक्षणापासून वंचीत ठेवू नये म्हणून त्याना या बालसंगोपन  योजने अंतर्गत 
दरमहा पैसे दिले जातात. आणि थेट त्यांच्या बँक अकाउंट मध्ये ते पैसे जमा होतात. त्याना कुठल्याही गोष्टीची कमतरता भासू नये. किंवा ज्या मुलांच्या घरची बिकट परिस्थिती आहे आणि त्याना शिक्षण शिकण्यास अडचण होत आहे. ज्या मुलांचे पालक बेपत्ता आहेत किंवा त्यांच्या घरचे कुणी पैसे कवणार व्यक्तीच नाही आणि तो माणूस मरण पावला असेल. तर ,अश्या मुलांना या योजनेचा लाभ घेता येतो आणि आपल्या येणाऱ्या उज्वल भविष्य चांगलं करता येईल आणि समोर जाऊन आपलं नाव कमवतील  या हेतूने ही योजना राज्य शासनाने चालू केली आहे.  

 

अशीच माहिती जाणून घेण्यासाठी आमच्या whatsapp ग्रुप ला जॉईन करा जॉईन करण्यासाठी खाली दिलेल्या लिंक ला क्लिक करा...

https://chat.whatsapp.com/ISCOWgisDlQ4o0XxJekgtc
 

 

 

 

 

 

  
 
 

 

 

 


PostImage

Avinash Kumare

July 2, 2024

PostImage

Types Of Organic Farming: शेतकऱ्यांनो, कीटकनाशक फवारणी या पिकांवर नको ?


Types Of Organic Farming: उत्पादन वाढीच्या दृष्टिकोनातून सध्या रासायनिक खतांचा आणि कीटकनाशकांचा वापर करण्यात येतो. यामुळे उत्पादन वाढले जात असले तरी पिकात रासायनिक अर्क राहत असतो. खाण्यात हा अर्क पोटात जात असतो. त्यामुळे आरोग्याची समस्या भेडसावण्याची शक्यता असते. त्यामुळे कीटकनाशकांऐवजी गोमूत्र, दशपर्णी, निंबोळी अर्काची फवारणी करावी, असे आवाहन कृषी विभागाने केले आहे.

 

Types Of Organic Farming: फवारणी करताना अशी घ्या काळजी?

हे देखील वाचा : किसान का उत्पादन होगा डब्बल, मिलेंगे ३ करोड़ लोगों को पक्के मकान: प्रधानमंत्री का किसानों और गरीबों के लिए पहला बड़ा फैसला

 

  • एकच कीटकनाशक दोनपेक्षा जास्त वेळा नको : कोणतेही पीक असो परंतु, एकच फवारणी करा कीटकनाशक दोनपेक्षा अधिक वेळा फवारणी करू नये.
  • पीक या अवस्थेत झाल्यानंतर फवारणी करावी : पिके पेरणीच्या दुसया टप्प्यात आल्यानंतर त्याची योग्य पद्धतीने व कृषी विभागाच्या सल्ल्याने फवारणी करावी.
  • सुरक्षेची घ्या काळजी : तणनाशके फवारणीचा पंप चुकूनही कीटकनाशक फवारणीसाठी वापरु नये. फवारणी करताना संरक्षक कपडे, बूट, हातमोजे, नाकावरील मास्क आदींचा वापर करावा.

हे देखील वाचा : Sarkari Yojana 2024: खुशखबर ! या योजने अंतर्गत बारावी पास युवक- युवतींना सरकार देणार महिन्याला ₹ 10 हजार रुपये, जाणून घ्या केव्हा आणि कसे

एकात्मिक कीड व्यवस्थापन Integrated Pest Management: प्रत्येकाने एकात्मिक कीड व्यवस्थापन पद्धतीचा अवलंब करायला हवा. एकात्मिक कीड व्यवस्थापनामध्ये वातावरणाशी समन्वय साधून किडींची संस्था आर्थिक नुकसान पातळी खाली ठेवली जाते.

हे देखील वाचा : Sarkari Yojana : रेशन कार्डला करा आधार लिंक नाही तर मिळणार नाही रेशन

 

Types Of Organic Farming: निंबोळी अर्काची फवारणी करा

शेतातील पिकांवर औषधांची फवारणी करताना घरगुती उपाय वापरावेत. त्याचबरोबर निंबाचा अर्क एकत्र करून पिकांवर फवारणी करावी.

 

Types Of Organic Farming: शुद्ध पाण्याचा वापर करा

कोणत्याही पिकावर फवारणी करण्यासाठी शुद्ध पाण्याचा वापर करावा. पाण्याचे पीएच 5.50 6.50 असेल, अशाच पाण्याचा वापर करावा. दूषित पाण्याचा वापर केल्यास रिझल्ट भेटत नाही.

अशीच माहिती जनून घेण्यासाठी आमच्या WhatsApp ग्रुप ला जॉइन करा, WhatsApp ग्रुप जॉइन करण्यासाठी खालील WhatsApp बटन ला क्लिक करा.

 


PostImage

Avinash Kumare

June 28, 2024

PostImage

Sarkari Yojana 2024: खुशखबर ! या योजने अंतर्गत बारावी पास युवक- युवतींना सरकार देणार महिन्याला ₹ 10 हजार रुपये, जाणून घ्या केव्हा आणि कसे


Sarkari Yojana 2024: मुंबई राज्याचा 2024-25 चा अर्थसंकल्प शुक्रवारी विधिमंडळात सादर होणार असून, छोट्या व मध्यम शेतकऱ्यांच्या कृषी पंपांसाठी मोफत वीज, महिलांना वर्षाकाठी तीन गॅस सिलिंडर मोफत, आदी लोकप्रिय घोषणा होण्याची शक्यता आहे, अशी माहिती खात्रीलायक सूत्रांनी दिली. मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे हे या निर्णयांसाठी आग्रही होते.

मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना Mukhyamantri Annapurna Yojana राबविली जाईल, त्यानुसार दरवर्षी भरलेले तीन गॅस सिलिंडर महिलांना मोफत दिले जातील. दोन कोटी कुटुंबांना या योजनेचा फायदा होईल. मुख्यमंत्री बळीराजा वीज सवलत योजनेंतर्गत 7.5 अश्वशक्तीपर्यंतच्या कृषी पंपांना मोफत वीज दिली जाईल. अल्पभूधारक व मध्यम भूधारक 44 लाख शेतकऱ्यांना या योजनेचा फायदा होईल. 8.5 लाख शेतकऱ्यांना मोफत सौर पंप दिले जातील.

हे देखील वाचा : Sarkari Yojana : रेशन कार्डला करा आधार लिंक नाही तर मिळणार नाही रेशन

 

Sarkari Yojana 2024: महिलांना महिन्याकाठी 1,500 रुपये

मुख्यमंत्री Ladli Behna Yojana मध्य प्रदेशच्या धर्तीवर जाहीर केली जाईल. या योजनेंतर्गत मध्य प्रदेशात 1 कोटी 37 लाख महिलांच्या थेट बँक खात्यात महिन्याकाठी 1,250 रुपये जमा केले जातात. महाराष्ट्रात हा लाभ वय वर्षे 24 ते 60 पर्यंतच्या 3 कोटी 50 लाख महिलांना दिला जाणार आहे. महिन्याकाठी 1,500 रुपये दिले जातील. महिलांना आर्थिक, सामाजिक हातभार देण्यासाठी आणि त्यांचे जीवनमान सुधारण्यासाठीची ही योजना असेल.

हे देखील वाचा : किसान का उत्पादन होगा डब्बल, मिलेंगे ३ करोड़ लोगों को पक्के मकान: प्रधानमंत्री का किसानों और गरीबों के लिए पहला बड़ा फैसला

 

Sarkari Yojana 2024: युवा वर्गासाठी काय?

मुख्यमंत्री युवा कौशल्य योजनेंतर्गत Mukhyamantri Yuva Kaushal Yojana बारावी पास युवक- युवतींना मासिक 7 हजार रुपये, ITI डिप्लोमाधारकांना मासिक 8 हजार रुपये, तर पदवीधरांना मासिक 10 हजार रुपये किमान सहा महिन्यांसाठी देण्यात येतील. 18 ते 29 वर्षे वयोगटाला त्याचा लाभ मिळेल.

 

अर्थमंत्र्यांच्या पोतडीत अजून काय?

अर्थमंत्री अजित पवार Finance Minister Ajit Pawar या अर्थसंकल्पात आणखी काय घोषणा करणार याबाबत उत्सुकता आहे. लोकसभा Lok Sabha elections निवडणुकीत महायुतीला बसलेला फटका, चार महिन्यांनंतरच्या विधानसभा निवडणुकीत assembly elections. विजय मिळविण्याचे आव्हान या पार्श्वभूमीवर हे 'इलेक्शन बजेट' ठरू शकेल.

प्रामुख्याने महिला व बालविकास, ग्रामविकास, women and child development सामाजिक न्याय, आदिवासी विकास, आरोग्य या क्षेत्रांना झुकते माप दिले जाईल. बहुजन समाज व बारा बलुतेदारांच्या कल्याणासाठी भरीव आर्थिक तरतूद केली जाईल. सरकारी कर्मचाऱ्यांच्या मागण्या, अंगणवाडी सेविकांचे प्रश्न, विविध सामाजिक महामंडळांसाठीचा निधी याबाबत काही तरतुदी असतील.

अशीच माहिती जनून घेण्यासाठी आमच्या WhatsApp ग्रुप ला जॉइन करा, WhatsApp ग्रुप जॉइन करण्यासाठी खालील WhatsApp बटन ला क्लिक करा.

 


PostImage

Avinash Kumare

June 24, 2024

PostImage

WhatsApp: WhatsApp पर किसी ने किया है ब्लॉक, पता करने के लिए ये 5 बेस्ट टिप्स


WhatsApp : दोस्तों WhatsApp का इस्तेमाल दुनियाभर में करोड़ों लोग करते हैं। इस मैसेजिंग प्लेटफॉर्म पर किसी को भी ब्लॉक करने का ऑपशन भी मिलती है। लेकिन अगर आपको कोई ब्लॉक कर दे तो इस बारे में आपको कैसे पता चलेगा की किसीने आपको ब्लॉक किया है. तो दोस्तों आज हम आपको इसी के बारे में बताने वाले है तो आइए जानते है की अगर कोई हमको WhatsApp पर ब्लॉक करता है तो उसका पता कैसे लगाए।

हम यहां इसी के बारे में बताने जा रहे हैं। कुछ ऐसे टिप्स जिनकी मदद से आप पता लगा पाएंगे कि आपको किसने ब्लॉक किया है।

ये भी पढे : Sarkari Yojana : रेशन कार्डला करा आधार लिंक नाही तर मिळणार नाही रेशन

 

WhatsApp किसने किया है ब्लॉक?

अगर कोई आपको  WhatsApp पर ब्लॉक किया है और आपको इसके बारे में पता करना तो कुछ ऐसी चीजें हैं जो बताती है कि सामने वाले व्यक्ति  ने आपको ब्लॉक कर दिया है।

ये भी पढे : Sarkari Yojana 2024: 15 जून पासून सर्व शाळांमध्ये लागू होणार हा नवीन नियम

प्रोफाइल पिकचर न दिखना : अगर किसी व्यक्ति की डीपी नहीं दिख रही है तो इसका मतलब हो सकता है कि आपको ब्लॉक किया गया हो। इसके अलावा उसका status भी नहीं दिखता है।

Message का रीड न होना: अपने जो मैसेज भेजा है उस पर डबल चेक निशान आता है और अगर मैसेज सीन कर लिया जाता है तो वह ब्लू हो जाता है। लेकिन, अगर ऐसा कुछ नहीं हो रहा है तो समझ लीजिए कि सामने वाले व्यक्ति ने आपको ब्लॉक कर दिया है।

Last seen न दिखना : अगर सामने वाले व्यक्ति का आपको लास्ट सीन नहीं दिख रहा है तो इससे भी समझ लीजिए की आपको ब्लॉक किया गया है। हां लेकिन कई बार सामने वाला व्यक्तिलास्ट सीन बंद करके भी रख सकता है।

WhatsApp group: आपके contact लिस्ट में शामिल किसी व्यक्ति को अगर आप ग्रुप में एड नहीं कर पा रहे हैं तो समझ लीजिए की आपको सामने वाले ने आपको WhatsApp पर ब्लॉक किया है।

Call न लगना: ब्लॉक- ब्लॉक के बारे में पता करने का सबसे आसान तरीका ये है कि आप व्यक्ति को सीधा WhatsApp पर कॉल करें। अगर कॉल नहीं लग रहा है तो समझ लीजिए की आपको ब्लॉक किया गया है।

ऐसे ही जानकारी जानने के लिए हमारे WhatsApp group को जॉइन करें जॉइन करने के लिए निचे WhatsApp बटन पर क्लिक करे.

 


PostImage

Avinash Kumare

June 20, 2024

PostImage

Sarkari Yojana : रेशन कार्डला करा आधार लिंक नाही तर मिळणार नाही रेशन 


Sarkari Yojana : गरीब तसेच गरजू लाभार्थ्यांचे पोट भरावे ते उपाशी राहू नये यासाठी शासनाकडून रेशन कार्डवर धान्य वितरण केले जाते. मात्र, आता सरकारने रेशन कार्ड आणि आधार कार्ड लिंक करणे अनिवार्य केले आहे. कार्ड लिंक करण्याची मुदत प्रथम 30 जूनपर्यंत होती. मात्र, आता सप्टेंबर महिन्यापर्यंत मुदतवाढ देण्यात आली आहे. त्यामुळे ज्या कुटुंबांनी अद्याप कार्ड लिंक केले नसतील, त्यांना सरकारने शेवटची संधी दिली आहे. मात्र, त्यानंतरही आधार लिंक केले नसेल तर धान्य मिळणे बंद होणार आहे.

हे देखील वाचा : Sarkari Yojana 2024: 15 जून पासून सर्व शाळांमध्ये लागू होणार हा नवीन नियम

राष्ट्रीय अन्न सुरक्षा कायद्यानुसार, National Food Security रेशन कार्डला आधार कार्ड लिंक करणे अनिवार्य करण्यात आले आहे. पात्र कुटुंबांना अनुदानित दरात धान्य खरेदीचा लाभ मिळण्यासाठी रेशन कार्ड महत्त्वाचे असते. यापूर्वी सरकारने PAN card आणि Aadhaar card लिंक करणे अनिवार्य केले होते. रेशन कार्ड आणि आधार कार्ड हे दोन्ही सरकारद्वारे जारी केलेले महत्त्वाचे दस्तऐवज आहेत. ज्या कुटुंबांनी त्यांचे रेशन कार्ड आणि आधार कार्ड लिंक केलेले नसेल, त्यांना आता शेवटची संधी देण्यात आली आहे.

 

हे देखील वाचा : किसान का उत्पादन होगा डब्बल, मिलेंगे ३ करोड़ लोगों को पक्के मकान: प्रधानमंत्री का किसानों और गरीबों के लिए पहला बड़ा फैसला

आधार कार्ड लिंक करण्याची यापूर्वीची अंतिम तारीख 30 जून होती. तपशील भरल्यानंतर दिलेल्या मोबाइल नंबरवर एक OTP येणार आहे. ओटीपी कन्फर्म झाल्यानंतर रेशन कार्ड तुमच्या आधार कार्डशी लिंक करण्यात येणार आहे.

हे देखील वाचा : Success Story: एक करोड़ की नौकरी छोड़ी, सिर्फ एक लाखों से शुरू किया बिजनेस, आज है करोड़ों का टर्नओवर

 

Sarkari Yojana रेशन दुकानात करता येते E-KYC

रेशन कार्डला आधार लिंक करण्यासाठी लाभार्थ्यांना अनेक पर्याय उपलब्ध आहेत. यामध्ये रेशन दुकानात जाऊनही कार्ड लिंक करता येतो. यासाठी ज्या दुकानातून धान्य मिळते, त्या दुकानात जाऊन आधार लिंक करता येणार आहे.

 

Sarkari Yojana आधार, रेशन कार्ड कोणी जोडणे आवश्यक?

अंत्योदय अन्न योजनेअंतर्गत जे लाभ घेत आहेत, त्यांच्यासाठी Reshan card आणि Aadhaar card लिंक करणे आवश्यक आहे. दोन्ही कार्ड लिंक केल्याने एकापेक्षा जास्त शिधापत्रिका घेण्यापासून रोखता येईल आणि गरिबांची ओळख पटवून रेशन सहज पोहोचवता येणार आहे. यासाठी शासनाने आधार लिंक करणे अनिवार्य केले आहे.

 

Sarkari Yojana पेन्शनधारक, नोकरीवाल्यांवरही होणार कारवाई

शासकीय पेन्शन घेत असेल, नोकरीवर असेल किंवा वार्षिक उत्पन्न अधिक असेल, असे नागरिक जर रेशन कार्डवर धान्य उचलत असतील तर अशा लाभार्थ्यांवर आता थेट कारवाई होणार आहे. त्यामुळे अशा नागरिकांनी घेत असलेला लाभ सोडणेच हिताचे ठरणार आहे.

अशाच सरकारी योजना संबंधित माहिती जनून घेण्यासाठी आमच्या WhatsApp ग्रुप ला जॉइन करा, ग्रुप जॉइन करण्यासाठी खालील WhatsApp बटन ला क्लिक करा.

 


PostImage

Avinash Kumare

June 17, 2024

PostImage

Success Story: एक करोड़ की नौकरी छोड़ी, सिर्फ एक लाखों से शुरू किया बिजनेस, आज है करोड़ों का टर्नओवर


Success story of Aarushi Agarwal: सक्सेस होने के लिए कई बार हमें बड़े रिस्क उठाने पड़ते हैं। गाज़ियाबाद की आरुषी अग्रवाल ने एक करोड़ रुपये की नौकरी का ऑफर ठुकरा दिया और सिर्फ एक लाख रुपये की पूंजी से अपना बिज़नेस शुरू किया। उनकी मेहनत और लगन से उनका छोटा सा स्टार्टअप आज करोड़ों का हो गया है।


आरुषी अग्रवाल का करोड़पति का सफर (Success story of Aarushi Agarwal)

Success Story  Arushi Agrawal

नई दिल्ली: हमारे देश के कई युवाओं का सपना होता है कि वे करोड़पति बनें। कई सालों की पढ़ाई और मेहनत के बाद अगर किसी को एक करोड़ रुपये का पैकेज मिलता है, तो वह अपने सपनों को पूरा हुआ मानता है। लेकिन गाज़ियाबाद की आरुषी अग्रवाल का सपना कुछ अलग था। अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद आरुषी को दो बड़ी कंपनियों से एक करोड़ रुपये के पैकेज के साथ नौकरी का ऑफर मिला। लेकिन आरुषी ने करोड़ों रुपये की नौकरी करने के बजाय एक लाख रुपये की पूंजी से खुद का बिज़नेस शुरू करने का फैसला किया। शुरुआत में दोस्तों और परिवार ने उन्हें पागल समझा, लेकिन चार सालों में उनकी सफलता ने सबको गलत साबित कर दिया।

Success Story: गन्ने का जूस बेचने वाले कैसे बना MBW का मालिक, जानिए सक्सेस स्टोरी


रिस्क और सफलता (Success story of Aarushi Agarwal)

सफलता प्राप्त करने के लिए जोखिम उठाने वाले बहुत कम लोग होते हैं। जितना बड़ा रिस्क, उतनी बड़ी सफलता की संभावना। जीवन में संघर्ष के माध्यम से ऊंचाइयों को छूने वाले लोग बहुत कम होते हैं, और आरुषी ने भी ऐसा ही कर दिखाया। गाज़ियाबाद के नेहरू नगर की निवासी 28 वर्षीय आरुषी ने सिर्फ एक लाख रुपये से अपना व्यवसाय शुरू किया। इसके लिए उन्होंने एक करोड़ रुपये की नौकरी का ऑफर ठुकरा दिया था। आज, उनका स्टार्टअप TalentDecrypt का वैल्यू कई गुना बढ़ गया है और आरुषी अब करोड़पति लोगों में गिनी जाती हैं। लेकिन इस सफलता तक पहुंचने के लिए उन्होंने बहुत मेहनत की।


शिक्षा और करियर की शुरुआत (Success story of Aarushi Agarwal)

मूल रूप से मुरादाबाद की रहने वाली आरुषी ने नोएडा के एक निजी कॉलेज से बीटेक और एमटेक की पढ़ाई की। 2018 के अंत में, उन्होंने कोडिंग सीखकर सॉफ्टवेयर विकसित करना शुरू किया और अपनी मेहनत के दम पर डेढ़ साल में TalentDecrypt सॉफ्टवेयर तैयार किया। इस सॉफ्टवेयर के बल पर आरुषी ने करोड़पति का टैग हासिल किया और उन्हें भारत सरकार के नीति आयोग से देश की 75 महिला उद्यमियों में से एक के रूप में सम्मानित किया गया।


सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट और बिजनेस की शुरुआत (Success story of Aarushi Agarwal)

आरुषी ने आईआईटी दिल्ली से सॉफ्टवेयर डेवलपर का प्रशिक्षण प्राप्त किया और वहीं से इंटर्नशिप पूरी की। इसके बाद उन्हें दो कंपनियों से एक करोड़ रुपये के जॉब ऑफर मिले, लेकिन उन्होंने नौकरी करने के बजाय खुद का काम शुरू करने का फैसला किया। जब उनका प्लान आगे बढ़ रहा था, तब कोरोना ने दस्तक दी।


कोरोना काल में अवसर (Success story of Aarushi Agarwal)

2020 में जब पूरी दुनिया कोरोना से जूझ रही थी, तब आरुषी ने इस संकट में भी अपने लिए अवसर खोजा। उन्होंने जोखिम उठाया और केवल एक लाख रुपये की पूंजी से TalentDecrypt नामक सॉफ्टवेयर बनाया, जो युवाओं को नौकरियां खोजने में मदद करता है। इस सॉफ्टवेयर की मदद से कोडिंग सीखने वाले युवाओं के टैलेंट के अनुसार नौकरी खोजी जाती हैं।


TalentDecrypt की सफलता (Success story of Aarushi Agarwal)

आरुषी की TalentDecrypt कंपनी युवाओं को मनपसंद नौकरी दिलाने में मदद करती है। वर्तमान में अमेरिका, जर्मनी, सिंगापुर, यूएई, दक्षिण अफ्रीका, श्रीलंका, नेपाल आदि देशों की 380 कंपनियां आरुषी की कंपनी की सेवाओं का लाभ उठा रही हैं। इस कंपनी में युवाओं को हैकाथॉन के माध्यम से वर्चुअल स्किल टेस्ट देने होते हैं। अब तक, TalentDecrypt के माध्यम से सैकड़ों युवाओं को रोजगार मिल चुका है।


Moral of Success Story

आरुषी अग्रवाल की कहानी हर उस व्यक्ति के लिए प्रेरणा है, जो अपने सपनों को पूरा करने के लिए जोखिम उठाने से नहीं कतराते। उनकी मेहनत, समर्पण और दृढ़ता ने उन्हें वह मुकाम दिलाया, जो आज कई लोग पाने की चाहत रखते हैं। उनकी यह सफलता न सिर्फ उनके लिए बल्कि उन सभी युवाओं के लिए भी एक मिसाल है, जो अपने सपनों को हकीकत में बदलना चाहते हैं।


FAQs

  • आरुषी अग्रवाल कौन हैं?
    आरुषी अग्रवाल गाज़ियाबाद की एक युवा उद्यमी हैं, जिन्होंने एक करोड़ रुपये की नौकरी ठुकराकर एक लाख रुपये से अपना स्टार्टअप TalentDecrypt शुरू किया।
  • TalentDecrypt सॉफ्टवेयर क्या है?
    TalentDecrypt सॉफ्टवेयर युवाओं को उनकी वास्तविक कौशल के अनुसार नौकरी ढूंढने में मदद करता है।
  • आरुषी की कंपनी किन देशों में अपनी सेवाएं प्रदान कर रही है?
    आरुषी की कंपनी अमेरिका, जर्मनी, सिंगापुर, यूएई, दक्षिण अफ्रीका, श्रीलंका, नेपाल आदि देशों में अपनी सेवाएं प्रदान कर रही है।
  • आरुषी को कौन से पुरस्कार से सम्मानित किया गया है?
    आरुषी को भारत सरकार के नीति आयोग द्वारा देश की 75 महिला उद्यमियों में से एक के रूप में सम्मानित किया गया है।


PostImage

Avinash Kumare

June 14, 2024

PostImage

Sarkari Yojana 2024: 15 जून पासून सर्व शाळांमध्ये लागू होणार हा नवीन नियम


Sarkari Yojana 2024: मित्रांनो राज्यातील वर्ग पहिली ते आठवीच्या मुलांसाठी राज्य सरकार ने एक नवीन नियम लागू केला आहे. तो म्हणजे 'एक राज्य एक गणवेश' ही योजना राबविण्यात येत आहे.

हे देखील वाचा : किसान का उत्पादन होगा डब्बल, मिलेंगे ३ करोड़ लोगों को पक्के मकान: प्रधानमंत्री का किसानों और गरीबों के लिए पहला बड़ा फैसला

Sarkari Yojana 2024: दरवर्षी 15 जून पासून शाळा सुरु करण्याचे आदेशही शासनाने जारी केले आहेत. त्यामुळे शाळा सुरु होण्याच्या पूर्वीच सर्व पालक मुलांसाठी नवीन गणवेश, नोटबुक आणि काही शैक्षणिक वस्तू खरेदी करतात. पण जर का तुम्ही यावर्षी सुद्धा मुलांसाठी नवीन गणवेश खरेदी करण्याचा विचार करत असाल तर, हा लेख तुमच्या साठी आहे.

हे देखील वाचा : Sarkari job 2024 : हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड के अंतर्गत निकली इतने पदों की भर्ती

 

Sarkari Yojana 2024: नवीन गणवेश महिला बचत गटांमार्फत उपलब्द होणार आहे. 

एक राज्य एक गणवेश ही योजना वर्ग पहिली ते आठवी पर्यंत शिकणाऱ्या मुला मुलींना फ्री दिली जाते. 2024-2025  या शैक्षणिक वर्षापाससून सरकार मुलांना फ्री गणवेश योजनेचा लाभ देत आहे. यासाठी महिला बचत गटांमार्फत एकाच कलर चे 2 गणवेश राज्यातील सर्व शाळांमध्ये उपलब्द करून दिला जाईल. आणि हा गणवेश वेगवेगळ्या वर्गाच्या मुलांनसाठी वेगळा राहील.

अशीच सरकारी योजना संबंधित माहिती जनून घेण्यासाठी आमच्या WhatsApp ग्रुप ला जॉइन करा, ग्रुप जॉइन करण्यासाठी खालील WhatsApp बटन ला क्लिक करा.

 

 


PostImage

Avinash Kumare

June 12, 2024

PostImage

Sarkari job 2024 : हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड के अंतर्गत निकली इतने पदों की भर्ती


Sarkari job 2024 : दोस्तों नौकरी ढूंढने वालों के लिए खुशी की खबर आई है. हिंदुस्तान पेट्रोलियम कार्पोरेशन लिमिटेड में 247 पदों की भर्ती निकले है। इस भर्ती की आधिकारिक विज्ञापन जारी किया गया है।

इस भर्ती के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया ऑनलाइन होने वाली है। इस भर्ती के लिए उम्र कितनी होनी चाहिए? और शैक्षणिक योग्यता कितनी होनी चाहिए? और आवेदन किस प्रकार करना है । इसके बारे में पूरी जानकारी हम बताने जा रहे है तो दोस्तों चलिए जानते है।

 

 

कुल पद : 247 पद
पदों के नाम : इंजीनियर अधिकारी और प्रबंधक 
आवेदन करने के लिए उम्र : 25 से 45 वर्ष तक
शैक्षणिक योग्यता : aducation /qualification 
आवेदन करने प्रक्रिया : ऑनलाइन 
आवेदन करने की आखरी तारीख : 30 जून 2024

 

आधिकारिक जानकारी के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें

https://www.hindustanpetroleum.com/

तो दोस्तों आपको भी ये जानकारी पसंद आई हो तो आपके दोस्तों को जरुर शेयर करें ताकि उनको भी इस जानकारी का लाभ मिल सके।

ऐसे ही जानकारी जानने के लिए हमारे WhatsApp group को जॉइन करें जॉइन करने के लिए निचे WhatsApp बटन पर क्लिक करे.

 


PostImage

Avinash Kumare

June 11, 2024

PostImage

किसान का उत्पादन होगा डब्बल, मिलेंगे ३ करोड़ लोगों को पक्के मकान: प्रधानमंत्री का किसानों और गरीबों के लिए पहला बड़ा फैसला


Modi 3.0: नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री के रूप में तीसरी बार शपथ लेने के बाद तुरंत एक्शन मोड में आ गए हैं। अपने पहले ही दिन, उन्होंने किसानों और गरीबों के लिए कई महत्वपूर्ण फैसले लिए, जिसमें किसान सम्मान निधि की 17वीं किस्त जारी करने और प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत तीन करोड़ नए मकान उपलब्ध कराने की मंजूरी शामिल है।

 

किसान सम्मान निधि का 17वां हफ्ता जारी (17th installment of Kisan Samman Nidhi released)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी नई कार्यकाल की शुरुआत किसान सम्मान निधि (Kisan Samman Nidhi) की 17वीं किस्त जारी करने के आदेश से की। इस योजना के तहत 9.3 करोड़ किसानों को 2,000 रुपये प्रति हफ्ता उनके बैंक खातों में जमा किए जाएंगे। इस निर्णय से लगभग 20 हजार करोड़ रुपये सीधे किसानों के खातों में ट्रांसफर होंगे। हस्ताक्षर करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, "हम किसानों का जीवन आसान बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।"

ये भी पढ़े: PM Vishwakarma Yojana 2024 : पीएम विश्वकर्मा योजना के लिए आवेदन कैसे करें, लाभ लेने तक जानिए पूरी जानकारी

 

तीन करोड़ गरीबों के लिए पक्के मकान

शाम को आयोजित कैबिनेट बैठक में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बजट बढ़ाने और तीन करोड़ गरीबों को पक्के मकान देने के फैसले को मंजूरी दी गई। यह मोदी सरकार 3.0 की पहली कैबिनेट बैठक थी। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, "हमारी सरकार किसानों और गरीबों के कल्याण के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है।"

ये भी पढ़े: 8th Pay Commission: 8वे वेतन को लेकर आई बड़ी खबर, सरकारी कर्मचारियों की बढ़ सकती है इतनी सैलरी

 

किसानों के उत्पादन को दोगुना करने का आश्वासन

प्रधानमंत्री मोदी ने किसानों को उनके उत्पादन को दोगुना करने का आश्वासन दिया है। उन्होंने कहा कि सरकार लगातार रबी और खरीफ फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ा रही है। किसान सम्मान निधि के तहत हर साल किसानों को दो बार 2,000 रुपये की सहायता दी जाती है। केंद्र सरकार इस योजना पर 6 हजार करोड़ रुपये खर्च करती है।

इन निर्णयों के साथ, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने तीसरे कार्यकाल की शुरुआत मजबूत और स्पष्ट दिशा के साथ की है, जो कि किसानों और गरीबों के कल्याण के प्रति उनकी प्रतिबद्धता को दर्शाता है।

ये भी पढ़ें: Sarkari Yojana : कठिन समय में परिवार को मदद कर सकती है ये 3 सरकारी योजना


PostImage

Avinash Kumare

June 8, 2024

PostImage

Birsa Munda : बिरसा मुंडा के शहादत दिवस पर जानिए उनकी शहादत की कहानी


Birsa Munda : बिरसा मुंडा भारत के इतिहास में एक ऐसे वीर योद्धा थे जिन्होंने अपने जीवन के केवल 25 वर्षों में ही अपने नाम का इतिहास लिख दिया। उनका जन्म 15 नवंबर 1875 को उलिहातु गांव Ulihatu Jharklhand में हुआ था। बिरसा मुंडा Birsa Munda ने अपने जीवन को अपने समुदाय और अपने लोगों के अधिकारों के लिए समर्पित कर दिया था।

Birsa Munda  बिरसा मुंडा के शहादत दिवस पर जानिए उनकी शहादत की कहानी

 

Birsa Munda: बिरसा मुंडा का प्रभाव और संघर्ष

बिरसा मुंडा का प्रभाव और उनका संघर्ष उनके अपने मुंडा समुदाय Munda Samuday के बीच ही नहीं, बल्कि पूरे आदिवासी Adivasi समाज के बीच भी देखा जा सकता है। उन्होंने ब्रिटिश शासन British Shasan के विरुद्ध अपने लोगों को जागृत किया और एक सबल संगठन का नेतृत्व किया। उनका उद्देश्य सिर्फ अपने समुदाय के हकों की रक्षा करना ही नहीं था, बल्कि ब्रिटिश हुकूमत के जुल्म और अत्याचारों का मुकाबला करना भी था।

Birsa Munda  बिरसा मुंडा के शहादत दिवस पर जानिए उनकी शहादत की कहानी

 

 Birsa Munda: बिरसा मुंडा का आंदोलन

बिरसा मुंडा ने 'उलगुलान' Ulgulan (विद्रोह) की शुरुआत की जो मुंडा समुदाय और अन्य आदिवासी समुदाय के लिए एक बड़ा Birsa Munda ka Andolan आंदोलन बन गया। उन्होंने अपने समुदाय को ब्रिटिश हुकूमत British Shasan के विरुद्ध एकजुट किया और अपने परम्परागत हकों की लड़ाई लड़ी। बिरसा ने अपने लोगों को अपनी भूमि की समझ दी और अपनी सांस्कृतिक विरासत को कैसे बचाया जा सकता है। उन्होंने अंग्रेजों के द्वार लगाये गये करो और उनके अत्याचारों के विरुद्ध भारी रोष व्यक्त किया।

Birsa Munda  बिरसा मुंडा के शहादत दिवस पर जानिए उनकी शहादत की कहानी

 

  Birsa Munda: बिरसा मुंडा की शहादत और विरासत

बिरसा मुंडा को 3 मार्च 1900 को ब्रिटिश सरकार British Shasan ने गिरफ़्तार कर लिया और 9 जून 1900 को रांची की जेल में उनकी मृत्यु हो गई। उनकी मृत्यु के कारण आज भी संदेश है, लेकिन अधिकांश इतिहास मानते हैं कि उन्हें जहर दिया गया था। बिरसा मुंडा की शहादत भारत के इतिहास में एक कीमत है जो हमें याद दिलाती है कि किस प्रकार उन्होंने अपने जीवन को अपने लोगों के अधिकारों के लिए बलिदान दिया। आज भी, उनकी विरासत को लोग याद करते हैं और उनका नाम आदिवासी समुदायों के बीच सम्मान और गौरव से लिया जाता है।

Birsa Munda  बिरसा मुंडा के शहादत दिवस पर जानिए उनकी शहादत की कहानी

 

 Birsa Munda: शहादत दिवस: एक यादगार दिन

बिरसा मुंडा का शहादत दिवस Shahadat Diwas हर वर्ष 9 जून को मनाया जाता है, जो हमें उनकी वीरता, बलिदान और उनके उद्योगों के प्रति समर्पण की याद दिलाता है। ये दिन हमें प्रेरणा देते हैं कि हम भी अपने हकों और स्वाभिमान के लिए लड़ें और अपने देश और समाज के हित के लिए काम करें।

 

  Birsa Munda: बिरसा मुंडा की अमर कहानी

बिरसा मुंडा की कहानी एक अमर कहानी है, जो यह प्रमाण करती है कि एक व्यक्ति भी अपने संकल्पों और आदर्शों के साथ इतिहास को बदल सकता है। उनका जीवन और शहादत हमेशा हमें प्रेरणा देते रहेंगे।

 


PostImage

Avinash Kumare

June 7, 2024

PostImage

Lok sabha Election Results: मोदी सरकार की हुई वापसी, 2024 में कौन संभालेगा कौन सा मंत्रालय? जानिए पूरी रिपोर्ट


Lok sabha Election Results: आज से 10 साल पहले, जब भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने सत्ता में वापसी की थी, तब किसी को यह अंदाजा नहीं था कि कैबिनेट में कौन शामिल होगा। शपथ ग्रहण के एक घंटे पहले तक नेताओं को भी यह पता नहीं होता था कि उन्हें मंत्री पद मिलेगा या नहीं। मोदी जी के करीबी ही इस बात से अवगत होते थे। 2019 की जीत के बाद भी यही स्थिति रही, जहां शपथ ग्रहण तक सस्पेंस बना रहा।


Lok sabha Election में बदल गया पूरा समीकरण 

हालांकि, आज 10 साल बाद स्थिति पूरी तरह बदल गई है। अब भाजपा के सहयोगी दल न केवल अपने मंत्रालय की मांग कर रहे हैं, बल्कि यह भी चुनने का अधिकार जता रहे हैं कि उन्हें कौन सा मंत्रालय चाहिए। 240 सीटों के साथ भाजपा ने सरकार बनाने की तैयारी कर ली है, और इसके सहयोगी दल भी अपने-अपने मंत्रालयों की मांग के साथ तैयार हैं।


संभावित कैबिनेट मंत्रियों की सूची

नरेंद्र मोदी 9 जून को प्रधानमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं। इस बार भाजपा और उसके सहयोगी दलों के नेताओं को लेकर चर्चाएं हो रही हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, नितीश कुमार और चंद्रबाबू नायडू ने अपनी मांग पत्र सौंप दिए हैं। नितीश कुमार ने बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने के साथ 12 सांसदों के हिसाब से तीन मंत्रालय मांगे हैं, जिसमें रेल, कृषि और वित्त मंत्रालय शामिल हैं।

Read More : राज्याचे उपमुख्मंत्री देवेंद्र फडणवीस यांचा राजीनामा ! योग्य की अयोग्य?


सहयोगी दलों की मांग

सहयोगी दलों की मांगें भी साफ तौर पर सामने आ चुकी हैं:

  • टीडीपी: तीन कैबिनेट मंत्री, एक राज्य मंत्री, और लोकसभा अध्यक्ष का पद।
  • एलजेपी (रामविलास पासवान): एक कैबिनेट मंत्री और एक राज्य मंत्री का पद।
  • शिवसेना (शिंदे गुट): एक कैबिनेट और दो राज्य मंत्री पद।
  • जेडीएस: एक कैबिनेट मंत्री पद।


संभावित मंत्रालयों की सूची

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, टीडीपी ने वित्त मंत्रालय, जल शक्ति मंत्रालय, ग्रामीण विकास, आवास और शहरी मामले, बंदरगाह, सड़क परिवहन और राजमार्ग जैसे मंत्रालयों की मांग की है। दूसरी तरफ, भाजपा अपने पास गृह मंत्रालय, वित्त मंत्रालय, रेल मंत्रालय, विदेश मंत्रालय, कानून मंत्रालय, रक्षा मंत्रालय, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय रखना चाहती है।

शपथ ग्रहण के दिन प्रधानमंत्री मोदी के साथ कौन-कौन शपथ लेगा, यह देखने वाली बात होगी। इस बार की कैबिनेट में कौन-कौन शामिल होगा और कौन-कौन से मंत्रालय किसे मिलेंगे, इसे लेकर चर्चाएं जोरों पर हैं। 

आपके हिसाब से किन-किन नेताओं को मंत्री बनना चाहिए? कमेंट सेक्शन में अपनी राय जरूर साझा करें।

WhatsApp Group
Join Now


PostImage

Avinash Kumare

June 5, 2024

PostImage

PM Modi Resignation: नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री पद के साथ-साथ केंद्रीय मंत्रिमंडल से भी इस्तीफा दे दिया


नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस्तीफा दे दिया। लोकसभा चुनाव 2024 के नतीजे आने के बाद एक बड़ी राजनीतिक घटना है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति भवन जाकर प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने नरेंद्र मोदी का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है और उन्हें नई सरकार बनने तक प्रधानमंत्री पद की जिम्मेदारी निभाने को कहा है

 

केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक

बुधवार सुबह प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में पीएमओ कार्यालय में केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक हुई। इस बैठक में 17वीं लोकसभा को भंग करने की सिफारिश की गई। राष्ट्रपति भवन ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर यह जानकारी जारी की है। इस घटना के बाद राजनीतिक गलियारों में चर्चा शुरू हो गई है।


नरेंद्र मोदी तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की ले सकते शपथ

चर्चा के मुताबिक, 8 जून को एनडीए की नई सरकार बन सकती है और नरेंद्र मोदी तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं। राष्ट्रपति भवन ने घोषणा की है कि शपथ ग्रहण समारोह की तैयारियों के लिए 5 से 9 जून तक आम जनता के लिए बंद रहेगा।


नरेंद्र मोदी का इस्तीफा

लोकसभा चुनाव में भाजपा ने 240 सीटें जीती हैं। हालांकि, सरकार बनाने के लिए भाजपा को एनडीए के समर्थन की जरूरत है। भाजपा ने 2019 में 303 और 2014 में 282 सीटें जीती थीं। ऐसा लग रहा है कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एनडीए तीसरी बार सरकार बनाने जा रही है।

लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद राजधानी दिल्ली में राजनीतिक गतिविधियां तेज हो गई हैं। एनडीए और विपक्षी भारत गठबंधन की बैठकें लगातार चल रही हैं। चर्चा का केंद्र नई सरकार के गठन पर है।

सभी की निगाहें इस बात पर टिकी हैं कि नरेंद्र मोदी के इस्तीफे के बाद देश में राजनीतिक हालात किस तरह बदलते हैं। नई सरकार के गठन के लिए अगले कुछ दिन काफी अहम होने वाले हैं।

अधिक जानकारी और ताजा अपडेट के लिए कृपया हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें।

WhatsApp Group
Join Now


PostImage

Avinash Kumare

June 4, 2024

PostImage

Loksabha Election 2024: लोकसभा निवडणुकीचे निकाल पहा live


Loksabha Election 2024: लोकसभा निवडणुकीचे निकाल नुकतेच जाहीर झाले आहेत आणि भाजप-नेतृत्वाखालील एनडीएने निर्णायक बहुमत मिळवले आहे. प्रारंभिक ट्रेंडनुसार, एनडीएने 272 पेक्षा अधिक जागांवर आघाडी घेतली आहे, तर विरोधी पक्षांचे इंडिया गट 137 जागांवर आघाडीवर आहे. भाजप स्वतःहाच 187 जागांवर आघाडीवर आहे, आणि त्यांनी सुरत मधील एक जागा बिनविरोध जिंकली आहे.

 

राज्यवार निकालांचा आढावा

उत्तर प्रदेश:
उत्तर प्रदेशातील वाराणसी मतदारसंघात पंतप्रधान नरेंद्र मोदी कॉंग्रेसच्या अजय राय यांच्या विरोधात आघाडीवर आहेत. याशिवाय, उत्तर प्रदेशातील इतर प्रमुख जागांवर देखील भाजपचा दबदबा आहे.

महाराष्ट्र:
महाराष्ट्रात नितीन गडकरी, पियुष गोयल आणि सुप्रिया सुळे यांनी त्यांच्या मतदारसंघात आघाडी घेतली आहे. नितीन गडकरी नागपूरमधून, पियुष गोयल मुंबई उत्तरमधून, आणि सुप्रिया सुळे बारामतीमधून आघाडीवर आहेत.

राजस्थान:
राजस्थानमध्ये, भाजपचे गजेंद्र शेखावत जोधपुर मतदारसंघात आघाडीवर आहेत, तर कॉंग्रेसचे ब्रिजेंद्र सिंह ओला झुंझुनू मतदारसंघात आघाडीवर आहेत.

 

निवडणुकीतील प्रमुख घडामोडी

सुरत: भाजपचे उमेदवार मुकेश दलाल यांनी सुरत मतदारसंघात बिनविरोध विजय मिळवला आहे.
महत्वाचे उमेदवार: पंतप्रधान नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शहा, आणि संरक्षणमंत्री राजनाथ सिंह हे सर्व भाजपच्या तिकिटावर निवडणूक लढवत आहेत. कॉंग्रेसचे राहुल गांधी, राष्ट्रवादी काँग्रेसच्या सुप्रिया सुळे, आणि समाजवादी पक्षाचे अखिलेश यादव हे प्रमुख विरोधी पक्षांचे उमेदवार आहेत.

 

लाईव्ह निकालांसाठी खालील विडिओ पहा:

या निवडणुकीत देशभरातील मतदारांनी उत्साहाने भाग घेतला, आणि विविध ठिकाणी मतमोजणीच्या केंद्रांवर मोठी गर्दी दिसली. निकालानंतर एनडीए सरकारचा तिसरा कार्यकाळ सुरू होण्याची शक्यता आहे. देशभरातील प्रमुख जागांवरील निकालांचे निरीक्षण करण्यासाठी लाईव्ह अपडेट्सचा लाभ घ्या आणि इतरांना सुद्धा शेयर करा.