ProfileImage
35

Post

5

Followers

0

Following

PostImage

RK News 24

July 16, 2024

PostImage

Sarkari Yojana 2024: या योजने अंतर्गत मुलींना मिळणार मोफत उच्च शिक्षण, जाणून घ्या अटी आणि नियम


Sarkari Yojana 2024: मुलींना मोफत उच्च शिक्षणाचा निर्णय राज्य सरकारने जारी केला आहे. पालकांचे 8 लाखांपर्यंत वार्षिक उत्पन्न असलेल्या आणि राज्यातील वाणिज्यबरोबरच कला, विज्ञान, वैद्यकीय, अभियांत्रिकी, फार्मसी आदी व्यावसायिक अभ्यासक्रमांमध्ये उच्च शिक्षण घेणाऱ्या सर्व मुलींच्या शुल्काचा 100% टक्के परतावा राज्य सरकार करणार आहे. 2024-25 या शैक्षणिक वर्षापासून ही योजना लागू केली आहे. नागपूर जिल्ह्यातील मोठ्या संख्येने विद्यार्थिनींना याचा फायदा होणार आहे.

 

Sarkari Yojana 2024:  इथे मिळेल लाभ 

ज्या संस्था व्यावसायिक अभ्यासक्रमासाठीच आहेत, अशा शासकीय महाविद्यालय, श अनुदानित अशासकीय महाविद्यालय, अंशत: अनुदानित व कायम विना अनुदानित, तंत्रनिकेतन विद्यापीठ व सार्वजनिक विद्यापीठांतर्गत येणाऱ्या उपकेंद्रातील अभ्यासक्रमामधील मुलींना लाभ मिळेल.

हे देखील वाचा : Sarkari Yojana : रेशनकार्डधारकांना आता मिळणार 5 लाखाचे मोफत उपचार

 

Sarkari Yojana 2024: यासाठी मिळेल मोफत प्रवेश

उच्च शिक्षण विभागांतर्गत तंत्रशिक्षण, वैद्यकीय शिक्षण, औषधी द्रव्य विभाग, कृषी व पशुसंवर्धन, दुग्ध व्यवसाय, मत्स्यव्यवसाय असे अभ्यासक्रम असलेल्या शिक्षण संस्थांमध्ये केंद्रीभूत प्रवेश प्रक्रियेत मुलींना मोफत प्रवेश मिळेल.

 

 

Sarkari Yojana 2024: वार्षिक उत्पन्न 8 लाख किंवा त्यापेक्षा कमी

हे देखील वाचा : Ladki Bahin Yojna: लाडकी बहीण योजनेचा फॉर्म भरा घरच्या घरी फक्त एका मिनिटात

ज्या विद्यार्थिनीच्या पालकांचे वार्षिक उत्पन्न 8 लाख किंवा त्यापेक्षा कमी आहे. अशा व्यावसायिक उच्च शिक्षण घेणाऱ्या मुलींना मोफत शिक्षणाचा लाभ दिला जाणार आहे. मोफत शिक्षणाचा लाभ घेण्यासाठी 8 लाख किंवा त्यापेक्षा कमी उत्पन्नाचा दाखला गरजेचा आहे.

 

Sarkari Yojana 2024: यापूर्वी होती 50% टक्के सवलत

यापूर्वी विद्यार्थिनींना शासनाच्या विविध सवलतीच्या माध्यमातून केवळ 50% टक्केच सवलत देण्यात येत होती. आता मात्र 100% टक्के सवलत देण्याचा निर्णय. घेण्यात आला आहे. त्यामुळे मुलींच्या उच्च शिक्षणाचा मार्ग मोकळा झाला आहे.

हे देखील वाचा : Mudra yojana 2024 : जिले में ₹2,494 करोड़ के कर्ज वितरित

 

Sarkari Yojana 2024: आर्थिकदृष्ट्या कमजोर वर्गातील विद्यार्थिनीची होणार स्वप्नपूर्ती

मुलींचे उच्च शिक्षणाचे प्रमाण वाढविण्याच्या अनुषंगाने राज्य शासनाने मुलींना मोफत उच्च शिक्षण देण्याचा निर्णय घेतला आहे. त्यामुळे व्यावसायिक अभ्यासक्रमासाठी आर्थिकदृष्ट्या दुर्बल घटक, सामाजिक व शैक्षणिकदृष्ट्या मागास प्रवर्गातील मुलींना लाभ मिळणार आहे, अशा विद्यार्थिनींची उच्चशिक्षणाची स्वप्नपूर्ती होणार असल्याची भावना शिक्षणतज्ज्ञांनी व्यक्त केली.

अशाच सरकारी योजना संबंधित माहिती जनून घेण्यासाठी आमच्या WhatsApp ग्रुप ला जॉइन करा, ग्रुप जॉइन करण्यासाठी खालील WhatsApp बटन ला क्लिक करा.

 


PostImage

RK News 24

July 14, 2024

PostImage

Sarkari Yojana 2024 : 15 जुलाई से खाते में 4000 रुपये जमा, नई सूची देखें Namo Shetkari Yojana


Namo Shetkari Yojana : महाराष्ट्र में किसानों के लिए अच्छी खबर है! Namo Shetkari Maha Sanman Nidhi Yojana की चौथी किस्त जल्द ही वितरित की जाएगी। इस योजना से राज्य के छोटी जोत वाले किसानों को बड़ी आर्थिक राहत मिल रही है। आइये आज इस योजना के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त करते हैं। 

इसे भी पढे  :- Mudra yojana 2024 : जिले में ₹2,494 करोड़ के कर्ज वितरित लघु उद्यमियों को बिना गारंटी के ₹10 लाख का लोन

 

योजना की पृष्ठभूमि और महत्व

महाराष्ट्र सरकार ने 2023 में Namo Shetkari Maha Sanman Nidhi Yojana शुरू की। यह योजना केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की तर्ज पर है. इस योजना के तहत, महाराष्ट्र सरकार राज्य के पात्र किसानों को प्रति वर्ष ₹6,000 की वित्तीय सहायता प्रदान करती है। यह राशि तीन किश्तों में, प्रत्येक चार-चार महीने के अंतराल पर, वितरित की जाती है। यह योजना महाराष्ट्र के किसानों को दोहरा लाभ प्रदान करती है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से प्राप्त ₹6,000 के साथ, नमो शेतकारी महा सम्मान निधि योजना से अतिरिक्त ₹6,000 प्राप्त होते हैं। यानी एक साल में किसानों के हाथ में कुल 12,000 रुपये की मदद पहुंचती है. यह राशि किसानों को उनकी खेती की जरूरतों को पूरा करने में मदद करती है। 

इसे भी पढे :- Ladki Bahin Yojna: लाडकी बहीण योजनेचा फॉर्म भरा घरच्या घरी फक्त एका मिनिटात

 

चौथी किस्त के बारे में जानकारी

अब तक इस योजना की तीन किस्तें सफलतापूर्वक वितरित की जा चुकी हैं। अब किसानों को चौथी किस्त का बेसब्री से इंतजार है | कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह चौथी किस्त 15 जुलाई 2024 तक आने की संभावना है | इस किस्त के वितरण से किसानों को एक बार फिर आर्थिक मदद मिलेगी | 

इसे भी पढे :- 1 जुलाई से बंद हो जाएगा इन नागरिकों का मुफ्त राशन, राशन कार्ड धारक अभी करें ये 2 काम

 

पात्रता

नमो शेतकारी महा सम्मान निधि योजना का लाभ उठाने के लिए

1. आवेदक महाराष्ट्र राज्य का मूल निवासी किसान होना चाहिए।

2. प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का पात्र लाभार्थी होना चाहिए। 

3. आवेदक के पास कृषि भूमि होनी चाहिए। 

4. आवेदक के परिवार में कोई करदाता नहीं होना चाहिए।

5. आवेदक के परिवार में कोई भी सरकारी नौकरी में नहीं होना चाहिए।

इसे भी पढे :- Sarkari Yojana : रेशनकार्डधारकांना आता मिळणार 5 लाखाचे मोफत उपचार

 

आवश्यक दस्तावेज

योजना के लिए आवेदन करते समय निम्नलिखित दस्तावेज जमा करने होंगे:

• आधार कार्ड 

• निवास प्रमाण पत्र 

• आय प्रमाण पत्र

• जमीन के दस्तावेज

• पीएम किसान रजिस्ट्रेशन नंबर 

• बैंक के खाते का विवरण 

• पासपोर्ट के आकार की तस्वीर

• मोबाइल नंबर

 

योजना के लाभ

Namo Shetkari Maha Sanman Nidhi Yojana  किसानों के लिए कई लाभ लाती है:

  1. वित्तीय सहायता: किसानों को उनकी दैनिक जरूरतों और खेती के खर्चों के लिए वित्तीय सहायता मिलती है।
  2. दोहरा लाभ: केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं से संयुक्त लाभ मिलता है।
  3. नियमित आय: एक वर्ष में तीन किस्तों में प्राप्त राशि किसानों को नियमित आय का स्रोत प्रदान करती है।
  4. ऋण राहत सहायता: यह वित्तीय सहायता किसानों को उनके ऋण के बोझ को कम करने में मदद कर सकती है |

नमो शेतकारी महा सम्मान निधि योजना महाराष्ट्र सरकार की एक महत्वाकांक्षी योजना है। यह योजना राज्य में किसानों की आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने में मदद कर रही है। चौथी किश्त के वितरण से उम्मीद है कि अधिक किसान इस योजना का लाभ उठाएंगे और अपनी वित्तीय स्थिति में सुधार करेंगे। 

यह योजना न केवल किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान करती है, बल्कि उनका आत्मविश्वास भी बढ़ाती है और उन्हें कृषि क्षेत्र में अधिक निवेश करने के लिए प्रोत्साहित करती है। परिणामस्वरूप कृषि उत्पादन बढ़ता है और ग्रामीण अर्थव्यवस्था मजबूत होती है।

पात्र किसानों को इस अवसर का लाभ उठाना चाहिए और योजना के लिए पंजीकरण कराना चाहिए। यह योजना महाराष्ट्र के किसानों को अधिक सक्षम और आत्मनिर्भर बनाएगी, जो राज्य के कृषि क्षेत्र के विकास के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।


PostImage

RK News 24

July 14, 2024

PostImage

घरेलू Gas Cylinder हुआ सस्ता, चेक करें आज के नए गैस सिलेंडर रेट।


Gas Cylinder Rate 

गैस सिलेंडर दरें भारत सरकार ने घरेलू गैस सिलेंडर दरें कम करने का फैसला किया है। ये फैसला देश की महिलाओं के लिए खास तौर पर अहम होगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने 8 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर इस फैसले की घोषणा की। 

 

दर में कटौती का इतिहास

पिछले साल अगस्त 2023 में सरकार ने घरेलू गैस सिलेंडर की कीमत में 2 रुपये की कटौती की थी. अब फिर से 100 रुपये कम कर दिए गए हैं. इन दोनों कटौतियों से कुल 300 रुपये की बचत होगी। 

 

Cylinder New Rate 

इस फैसले से अब आम नागरिकों को घरेलू गैस सिलेंडर 802.50 रुपये में मिलेगा | इस दर पर मिलेगा 14.2 किलो का घरेलू गैस सिलेंडर |

 

महाराष्ट्र के प्रमुख शहरों में दरें

नासिक, पुणे और कोल्हापुर: 806 रुपये

मुंबई: 802 रु

छत्रपति संभाजीनगर (औरंगाबाद): 811 रुपये

नांदेड़: 828 रु

नागपुर: 854 रु

अमरावती: 836 रुपये

 

निर्णय का महत्व

ये फैसला खासतौर पर महिलाओं के लिए अहम है | क्योंकि ज्यादातर घरों में खाना बनाने की जिम्मेदारी महिलाओं पर होती है। गैस सिलेंडर की बढ़ती कीमत के कारण परिवार की आर्थिक तंगी बढ़ गई थी। इस फैसले से महिलाओं को आर्थिक राहत मिलेगी | 

 

सरकारी नीति

मोदी सरकार ने यह फैसला लेते समय आम नागरिकों की जरूरतों को ध्यान में रखा है | चूंकि गैस सिलेंडर दैनिक उपयोग के लिए आवश्यक है, इसलिए इसकी बढ़ती दरें कई लोगों के लिए अप्रभावी हैं। इस फैसले से गैस सिलेंडर और सस्ता हो गया है |

 

भविष्य के परिणाम

इस फैसले से न केवल महिलाओं को बल्कि पूरे परिवार को फायदा होगा। गैस सिलेंडर की कीमत में कमी से परिवार के कुल खर्च को बचाने में मदद मिलेगी। इसके अलावा, स्वच्छ ईंधन के उपयोग को प्रोत्साहित किया जाएगा, जिससे पर्यावरण की रक्षा में मदद मिलेगी। मोदी सरकार का यह फैसला आम नागरिकों, खासकर महिलाओं के लिए बड़ी राहत देने वाला है। गैस सिलेंडर की कीमत में इस कटौती से परिवार के दैनिक खर्च पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। इसे महिला सशक्तिकरण की दिशा में एक अहम कदम माना जा रहा है. इस निर्णय से महिलाओं को वित्तीय स्वतंत्रता हासिल करने और उनके जीवन स्तर में सुधार करने में मदद मिलने की उम्मीद है।


PostImage

RK News 24

July 12, 2024

PostImage

Chanakya Niti: हे 3 प्रकारचे लोक सोबत असतील तर लागणार तम्ही भिकेला


Chanakya Niti: आचार्य चाणक्य यांनी चाणक्य नीतीमध्ये काही अतंत्य महत्त्वाच्या आणि फायद्याच्या गोष्टी सांगितल्या आहेत. त्यांच्या शिकवणींमुळे आपले जीवन अधिक सुलभ आणि यशस्वी होऊ शकते. चला तर मग जाणून घेऊया आचार्य चाणक्य यांनी सांगितलेले  काही महत्त्वाच्या गोष्टी.

आचार्य चाणक्य Acharya Chanakya यांनी खूप महत्वाच्या आणि फायद्याच्या गोष्टी सांगितल्या आहेत. आचार्य चाणक्य हे भारतातील मुख्य अर्थशास्त्रज्ञ त्यासोबतच तत्त्वज्ञ सुद्धा होते. तर मित्रांनो आपल्याला जर आयुष्यात सक्सेस वायच असेल तर आपण नेमक्या कोण कोणत्या लोकांपासून दूर राहिला पाहिजे, याबद्दल आचार्य चाणक्य यांनी काही महत्वाच्या गोष्टी सांगितले आहे. खार तर आपल्या आजूबाजुला असे काही लोक आहेत जे सापा पेक्षा जास्त धोकादायक असतात.

हे देखील वाचा : Sarkari Yojana : रेशनकार्डधारकांना आता मिळणार 5 लाखाचे मोफत उपचार

 

Chanakya Niti: चतुर आणि लालची लोकांपासून रहा दूर

आचार्य चाणक्य म्हणतात की, आपल्या आजूबाजूला अनेक वेळा लालची आणि चतुर लोक असतात. हे लोक आपल्या प्रगतीला आव्हान देऊ शकतात. अशा लोकांपासून सावध रहा, कारण हे तुमचे नुकसान करण्यास नेहमी तत्पर असतात.

हे देखील वाचा : Mudra yojana 2024 : जिले में ₹2,494 करोड़ के कर्ज वितरित

 

 

Chanakya Niti: स्वार्थी लोकांपासून रहा सावधान

स्वार्थी लोक हे आपल्या फायद्यासाठी काहीही करू शकतात. आचार्य चाणक्य म्हणतात की, अशा लोकांवर विश्वास ठेवू नका. ते तुमच्या फायद्यासाठी तुम्हाला फसवू शकतात. त्यांच्या जवळपास असणेच टाळा आणि आपल्या जीवनात शांती राखा.

हे देखील वाचा : Ladki Bahin Yojna: लाडकी बहीण योजनेचा फॉर्म भरा घरच्या घरी फक्त एका मिनिटात

 

Chanakya Niti: रागीट स्वभावाचे लोक

राग हा माणसाचा सर्वात मोठा शत्रू आहे. आचार्य चाणक्य सांगतात की, रागीट स्वभावाचे लोक आपले आणि इतरांचे नुकसान करू शकतात. रागाच्या वेळी माणूस बरोबर काय आणि चूक काय हे विसरतो. त्यामुळे, अशा लोकांपासून दूर राहा आणि स्वत:चे नुकसान टाळा.

हे देखील वाचा : Sarkari Yojana 2024: महाराष्ट्रात सुरु होणार लाडकी बहीण योजना,महिन्याला मिळणार ₹ 1,500 रुपये

 

Chanakya Niti: पाठीमागे बोलणाऱ्या लोकांपासून रहा दूर

आचार्य चाणक्य म्हणतात की, पाठीमागे बोलणाऱ्या लोकांपासून सावध रहा. हे लोक तुमच्या पाठीमागे तुम्हाला वाईट दर्शवतात. अशा लोकांपासून दूर राहा आणि त्यांना आपल्या जीवनात स्थान देऊ नका.

 


PostImage

RK News 24

July 9, 2024

PostImage

What's app facebook और Instagram पर दिखाई देने वाला यह नीला पैरा क्या है?


व्हाटसएप, फेसबुक और इंस्टाग्राम पर दिखाई देने वाला यह नीला पैरा क्या है?

पिछले कुछ दिनों में इन प्लेटफॉर्म पर एक नीला घेरा देखा गया है, लेकिन बहुत से लोग नहीं जानते कि इसका क्या मतलब है। दरअसल, यह नीला घेरा मेटा द्वारा लॉन्च किए गए स्मार्ट असिस्टेंट मेटा एआई को दर्शाता है। इस एआई असिस्टेंट का इस्तेमाल भारत में यूजर्स मुफ्त में कर सकते हैं और यह इस्तेमाल के लिए उपलब्ध है। मेटा एआई को दो महीने पहले लॉन्च किया गया था, लेकिन यह कुछ ही देशों में उपलब्ध था। अब इसे भारत में भी उपलब्ध करा दिया गया है।

मेटा एआई एक बहुत ही जात एआई मॉडल है जो सवालों के जवाब दे सकता है, कंटेंट बना सकता है और भाषाओं का अनुवाद भी कर सकता है। यह ईमेल लिखने और कटेंट बनाने जैसे कामों में भी मदद कर सकता है। यह एआई मॉडल LLAMA 3 मॉडल पर आधारित है, जो दुनिया के सबसे ऊरत भाषा मॉडल में से एक है। मेटा एआई की

सबसे अच्छी बात यह है कि इसका इस्तेमाल सीधे फेसबुक और इंस्टाग्राम फोड से किया जा सकता है। उदाहरण के लिए, अगर आप फेसबुक पर कोई पोस्ट देखते हैं और उसके बारे में और जानना चाहते है, तो आप सीधे पोस्ट से मेटा एआई से पूछ सकते हैं। इसके अतिरिक्त, मेटा एआई में इमेजिन नामक एक सुविधा है, जो आपके द्वारा लिखे गए टेक्स्ट के आधार पर चित्र बना सकती है। इसका मतलब है कि आप अपनी पसंदीद शैली में चित्र बना सकते हैं और उन्हें एनिमेट भी कर सकते हैं। कुल मिलाकर, यह नीला वृत्त एक बड़ा आचर्य है जिसने फेसबुक और इंस्टाग्राम को एक नए स्तर पर पहुंचा दिय है। 

Meta Ai Available Now What's app 

Meta Ai Available Now Facebook 

Meta Ai Available Now Instagram 


PostImage

RK News 24

July 9, 2024

PostImage

Mudra yojana 2024 : जिले में ₹2,494 करोड़ के कर्ज वितरित


लघु उद्यमियों को बिना गारंटी के ₹10 लाख का लोन

 

किसी भी व्यवसाय को शुरु करने के लिए लाखों रु. की पूंजी लगती है. जिनके पास पैसे हैं, वे फटाफट रकम लगाकर व्यवसाय शुरु कर सकते हैं | लेकिन आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को कर्ज लेने के अलावा कोई विकल्प नहीं होता है | ऐसे लोगों के लिए केंद्र सरकार ने खासतौर पर कर्ज की व्यवस्था की है | सड़क पर फल, सब्जी बेचने वाले हों या कोई भी छोटा व्यवसाय करने वाले, उन सभी के लिए केंद्र सरकार मुद्रा कर्ज योजना के तहत बिना किसी गारंटी के 10 लाख रु. तक कर्ज देती है | 

वर्तमान में इस योजना में 10 लाख रु. तक कर्ज मिलता है | इसे 20 लाख रु. करने का आश्वासन मिला है | इस योजना में अब तक लाखों लोगों ने कर्ज लेकर व्यवसाय शुरु किया है | शिशु, किशोर एवं तरुण, इन 3 श्रेणियों में कर्ज दिया जाता है | नागपुर जिले में कितने व्यवसायियों ने कर्ज डुबाया, इसका डाटा नागपुर जिले के अग्रणी बैंक के पास उपलब्ध नहीं है|

 

मुद्रा योजना में 3 प्रकार के कर्ज

 

■ शिशु कर्ज : शिशु कर्ज श्रेणी में 50 हजार रु. तक कर्ज दिया जाता है |

 

■ किशोर कर्ज : किशोर कर्ज श्रेणी में 50 हजार से 5 लाख रु. तक कर्ज दिया जाता है |

 

■ तरुण कर्ज : तरुण कर्ज श्रेणी में 5 से 10 लाख रु. तक कर्ज दिया जाता है |

 

डूबत कर्ज के आंकड़े उपलब्ध नहीं

नागपुर जिले में तीनों श्रेणियों में 4,05,677 लोगों को राष्ट्रीयकृत, निजी एवं फाइनेंस बैंकों के जरिए 2,494.38 करोड़ रु. का कर्ज वितरित किया गया है | नागपुर जिले के अग्रणी बैंक के पास डूबत कर्ज के आंकड़े और नाम उपलब्ध नहीं है |

 

लाखों व्यवसायी नियमित लौटा रहे रकम

मुद्रा योजना में 10 लाख रु. तक कर्ज बिना किसी गारंटी के दिया जाता है | इसमें अब तक लाखों लोगों ने कर्ज लेकर व्यवसाय शुरु किया है | कर्ज लेने के लिए आवेदन के साथ कौनसा व्यवसाय करना है, यह बताना पड़ता है | अब तक लाखों व्यवसायियों ने नियमित रुप से कर्ज की रकम लौटाई है |

 

तीन श्रेणियों में कर्ज का वितरण

देश के मध्यमवर्गीय लोग अपना व्यवसाय शुरु कर सकें, इसके लिए सरकार ने 2015 में यह योजना शुरु की | नागपुर जिले में अब तक शिशु श्रेणी में 2,75,640 लोगों को 891.73 करोड़ रु., किशोर श्रेणी में 1,22,887 लोगों को 1,054.38 करोड़ रु. ओर तरुण श्रेणी में 54,826 लोगों को 548.28 करोड़ रु. यानी तीनों श्रेणियों में 4,05,677 लोगों को राष्ट्रीयकृत, निजी एवं फाइनेंस बैंकों के जरिए 2,494.38 करोड़ रु. का कर्ज वितरित किया गया है | 

 

किसी भी बैंक से ले सकते हैं कर्ज

लोग किसी भी बैंक में जाकर प्रधानमंत्री मुद्रा योजना का लाभ ले सकते हैं | बैंक विविध ब्याज दर पर कर्ज देती है | आवेदन के साथ दिए गए सभी दस्तावेजों की जांच बैंक द्वारा की जाती है और सभी योग्य पाए जाने पर मुद्रा कार्ड जारी किया जाता है | यह एक प्रकार का डेबिट कार्ड है | 

 

 

Sarkari Yojna 2024 , loan , same day loan , mortgage , personal loan , online loan , pay day loan , car loan , online personal loan , home loan small loan , easy loan , 

how to get loan

How to get loan with low cibil score

how to get loan online

how to get loan on lic policy

how to get loan from google pay

how to get loan without cibil

how to get loan on credit card

how to get loan statement from sbi

how to get loan for new business

Online loan kaise le 

Online loan lene ke liye kya kare 

Mudra loan 

Mudra yojana 

Mudra loan yojana 

mudra loan

mudra loan scheme

mudra loan interest rate

mudra loan apply

mudra loan sbi

mudra loan eligibility

mudra loan details

mudra loan union bank

mudra loan documents

mudra loan for women

mudra loan apply online

mudra loan limit

mudra loan for business


PostImage

RK News 24

July 7, 2024

PostImage

Ladki Bahin Yojna: लाडकी बहीण योजनेचा फॉर्म भरा घरच्या घरी फक्त एका मिनिटात


Ladki Bahin Yojna: मुख्यमंत्री माझी लाडकी बहीण योजना - महायुती सरकारने नुकत्याच सादर केलेल्या अर्थसंकल्पात 'मुख्यमंत्री माझी लाडकी बहीण योजना' घोषित केली होती. या योजनेअंतर्गत कमी उत्पन्न गटातील 21 ते 65 वयोगटाच्या महिलांना महिन्याला 1500 रुपयांची आर्थिक मदत मिळणार आहे. अर्थमंत्री अजित पवार यांनी योजनेची घोषणा केल्यानंतर राज्यभरातील सरकारी कार्यालयामध्ये महिलांची मोठी झुंबड उडाली आहे. मात्र, हा फॉर्म घरच्या घरी ऑनलाईन पद्धतीनेही भरता येईल.

 

मुख्यमंत्री माझी लाडकी बहीण योजनेसाठी पात्रतेची अटी:

  • महाराष्ट्र रहिवासी
  • अविवाहित, विवाहित, विधवा, घटस्फोटित, परित्यक्त्या आणि निराधार महिला
  • लाभार्थी कुटुंबाचे वार्षिक उत्पन्न रु. 2.50 लाखापेक्षा जास्त नसावे
  • वय 21 ते 65 वर्षांच्या दरम्यान असावे

Ladki Bahin Yojna: या योजनेसाठी अपात्र असणारे:

2.50 लाख पेक्षा जास्त उत्पन्न असणारे
कुटुंबातील कोणी Tax भरत असेल तर
कुटुंबातील कोणी सरकारी नोकरी किंवा निवृत्तीवेतन घेत असेल तर
कुटुंबातील सदस्यांकडे 4 चाकी वाहन (ट्रॅक्टर सोडून) असेल तर


मुख्यमंत्री माझी लाडकी बहीण योजनेसाठी आवश्यक कागदपत्रे:

  • आधारकार्ड
  • रेशनकार्ड
  • उत्पन्नाचा दाखला
  • रहिवासी दाखला
  • बँक पासबुक
  • अर्जदाराचा फोटो
  • अधिवास किंवा जन्म प्रमाणपत्र
  • लग्नाचे प्रमाणपत्र
  • अर्जदराचे हमीपत्र

हमीपत्र डाउनलोड करण्यासाठी येथे क्लिक करा

नरीशक्ती दूत हा अॅप डाऊनलोड करण्यासाठी येथे क्लिक करा


मुख्यमंत्री माझी लाडकी बहीण योजनेसाठी अर्ज भरण्याची पद्धत सोपी आहे. खालील चरणांमध्ये हे सांगितले आहे:

1. सर्व प्रथम प्लेस्टोर वर जाऊन नारीशक्ती दूत हा अॅप डाऊनलोड करा:
2. मोबाईल नंबर प्रविष्टकरा आणि टर्म एंड कंडीशन ला एक्सेप्ट करुन लॉगिन करा.
3. प्रोफाइल अपडेट करा : पूर्ण नाव, ईमेल आइडी, जिल्हा, तालुका आणि नारी शक्ती चा प्रकार लिहा आणि सबमिट करा.
4. आवश्यक कागदपत्रे अपलोड करा: अर्जासोबत आवश्यक कागदपत्रे (आधारकार्ड, रेशनकार्ड, उत्पन्नाचा दाखला इ.) अपलोड करा.
5. अर्ज सबमिट करा: सर्व माहिती भरून, कागदपत्रे जोडून अर्ज सबमिट करा.

 

अगदी सोप्या पद्धतीने फ्रॉम भरू शकता यासाठी हा वीडियो बघा या मधे संपूर्ण माहिती दिली आहे

 

FAQ (सर्वाधिक विचारले जाणारे प्रश्न)-

प्रश्न 1: मुख्यमंत्री माझी लाडकी बहीण योजनेसाठी अर्ज कसा भरावा?

उत्तर: अर्ज भरताना, मुख्यमंत्री माझी लाडकी बहीण योजने साठी नरीशक्ती दूत अॅप डाऊनलोड करा, त्यात तुमची सर्व माहिती भरा आणि आवश्यक कागदपत्रे अपलोड करून अर्ज सबमिट करा.

प्रश्न 2: कोणत्या महिलांना मुख्यमंत्री माझी लाडकी बहीण योजनेचा लाभ मिळू शकतो?

उत्तर: महाराष्ट्रातील रहिवासी विवाहित, विधवा, घटस्फोटित, परित्यक्त्या आणि निराधार महिलांना या योजनेचा लाभ मिळू शकतो. योजनेची पात्रता पूर्ण करणाऱ्या महिलांना महिन्याला 1500 रुपये मिळणार आहेत.

प्रश्न 3: योजनेचे अर्ज कुठे आणि कसे भरू शकतो?

उत्तर: योजनेचे अर्ज पोर्टल, मोबाइल अॅप किंवा सेतू सुविधा केंद्राद्वारे ऑनलाईन भरू शकतो. ज्यांना ऑनलाईन अर्ज करता येत नाही त्यांना अंगणवाडी केंद्रात सुविधा मिळेल.

प्रश्न 4: अर्ज करताना कोणती कागदपत्रे आवश्यक आहेत?

उत्तर: अर्ज करताना आधारकार्ड, रेशनकार्ड, उत्पन्नाचा दाखला, रहिवासी दाखला, बँक पासबुक, अर्जदाराचा फोटो, अधिवास किंवा जन्म प्रमाणपत्र आणि लग्नाचे प्रमाणपत्र आवश्यक आहे.

प्रश्न 5: अर्जाच्या अंतिम सबमिशननंतर काय करावे?

उत्तर: अर्जाच्या अंतिम सबमिशननंतर, तुमच्या अर्जाची स्थिती तपासण्यासाठी योजनेच्या अधिकृत पोर्टलवर लॉग इन करा. अर्ज स्वीकृती किंवा अस्वीकृतीसाठी तुम्हाला सूचित केले जाईल.


PostImage

RK News 24

July 2, 2024

PostImage

Suicide Helpline: तणाव, भीतीतून टोकाचा विचार आल्यास या हेल्पलाईन नंबर वर करा कॉल


Suicide Helpline: धकाधकीच्या जीवनशैलीमुळे कित्येकजण मानसिक आजाराचे बळी ठरत आहेत. नैराश्य, चिंता, तणाव व भीतीमुळे आत्महत्येचे विचार बळावत आहेत. भारतात दरवर्षी आत्महत्यांची संख्या 2.5 टक्क्यांनी वाढत आहे. तज्ज्ञांच्या मते, दहशतवादी हल्ल्यांत मृत्युमुखी पडलेल्या व्यक्तींपेक्षा ही संख्या कितीतरी जास्त आहे. यावर वेळीच उपचार घेतल्यास नैराश्य ते आत्महत्या हा प्रवास टाळता येऊ शकतो.

 

Suicide Helpline: काय करायला पाहिजे?

हे देखील वाचा : Sarkari Yojana : रेशनकार्डधारकांना आता मिळणार 5 लाखाचे मोफत उपचार

 

  • आत्महत्येच्या पूर्वीची लक्षणे स्वतःला किंवा जवळच्या व्यक्तीमध्ये दिसून आल्यास मानसोपचारतज्ज्ञाची मदत घेतली पाहिजे.
  • करिअर आणि प्रेम / आकर्षण ह्यामधील गोंधळामधून निर्माण होणारे प्रश्न हे मानसिक अस्वास्थ्य आणि आत्महत्येशी खूप जवळून संबंधित असतात. त्यामुळे याविषयी कुटुंबात मोकळेपणाने बोलण्याचे वातावरण निर्माण करायला हवे.
  • अपयशाला सहजपणे सामोरे जाणारी मानसिकता घडवण्याचे महत्त्वदेखील यानिमित्ताने अधोरेखित होते.
  • आत्महत्या प्रतिबंधक हेल्पलाइन Suicide Helpline '14416' हे देखील आत्महत्या टाळण्यासाठी एक महत्त्वाची मदत ठरु शकते.

हे देखील वाचा : Love Marriage vs Arrange Marriage: पति-पत्नी में ज्यादा झगड़े कब होते है, लव मैरिज के बाद या अरेंज मैरिज के बाद?

 

Suicide Helpline: आत्महत्येची कारणे काय ?

कौटुंबिक कलह, ताणतणाव, विरह, अपयश, अवहेलना, व्यसन, न्यूनगंड, गरिबी व कर्जाचा डोंगर आदी कारणांमुळे आलेल्या नैराश्यातून आत्महत्येचे प्रमाण वाढले आहे.

 

Suicide Helpline: आत्महत्येची पूर्व लक्षणे ओळखा

हे देखील वाचा : Chanakya Niti : शादी के लिए लड़की पसंद करते समय इन बातों का रखें विशेष ध्यान

 

  1. नेहमी उदास राहणे
  2. एकटे राहण्यास प्राधान्य
  3. स्वतःला ओझं समजणे
  4. मनाला असह्य वेदना होणे
  5.  नकारात्मक विचार अधिक येणे
  6.  छोट्या-छोट्या गोष्टींवर चिडचिड
  7. अधिक वा कमी झोप
  8. मरणाच्या गोष्टी करणे
  9. स्वतःला हानी पोहोचविण्याचा
  10. प्रयत्न व्यसनाधिनता

कुटुंब छोटे होत चालले आहे. गरजा वाढत आहेत, त्यामधून मानसिक संघर्ष आणि तणाव निर्माण होत आहे. यामुळे नैराश्य, चिंता व व्यसनाधिनतेचे प्रमाण वाढत आहे. अशांसाठी 'टेलि-मानस हा उपक्रम राबविला जात आहे. मानसिक समस्यांवरील सल्ला व समुपदेशनासाठी प्रादेशिक मनोरुग्णालयात 24 बाय 7 'टेलि-मानस' सेवा सुरु करण्यात आली आहे. Suicide Helpline '14416' या 'टोल फ्री क्रमांकावर निःसंकोचपणे कॉल करा. उपचाराची गरज पडल्यास येथील क्लिनिकल सायकॅट्रिक तज्ज्ञ तुम्हाला मदत करतील.

 


PostImage

RK News 24

July 2, 2024

PostImage

5 जुलै पासून 16 जिल्ह्यातील नागरिकांचे वीज बिल माफ बघा याद्या


वीज बिल माफ

अनेक सरकारी आणि खासगी कार्यालयांना त्यांच्या वीज बिलांच्या व्यवस्थापनात अडचणी येत असल्याचे नुकतेच समोर आले आहे. विविध वीज कनेक्शन आणि त्यांची भिन्न देय तारखा यामुळे, आर्थिक तरतूद असूनही बिले वेळेत भरली जात नाहीत. या समस्येवर उपाय म्हणून महावितरणने एक नवीन ऑनलाइन सुविधा सुरू केली आहे, जी कार्यालयांना त्यांच्या वीज बिलांचे व्यवस्थापन अधिक कार्यक्षमतेने करण्यास मदत करेल.

 

वीज बिल भरण्यातील अडचणी

सध्याच्या व्यवस्थेत, कार्यालयांना पुढील समस्यांना सामोरे जावे लागते:

भिन्न वीज कनेक्शन आणि त्यांच्या वेगवेगळ्या देय तारखा

वेळेत बिल न भरल्यामुळे दंड आणि व्याजाचे भुगतान

अत्यंत प्रसंगी वीज कनेक्शन तोडले जाण्याची शक्यता

या समस्या कार्यालयांना आर्थिक नुकसान आणि कामकाजात अडथळा आणतात. त्यामुळे एक सुलभ आणि एकात्मिक व्यवस्था असण्याची गरज होती.

 

महावितरणची नवीन ऑनलाइन सुविधा

या समस्येवर मात करण्यासाठी, महावितरणने एक नवीन ऑनलाइन सुविधा विकसित केली आहे. या सुविधेची ठळक वैशिष्ट्ये पुढीलप्रमाणे आहेत:

 

ऑनलाइन नोंदणी: कंपन्या किंवा सरकारी विभाग या नवीन सुविधेसाठी ऑनलाइन नोंदणी करू शकतात.

 

एकत्रित माहिती: नोंदणी केल्यानंतर, कार्यालये त्यांच्या सर्व वीज जोडण्यांची माहिती एकाच ठिकाणी पाहू शकतात.

 

बिलांची सविस्तर माहिती: प्रत्येक वीज जोडणीचे बिल आणि त्याची देय तारीख यांची सविस्तर माहिती उपलब्ध होईल.

 

मुख्यालयातून नियंत्रण: कंपन्या किंवा विभागांच्या मुख्यालयातून ही सर्व माहिती सहजपणे मिळवता येईल आणि नियंत्रित करता येईल.

 

या सुविधेचे फायदे

महावितरणच्या या नवीन ऑनलाइन सुविधेमुळे कार्यालयांना अनेक फायदे होणार आहेत:

 

वेळेचे व्यवस्थापन: सर्व बिलांच्या देय तारखांची एकत्रित माहिती असल्याने, कार्यालये त्यांचे वेळापत्रक अधिक चांगल्या प्रकारे नियोजित करू शकतील.

 

आर्थिक नियोजन: विविध वीज बिलांची एकत्रित माहिती असल्याने, कार्यालये त्यांचे आर्थिक नियोजन अधिक चांगल्या प्रकारे करू शकतील.

 

दंड आणि व्याज टाळणे: वेळेत बिल भरल्याने, कार्यालये अतिरिक्त दंड आणि व्याज भरण्यापासून वाचतील.

 

वीज कनेक्शन तोडण्याचा धोका कमी: नियमित बिल भरण्यामुळे वीज कनेक्शन तोडले जाण्याचा धोका कमी होईल.

 

कार्यक्षमता वाढ: वीज बिलांच्या व्यवस्थापनावर कमी वेळ खर्च करावा लागेल, त्यामुळे कर्मचारी इतर महत्त्वाच्या कामांवर लक्ष केंद्रित करू शकतील.

 

भविष्यातील संभाव्य विस्तार

महावितरणची ही नवीन सुविधा सध्या कार्यालयांसाठी उपलब्ध आहे. परंतु भविष्यात या सुविधेचा विस्तार करून ती व्यावसायिक आणि निवासी ग्राहकांसाठीही उपलब्ध करून देण्याची शक्यता आहे. यामुळे सर्व प्रकारच्या वीज ग्राहकांना त्यांच्या बिलांचे व्यवस्थापन सुलभ होईल.

 


PostImage

RK News 24

July 1, 2024

PostImage

(एनएचबी भारती) नेशनल हाउसिंग बैंक में 48 रिक्तियों के लिए भर्ती


एनएचबी भारती 2024। राष्ट्रीय आवास बैंक (एनएचबी) भारत सरकार के स्वामित्व वाली इकाई है। 48 महाप्रबंधक, सहायक महाप्रबंधक, उप प्रबंधक, सहायक प्रबंधक, मुख्य अर्थशास्त्री, वरिष्ठ परियोजना वित्त अधिकारी, परियोजना वित्त अधिकारी, प्रोटोकॉल अधिकारी और एप्लिकेशन डेवलपर पदों के लिए एनएचबी भर्ती 2024 (एनएचबी भारती 2024)

 

कुल :- 48 सीटें 

पोस्ट नं.             पद का नाम पद                               संख्या

1                      जनरल मॅनेजर                                   01

2                     असिस्टंट जनरल मॅनेजर                      01

3                     डेप्युटी मॅनेजर                                    03

4                     असिस्टंट मॅनेजर                                18

5                     चीफ इकोनॉमिस्ट                               01

6                     सिनियर प्रोजेक्ट फायनान्स ऑफिसर    10

7                     प्रोजेक्ट फायनान्स ऑफिसर                12

8                     प्रोटोकॉल ऑफिसर                            01

9                    ॲप्लिकेशन डेवलपर                           01

                                                                    कुल :- 48

 

शैक्षणिक योग्यता

पद संख्या 1: (i) किसी भी विषय में डिग्री (ii) आईसीडब्ल्यूएआई/आईसीएआई/सीएफए/एमबीए (वित्त) (iii) 15 वर्ष का अनुभव

पद संख्या 2: (i) किसी भी विषय में डिग्री (ii) आईसीडब्ल्यूएआई/आईसीएआई/सीएफए/एमबीए (वित्त) (iii) 10 वर्ष का अनुभव

पद संख्या 3: (i) किसी भी विषय में डिग्री (ii) आईसीडब्ल्यूएआई/आईसीएआई/सीएफए/एमबीए (वित्त) (iii) 02 वर्ष का अनुभव

पद संख्या 4: 60% अंकों के साथ किसी भी विषय में डिग्री [एससी/एसटी/पीडब्ल्यूडी: 55% अंक]

पद संख्या 5: (i) आर्थिक अर्थशास्त्र या अर्थमिति में विशेषज्ञता के साथ अर्थशास्त्र में स्नातकोत्तर डिग्री। (iii) 15 वर्ष का अनुभव

पद संख्या 6: (i) किसी भी विषय में डिग्री (ii) आईसीडब्ल्यूएआई/आईसीएआई/सीएफए/एमबीए (वित्त) (iii) 15 वर्ष का अनुभव

पद संख्या 7: (i) किसी भी विषय में डिग्री (ii) आईसीडब्ल्यूएआई/आईसीएआई/सीएफए/एमबीए (वित्त) (iii) 10 वर्ष का अनुभव

पद संख्या 8: (i) किसी भी विषय में स्नातक (ii) उम्मीदवार भारत में RBI/PSB/FI से सेवानिवृत्त अधिकारी होना चाहिए और वरिष्ठ प्रबंधन स्तर पर कार्यरत होना चाहिए। भारत में आरबीआई/पीएसबी/एफआई में न्यूनतम 25 वर्ष का अनुभव, जिसमें से न्यूनतम 05 वर्ष का कार्य अनुभव जनसंपर्क/प्रोटोकॉल कर्तव्यों में होना चाहिए।

पद संख्या 9: (i) बी.ई. (सीएस/आईटी)/बी.टेक। (सीएस/आईटी)/एमसीए/एम.टेक (सीएस/आईटी)/बी.एससी.(सीएस/आईटी)/एम.एससी. (सीएस/आईटी) (iii) 02 वर्ष का अनुभव

 

आयु आवश्यकता:

01 जुलाई 2024 तक, [एससी/एसटी: 05 वर्ष की छूट, ओबीसी: 03 वर्ष की छूट]

पद क्रमांक 1: 62 वर्ष तक

पद संख्या 2: 40 से 55 वर्ष

पद संख्या 3: 32 से 50 वर्ष

 पद संख्या 4: 23 से 32 वर्ष

 पद संख्या 5: 21 से 30 वर्ष

पद संख्या 6: 40 से 59 वर्ष

 पद संख्या 7: 35 से 59 वर्ष

पद संख्या 8: 50 से 62 वर्ष

पद संख्या 9: 23 से 32 वर्ष

 

नौकरी का स्थान :- पूरे भारत में

शुल्क: सामान्य/ओबीसी/ईडब्ल्यूएस: ₹850/- [एससी/एसटी/पीडब्ल्यूडी: ₹175/-]

 महत्वपूर्ण तिथियाँ: ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि: 19 जुलाई 2024 परीक्षा: बाद में सूचित किया जाएगा।


PostImage

RK News 24

July 1, 2024

PostImage

1 जुलाई से बंद हो जाएगा इन नागरिकों का मुफ्त राशन, राशन कार्ड धारक अभी करें ये 2 काम


नागरिकों के लिए यह बहुत महत्वपूर्ण खबर है कि राशन कार्ड अप्रैल 2024 सूची अब उपलब्ध है। जिन नागरिकों ने नए राशन कार्ड के लिए आवेदन किया है या जिनके पास पहले से ही राशन कार्ड है, उनके लिए इस सूची की जांच करना बहुत महत्वपूर्ण है। इस लेख में हम इस सूची का महत्व, इसे अपडेट करने के पीछे के कारण और इसे जांचने के तरीके के बारे में विस्तार से बताएंगे।

 

सूची का महत्व

हर महीने खाद्य एवं राशन मंत्रालय और सरकार लाभार्थियों की सूची अपडेट करते हैं। इस प्रक्रिया के पीछे दो मुख्य उद्देश्य हैं:

1) पात्र नागरिकों के नाम शामिल करना

2) अपात्र व्यक्तियों के नाम सूची से बाहर करना

इस नियमित अपडेट के साथ, सरकार यह सुनिश्चित करती है कि केवल जरूरतमंदों को ही मुफ्त या सब्सिडी वाला खाद्यान्न मिले। सार्वजनिक वितरण प्रणाली की दक्षता और समान वितरण के लिए यह बहुत महत्वपूर्ण है। 

 

राशन कार्ड सूची जांचने की प्रक्रिया

राशन कार्ड सूची अप्रैल 2024 की जांच करने के लिए इन सरल चरणों का पालन करें:

आधिकारिक वेबसाइट पर जाएँ: सबसे पहले खाद्य एवं राशन मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं। सही विकल्प चुनें: वेबसाइट पर “अप्रैल 2024 के लिए राशन कार्डों की सूची” विकल्प पर क्लिक करें। आवश्यक जानकारी भरें: अपना राज्य, जिला, तालुका आदि जैसी आवश्यक जानकारी दर्ज करें। व्यक्तिगत जानकारी दर्ज करें: अपना नाम या राशन कार्ड नंबर दर्ज करें। निम्न को खोजें: “खोज” विकल्प पर क्लिक करें। परिणाम जांचें | यदि आपका नाम सूची में है, तो आपको एक पुष्टिकरण संदेश दिखाई देगा। 

 

सूची जाँचने के लाभ

अद्यतन जानकारी :- नियमित जांच से आपको अपने राशन कार्ड की स्थिति के बारे में अपडेट मिलता रहता है।

त्रुटि सुधार :- यदि सूची में कोई गलती है तो उसे तुरंत पता लगाकर सुधारा जा सकेगा।

योजनाओं के लाभ :- यह सुनिश्चित करके कि आपका नाम सूची में है, आप विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ उठा सकते हैं।

समय बचाने वाला :- ऑनलाइन चेक से राशन की दुकान पर जाकर जानकारी लेने का समय बचता है।

 

महत्वपूर्ण सुझाव

नियमित निरीक्षण :- हर महीने सूची की जांच करना महत्वपूर्ण है क्योंकि इसे नियमित रूप से अपडेट किया जाता है।

जानकारी की सटीकता :- चेक करते समय सभी जानकारी सही-सही भरें। एक छोटी सी गलती भी गलत परिणाम दे सकती है | 

समस्या निवारण :- यदि आपका नाम सूची में नहीं है या कोई त्रुटि पाई जाती है, तो तुरंत संबंधित अधिकारियों से संपर्क करें।

दस्तावेज़ों की तैयारी :- यदि आवश्यक हो तो सुधार के लिए सभी आवश्यक दस्तावेज तैयार रखें।


PostImage

RK News 24

June 28, 2024

PostImage

Sarkari Yojana 2024: महाराष्ट्रात सुरु होणार लाडकी बहीण योजना,महिन्याला मिळणार ₹ 1,500 रुपये


Sarkari Yojana 2024: येणाऱ्या विधानसभेच्या निवडणुका Vidhan Sabha Election डोळ्यासमोर ठेवून राज्य सरकार सर्वसामान्यांना खूश करण्यासाठी काही योजनांची घोषणा करू शकते. Madhya Pradesh सरकारच्या Ladli Bahna Yojana च्या धर्तीवर महाराष्ट्रातही लाडकी बहीण Ladki Bahina Yojana योजनेची घोषणा होऊ शकते. Madhya Pradesh मध्ये हीच योजना गेम चेंजर ठरली होती आणि BJP ला पुन्हा राज्यात सत्ता मिळाली होती.

हे देखील वाचा : कर्मचारियों की सैलरी में बंपर बढ़ोतरी, सरकार ने घोषित किया नया GR अपडेट

महाराष्ट्रामध्ये गुरुवारपासून पावसाळी अधिवेशनाला सुरुवात झालेली आहे. याच अधिवेशनामध्ये सरकार लाडकी बहीण योजना Ladki Bahina Yojana लागू करू शकते. या योजनेच्या माध्यमातून महिन्याला महिलांना 1,500 रुपये दिले जावू शकतात. 21 ते 60 वयोगटातील महिलासाठी लाडकी बहीण योजना Ladki Bahina Yojana राबवली जावू शकते. विशेष म्हणजे Ladki Bahina Yojana ही योजना गरीब महिलासाठी असणार आहे. पिवळं आणि केशरी रेशनकार्ड धारकाना या योजनेचा लाभ होऊ शकतो.

हे देखील वाचा : जिले के 6739 बेघरों को मिलेंगे घर

विधीमंडळाच्या अधिवेशनामध्ये मांडण्यात येणारा अर्थसंकल्प हा विद्यमान सरकारचा शेवटचा अर्थसंकल्प राहणार आहे. त्यामुळे समाजातल्या प्रत्येक व्यक्ती ला खूश ठेवण्याचा सरकार प्रयत्न करत आहे. गेल्या काही वर्षापासून महिलाकेंद्रीत राजकारण सुरु झालंआहे. महिलांचा वाढलेला मतांचा टक्का आपल्याच पक्षाला व्हावा, यासाठी प्रत्येक पक्ष प्रयत्न करताना दिसून येत आहे.

निवडणूक आयोगाच्या आकडेवारीनुसार, नुकत्याच पार पडलेल्या Lok Sabha Elections लोकसभा निवडणुकीमध्ये पुरुष मतदारांचे मतदान 65.78 % टक्के झाले तर महिला मतदाराचे मतदान 65.80 % टक्के झाले. या अनुषंगाने महाराष्ट्र सरकार पावलं उचलत आहे. 2023 मध्ये शिंदे सरकारने लेक लाडकी योजना Lok Sabha Elections सुरु केली होती. आता 'लाडकी बहीण' Ladki Bahina Yojana योजना राज्यात सुरु होऊ शकते.

अशीच माहिती जनून घेण्यासाठी आमच्या WhatsApp ग्रुप ला जॉइन करा, WhatsApp ग्रुप जॉइन करण्यासाठी खालील WhatsApp बटन ला क्लिक करा.

 


PostImage

RK News 24

June 27, 2024

PostImage

कर्मचारियों की सैलरी में बंपर बढ़ोतरी, सरकार ने घोषित किया नया GR अपडेट


New GR Update 

जुलाई का महीना केंद्रीय कर्मचारियों के लिए हमेशा महत्वपूर्ण होता है, लेकिन यह जुलाई उनके लिए खास होने की संभावना है। मोदी सरकार से कई अहम घोषणाओं की उम्मीद की जा रही है, जिसमें महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी और मूल वेतन में भी उल्लेखनीय बढ़ोतरी शामिल है। इन संभावित बदलावों से लाखों केंद्रीय कर्मचारियों की आर्थिक स्थिति में सुधार होने की संभावना है | 

 

महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी की उम्मीद

जनवरी 2024 में केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 4 फीसदी बढ़ाया गया, जिससे उनका कुल महंगाई भत्ता 50 फीसदी हो गया | अब जुलाई महीने में इसमें 4 फीसदी और बढ़ोतरी की संभावना है | इस बढ़ोतरी के बाद कर्मचारियों को 54 फीसदी महंगाई भत्ता मिलने की उम्मीद है |

 

मूल वेतन में भारी बढ़ोतरी

मौजूदा स्थिति में केंद्रीय कर्मचारियों का न्यूनतम मूल वेतन 18,000 रुपये है | लेकिन नई प्रस्तावित योजना के मुताबिक यह सैलरी बढ़कर 26,000 रुपये होने की संभावना है | इस बढ़ोतरी से कर्मचारियों को बड़ा आर्थिक फायदा होगा |

 

सैलरी पर असर

इस संभावित बढ़ोतरी से कर्मचारियों की मासिक आय पर काफी असर पड़ेगा

उदाहरण के लिए: 

50,000 रुपये वेतन वाले कर्मचारी को महंगाई भत्ते में 4 फीसदी बढ़ोतरी से प्रति माह 2,000 रुपये ज्यादा मिलेंगे. यह वार्षिक आधार पर 24,000 रुपये की वृद्धि दर्शाता है। 

70,000 रुपये वेतन वाले कर्मचारी को प्रति माह 2,800 रुपये अतिरिक्त मिलेंगे। 

 

औपचारिक घोषणा का इंतजार है

हालाँकि, इन सभी बदलावों को लेकर अभी तक कोई आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है। माना जा रहा है कि चुनाव के कारण घोषणा में देरी हो रही है। सरकारी सूत्रों के मुताबिक, इस संबंध में फाइल तैयार है और सिर्फ औपचारिक घोषणा का इंतजार है | 

 

नौकरशाही वर्ग की प्रतिक्रिया

इस अपेक्षित बढ़ोतरी को लेकर केंद्रीय कर्मचारियों में उत्साह का माहौल है | कई सालों से कर्मचारी मूल वेतन में बढ़ोतरी की मांग कर रहे हैं | इस संभावित घोषणा से उनकी मांगें जायज होने की संभावना है |

 

राज्य कर्मचारियों पर प्रभाव

केंद्र सरकार के इस फैसले से राज्य सरकारें भी अपने कर्मचारियों की सैलरी बढ़ाने की दिशा में कदम उठा सकती हैं | इसलिए इस फैसले का असर देशभर के कर्मचारियों पर पड़ सकता है |


PostImage

RK News 24

June 27, 2024

PostImage

कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, DA में 55 फीसदी की बढ़ोतरी, इस महीने पगार में होगी DA बढ़ोतरी


डीए बढ़ोतरी केंद्र सरकार के कर्मचारियों के लिए एक अहम और खुशी की खबर आ रही है। संभावना है कि जल्द ही उनका महंगाई भत्ता (DA) फिर से बढ़ जाएगा. यह बढ़ोतरी जुलाई महीने में होने की उम्मीद है, जिसका कर्मचारियों की आर्थिक स्थिति पर सकारात्मक असर पड़ेगा।

 

महंगाई भत्ते का महत्व

केंद्रीय कर्मचारियों के वेतन ढांचे में महंगाई भत्ता एक महत्वपूर्ण घटक है। अन्य महत्वपूर्ण भत्तों में मकान किराया भत्ता और यात्रा भत्ता शामिल हैं। कर्मचारियों का कुल वेतन निर्धारित करने के लिए इन सभी भत्तों को एक साथ जोड़ा जाता है। महंगाई भत्ता विशेष रूप से महत्वपूर्ण है क्योंकि यह कर्मचारियों को बढ़ती लागत से निपटने में मदद करता है।

 

अपेक्षित विकास पैटर्न

केंद्र सरकार हर साल दो बार महंगाई भत्ते में संशोधन करती है- जनवरी और जुलाई महीने में. इस साल जनवरी में बढ़ोतरी के बाद जुलाई में एक और बढ़ोतरी की उम्मीद है. मार्च में आखिरी बढ़ोतरी चार फीसदी की बढ़ोतरी थी, जिससे कुल महंगाई भत्ता 50 फीसदी हो गया था।

उम्मीद है कि आगामी जुलाई में यह भत्ता तीन से पांच फीसदी तक बढ़ जाएगा | अगर पांच फीसदी की बढ़ोतरी होती है तो महंगाई भत्ता 55 फीसदी तक पहुंच सकता है | इस बढ़ोतरी से कर्मचारियों की जेब को काफी राहत मिलेगी |

 

कर्मचारियों पर विकास का प्रभाव

महंगाई भत्ते में इस बढ़ोतरी से केंद्र सरकार के कर्मचारियों के आर्थिक जीवन पर काफी असर पड़ेगा. इस वृद्धि से बढ़ती कीमतों और मुद्रास्फीति के सामने उनकी क्रय शक्ति में सुधार होगा। इसके अलावा इस बढ़ोतरी का असर उनके अन्य भत्तों पर भी पड़ेगा, जो महंगाई भत्ते से जुड़े हैं।

उदाहरण के लिए, मकान किराया भत्ता मूल वेतन और महंगाई भत्ते की कुल राशि का एक प्रतिशत है। इसलिए अगर महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी होगी तो मकान किराया भत्ता भी अपने आप बढ़ जाएगा. यही बात यात्रा भत्ते और अन्य भत्तों पर भी लागू होती है।


PostImage

RK News 24

June 27, 2024

PostImage

जिले के 6739 बेघरों को मिलेंगे घर


पिछड़ेवर्ग के लोग पात्र होंगे

ग्रामीण क्षेत्र में अन्य पिछड़ा वर्ग, विमुक्त जाति व घुमक्कड़ जनजाति एवं विशेष पिछड़ा वर्ग के ग्रामसभा द्वारा चयनित परिवारों को मोदी आवास योजना अंतर्गत घरकुल दिए जाते हैं | राज्य सरकार ने इस योजना को शुरु किया है | इसके तहत नागपुर जिले के लिए वर्ष 2023-24 वित्तीय वर्ष में 6 हजार 739 बेघर परिवारों को घरकुल मंजूर किए गए है | इसमें से 651 से अधिक घरकुल का काम पूरा हो चुका है | 

इसे भी पढे :- https://mykhabar24.com/post/rknews24/MK24post5177

वर्ष 2023-24 में अर्थात इस योजना के प्रथम वर्ष में नागपुर जिले के लिए 6,747 घरकुल का लक्ष्य रखा गया | इसमें से जिला परिषद की जिला ग्रामीण विकास प्रणाली (डीआरडीए) से प्राप्त प्रस्तावों में से विभाग ने 6,739 घरकुल को मंजूरी प्रदान की है | वहीं विभाग के अधिकारियों का कहना है कि 8 घरकुल को मंजूरी देने का काम प्रगतिपथ पर है | इस योजना के तहत पहाड़ी क्षेत्र में 1.30 लाख व अन्य क्षेत्रों में घर बनाने के लिए 1.20 लाख रुपए अनुदान दिया जा रहा है | इसके अलावा जिन लोगों के पास घर के लिए जगह नहीं है, ऐसे 10-10 लोगों का गट बनाकर उन्हें शासकीय जमीन दी जाती है, और यदि जमीन उपलब्ध नहीं हो सकी तो उसे खरीदने के लिए 50 हजार रुपए का अतिरिक्त अनुदान दिया जाता है | साथ ही शौचालय का निर्माणकार्य करने के लिए अतिरिक्त 12 हजार 500 रुपए केंद्र सरकार की ओर से उपलब्ध कराए जाते है | इस योजना से त्र जिले में अब तक मंजूर घरों में से 651 घरकुल के काम पूर्ण हो चुके है |

इसे भी पढे :- https://mykhabar24.com/post/rknews24/MK24post5097

क्या है पात्रता ?

इस योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी महाराष्ट्र राज्य के अन्य पिछड़ा वर्ग से होना चाहिए | लाभार्थी का कम से कम 15 वर्ष तक महाराष्ट्र राज्य का निवासी होना जरूरी है | उसकी वार्षिक उत्पन्न 1 लाख 20 हजार रुपए से अधिक नहीं होनी चाहिए, लाभार्थी का राज्य में स्वयं अथवा परिवार की मालकी का पक्का आवास नहीं होना चाहिए, लाभार्थी के पास खुद की अथवा शासन की तरफ से दी गई जमीन का होना आवश्यक है | अन्यथा उसका खुद का कच्चा घर हो, जिसे वह पक्का निर्माण कर बना सकता है | लाभार्थी परिवार को महाराष्ट्र राज्य में कहीं भी सरकार की किसी भी आवास, गृह कर्ज योजना का लाभ नहीं लिया होना चाहिए, क्योंकि एक बार लाभ लेने के बाद लाभार्थी दोबारा योजना का लाभ उठाने के लिए पात्र नहीं होगा | इतना ही नहीं, इस बात का भी ध्यान रहे कि प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण अंतर्गत स्थायी प्रतीक्षा सूची में भी लाभार्थी का नाम शामिल न हो | 

इसे भी पढे :- rknews24/MK24post5044

योजना के लिए कैसे करें आवेदन

मोदी आवास योजना के लिए ऑफलाइन स्वरूप आवेदन करने की प्रक्रिया है | इसके लिए संबंधित व्यक्ति को ग्रामपंचायत के माध्यम से फॉर्म भरा जा सकता है | इस योजना द्वारा घर बनाने के लिए कितने पैसे मिलते है : मोदी आवास घरकुल योजना द्वारा घर बनाने के लिए एक लाख 20 हजार रुपए मिलते हैं | 

मोदी आवास योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

■ जमीन का सातबारा

 

■ संपत्ति रजिस्टर

 

■ ग्राम पंचायत का जमीन मालिकी प्रमाणपत्र

 

■ आवेदनकर्ता का आधार कार्ड

 

■ राशन कार्ड

 

■ जाति प्रमाणपत्र (कास्ट सर्टिफिकेट)

 

■ मतदान कार्ड

 

■ बिजली बिल

 

■ मनरेगा जॉब कार्ड

 

■ आवेदनकर्ता के बैंक की पासबुक


PostImage

RK News 24

June 25, 2024

PostImage

Ration Card Holders - मोठी बातमी ! या 5 सरकारी योजनांचे लाभ तुम्हाला रेशन कार्डद्वारे मिळणार, जाणून घ्या कसे..?


बीपीएल शिधापत्रिकाधारकांसाठी मोठी योजना

जर तुमच्याकडे बीपीएल शिधापत्रिका असेल किंवा नुकतेच बीपीएल रेशन कार्ड बनवले असेल, तर आम्ही तुम्हाला सांगतो की तुम्हाला पाच मोठ्या योजनांचे लाभ मिळू शकतात. केंद्र सरकार देशातील गरीब कुटुंबांसाठी वेळोवेळी अनेक योजना राबवते. अनेक योजनांचे लाभ प्रामुख्याने बीपीएल शिधापत्रिकेशी जोडलेले आहेत. तुम्हालाही या योजनांचा लाभ मिळवायचा असेल, तर या पोस्टमध्ये आम्ही केंद्र सरकारच्या 5 मोठ्या योजनांचा उल्लेख केला आहे, ज्या तुम्हाला माहित असणे आवश्यक आहे. 

हे देखील वाचा :- https://mykhabar24.com/post/rknews24/MK24post5097

आयुष्मान भारत योजना

ही केंद्र सरकारची योजना आहे ज्या अंतर्गत आयुष्मान कार्डद्वारे सर्व बीपीएल कुटुंबांना वार्षिक 5 लाख रुपयांचे मोफत उपचार दिले जातात. जर तुमच्याकडे बीपीएल शिधापत्रिका असेल तर तुम्हाला या योजनेचा लाभ नक्कीच मिळू शकतो. जर तुम्ही नुकतेच बीपीएल रेशन कार्ड बनवले असेल, तर तुम्ही आयुष्मान भारत योजनेसाठी अर्ज करू शकता आणि तुमचे नाव आयुष्मान भारत लाभार्थी यादीत समाविष्ट करू शकता.

पीएम आवास योजना

केंद्र सरकारच्या मोठ्या योजनांपैकी एक म्हणजे प्रधानमंत्री आवास योजना. या योजनेअंतर्गत पात्र कुटुंबांना घरे बांधण्यासाठी 1 लाख 20 हजार रुपयांची मदत दिली जाते. अलीकडेच मोदी सरकारने या योजनेद्वारे गरीब कुटुंबांना 3 कोटी नवीन घरे देण्याची घोषणा केली आहे. जर तुमच्याकडे बीपीएल शिधापत्रिका असेल आणि कायमस्वरूपी घर नसेल तर तुम्ही या योजनेचा लाभ घेऊ शकता.

हे देखील वाचा :- https://mykhabar24.com/post/rknews24/MK24post5177

पीएम उज्ज्वला योजना

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजनेअंतर्गत बीपीएल कुटुंबांना मोफत गॅस सिलिंडर दिले जातात. पीएम उज्ज्वला योजनेंतर्गत, लाभार्थी महिलांना गॅस रिफिल करण्यासाठी सबसिडी सहाय्य देखील दिले जाते. सध्या पीएम उज्ज्वला 3.0 अंतर्गत या योजनेअंतर्गत नवीन अर्ज सुरू करण्यात आले आहेत. जर तुम्ही बीपीएल कुटुंब असाल आणि अद्याप या योजनेअंतर्गत गॅस कनेक्शन घेतले नसेल, तर तुम्ही अर्ज करू शकता.

पीएम विश्वकर्मा योजना

मोदी सरकारने अलीकडेच विश्वकर्मा समाजातील लोकांसाठी पीएम विश्वकर्मा योजना सुरू केली आहे. या योजनेंतर्गत हस्तकला काम करणाऱ्या मजुरांना मदत दिली जाईल. पीएम विश्वकर्मा योजनेंतर्गत, कामगारांना त्यांचे कौशल्य वाढवण्यासाठी कौशल्य प्रशिक्षण दिले जाते आणि त्यांचा स्वतःचा व्यवसाय सुरू करण्यासाठी ₹300000 पर्यंत कर्ज सहाय्य देखील दिले जाते. यासोबतच या योजनेंतर्गत टूल किटच्या स्वरूपात 15000 रुपयांपर्यंतची मदत दिली जाते.

अंत्योदय अन्न योजना

बीपीएल शिधापत्रिकाधारकांसाठी मोठी योजना :- 

अंत्योदय अन्न योजनेंतर्गत दारिद्र्यरेषेखालील शिधापत्रिकाधारक कुटुंबांनाही मोफत रेशनची सुविधा उपलब्ध करून दिली जात आहे. मोदी सरकारने अंत्योदय अन्न योजनेअंतर्गत मोफत रेशनची सुविधा पुढील पाच वर्षांसाठी वाढवली आहे. ही योजना मोदी सरकारने कोरोनाच्या काळात सुरू केली होती. या योजनेंतर्गत प्रति व्यक्ती ५ किलो मोफत धान्य दिले जाते. दारिद्र्यरेषेखालील शिधापत्रिकाधारकांना रास्त भाव रेशन दुकानात मोफत रेशनची सुविधा मिळू शकते.


PostImage

RK News 24

June 24, 2024

PostImage

Real Estate Market: येणाऱ्या काही वर्षात अयोध्या, शिर्डी, नागपूरच्या रिअल इस्टेट क्षेत्रा मध्ये होणार मोठी वाढ


Real Estate Market: देशातील Ayodhya, Varanasi, Puri, Dwarka, Shirdi, Tirupati आणि Amritsar यासह 17 शहरांमध्ये येणाऱ्या काही वर्षात रिअल इस्टेट real estate क्षेत्रात खूप मोठी वाढ होण्याची शक्यता आहे. इथल्या प्रॉपर्टी मार्केटच्या तेजी मागचा कारणे म्हणजे आध्यात्मिक पर्यटन, पायाभूत सुविधा प्रकल्प आणि डिजिटलायझेशन

हे देखील वाचा : Sarkari Yojana : रेशनकार्डधारकांना आता मिळणार 5 लाखाचे मोफत उपचार

रिअल इस्टेट कन्सल्टन्सी कॉलियर्स इंडियाने Real estate consultancy Colliers India 100 पेक्षा अधिक शहरांपैकी 30 संभाव्य चांगल्या वाढीची शहरे ओळखली आहेत जिथे रिअल इस्टेटची Real estate वाढ मध्यम ते दीर्घ कालावधीसाठी चांगली राहू शकते. या 30 शहरांपैकी, 17 संभाव्य शहरांमध्ये रिअल इस्टेट Real estate क्षेत्रात वाढ होण्याची शक्यता वर्तवली जात आहे.

हे देखील वाचा : किसानों के लिए खुशखबरी: PM Kisan Yojana के पैसे कल खाते में होंगे जमा

हे 17 खूप वेगाने वाढणारी रिअल इस्टेट Real estate क्षेत्रे देशाच्या उत्तर, दक्षिण, पश्चिम, पूर्व आणि मध्य प्रदेशात समान वाढ दर्शवतात. उत्तर भारतात ओळखली जाणारी शहरे Amritsar, Ayodhya, Jaipur, Kanpur, Lucknow आणि Varanasi; पूर्व भारतातील Patna आणि Puri, पश्चिम भारतातील Dwarka, Nagpur, Shirdi आणि Surat, दक्षिण भारतातील Coimbatore, Kochi, Tirupati आणि Visakhapatnam आणि मध्य भारतात Indore

रिअल इस्टेट कन्सल्ट-सीने Real Estate Consult सांगितले की, Amritsar, Ayodhya, Dwarka, Puri, Shirdi, Tirupati आणि Varanasi ही अध्यात्मिक पर्यटनाच्या वाढीच्या दृष्टीने लक्षात घेण्यासारखी शहरे म्हणून उदयास आली आहेत.

Colliers India चे CEO Badal Yagnik यांनी सांगितले की, उत्तम पायाभूत सुविधा, परवडणारी रिअल इस्टेट, Real Estate कुशल प्रतिभा आणि सरकारी उपक्रम यामुळे लहान शहरे भारताच्या अर्थव्यवस्थेत चांगला योगदान देणार आहेत. ते म्हणाले की या वाढीसह रिअल इस्टेट Real Estate क्षेत्र 2030 पर्यंत 1000 billion dollars आणि 2050 पर्यंत 5000 billion dollars पर्यंत पोहोचेल. GDP मध्ये त्याचा वाटा 14-16 टक्के राहू शकते.

 


PostImage

RK News 24

June 24, 2024

PostImage

सोना 14000 रुपये तक गिर गया


सोने की कीमत महीने की शुरुआत में सोने के बाजार में बड़ी हलचल देखने को मिली है। शनिवार को बाजार खुलते ही सोने की कीमतों में भारी गिरावट दर्ज की गई, जिससे उपभोक्ताओं को काफी राहत मिली। इस गिरावट से सोना और चांदी दोनों ही थोड़े सस्ते हो गए हैं। आइए आज इन बदलावों पर विस्तार से नजर डालते हैं।

सोने की कीमत में गिरावट

सोने की कीमतों में मौजूदा ऊंचाई से करीब 55,000 रुपये की गिरावट आ चुकी है। यह खबर निश्चित रूप से उन ग्राहकों के लिए एक अच्छी खबर है जो सोना खरीदना चाहते हैं। ग्राहकों को आज अब तक के उच्चतम स्तर से सस्ते दाम पर सोना खरीदने का मौका मिलेगा।

दरों में जिलेवार भिन्नता

महत्वपूर्ण बात यह है कि सोने की दरें अलग-अलग जिलों में अलग-अलग हो सकती हैं। इसलिए ग्राहकों को अपने जिले में नई दरों की जांच करनी चाहिए। स्थानीय बाजार में कीमतें जानने के लिए नजदीकी सर्राफा से जांच करना उचित होगा।

सोने की शुद्धता: 22 कैरेट या 24 कैरेट?

सोना खरीदते समय ध्यान रखने योग्य एक महत्वपूर्ण बात है। सुनार हमेशा पूछते हैं कि आपको 22 कैरेट सोना चाहिए या 24 कैरेट। उपभोक्ताओं को इस प्रश्न के महत्व को समझने की जरूरत है। 22 कैरेट सोना: यह 91.7% शुद्ध होता है और इसका उपयोग ज्यादातर आभूषण बनाने के लिए किया जाता है। 24 कैरेट सोना: यह 99.9% शुद्ध है, लेकिन आभूषणों के लिए इसका उपयोग कम होता है क्योंकि यह नरम होता है। उपभोक्ताओं को अपनी जरूरत के हिसाब से सही कैरेट सोने का चयन करना चाहिए।

सोना खरीदने का सही समय

मौजूदा कीमत में गिरावट का फायदा उठाते हुए, कई उपभोक्ता सोना खरीदने के लिए बाजार की ओर दौड़ रहे हैं। हालांकि, जानकारों के मुताबिक सोने की कीमत में अभी और गिरावट आने की संभावना है। इसलिए ग्राहकों को बिना जल्दबाजी किए बाजार के उतार-चढ़ाव को देखकर फैसला लेना चाहिए।

अन्य महत्वपूर्ण आर्थिक समाचार

सोने की कीमतों में इस गिरावट के साथ-साथ, कुछ अन्य महत्वपूर्ण आर्थिक ख़बरें भी हैं जिन पर नज़र रखनी चाहिए:

1) घरेलू गैस सिलेंडर की कीमतें कम हो गई हैं और नई दरों की घोषणा कर दी गई है।

2) बैंकों ने सेविंग बैंक अकाउंट के नियमों में बदलाव किया है और नए नियम आज से लागू हो गए हैं।

3) कुछ राज्यों ने लड़कियों को मुफ्त स्कूटी देने की योजना की घोषणा की है।

4) शासन की विभिन्न योजनाओं के तहत हितग्राहियों के खाते में राशि जमा की जा रही है।

सोने की कीमतों में यह गिरावट उपभोक्ताओं के लिए फायदेमंद हो सकती है। हालांकि, खरीदारी से पहले स्थानीय बाजार दरों, सोने की शुद्धता और भविष्य में संभावित उतार-चढ़ाव पर विचार करना महत्वपूर्ण है। साथ ही अन्य वित्तीय निर्णय लेते समय वर्तमान बदलती स्थिति पर भी विचार करना चाहिए। अंत में, कोई भी वित्तीय निर्णय लेते समय यह सुनिश्चित करना चाहिए कि यह लंबे समय में फायदेमंद होगा।


PostImage

RK News 24

June 23, 2024

PostImage

iPhone 16 Pro Lounch Price सुनकर होंगे हैरान


iPhone 16 Pro लॉन्च होने में कुछ ही हफ्ते बाकी हैं, यहां हम अगले iPhone के बारे में सब कुछ जानते हैं

Apple के iPhone 16 Pro के सितंबर 2024 की शुरुआत में लॉन्च होने की उम्मीद है, जो डिज़ाइन, प्रदर्शन और कैमरा सुविधाओं में बेहतर साबित होणे वाला है | 

Apple ने हाल ही में अपना वार्षिक डेवलपर्स सम्मेलन, WWDC 2024 समाप्त किया है, और अब कार्ड पर अगली बड़ी चीज़ iPhone 16 सिरीज को लॉन्च  करणे जा रहा है। 2024 के अंत में आने की उम्मीद है, अफवाह है कि अगली पीढ़ी के आईफ़ोन अपने पुराणे आईफोन , विशेष रूप से प्रो वेरिएंट की तुलना में कुछ महत्वपूर्ण अपग्रेड करेंगे। जबकि हम पहले से ही जानते हैं कि Apple iPhone 16 सिरीज को iOS 18 के साथ पावर देगा, प्रो मॉडल को Apple इंटेलिजेंस फीचर भी मिलने की उम्मीद है, जो अपने उपयोगकर्ताओं के लिए AI सुविधाओं का एक सूट है। IOS 18 और AI के अलावा, Apple के डिझाईन संवर्द्धन और बेहतर प्रदर्शन लाने का अनुमान लगाया गया है। 

सविस्तर

1) Apple सितंबर 2024 में iPhone 16 सीरीज लॉन्च कर सकता है |

2) प्रो मॉडल के 6.3 इंच के बड़े डिस्प्ले के साथ आने की उम्मीद है |

3) डिवाइस नवीनतम iOS 18 पर चलेगा |


PostImage

RK News 24

June 22, 2024

PostImage

आज टारगेट सेमी फाइनल


बांग्लादेश के खिलाफ मुकाबला रात 8 बजे से

आईसीसी टी-20 विश्व कप प्रतियोगिता के सुपर- 8 चरण में भारत का मुकाबला शनिवार को बांग्लादेश के खिलाफ होने जा रहा है | दोनों टीमों के अब तक के प्रदर्शन की तुलना करें तो जाहिर है भारत का पलड़ा भारी है | अफगानिस्तान पर 47 रन से जीत के बाद रोहित शर्मा की टीम के हौसले बुलंद हैं | हालांकि मैच में भारतीय शीर्ष क्रम जरूर चरमराया था | दूसरी ओर बांग्लादेश को ऑस्ट्रेलिया से डकवर्थ लुइस पद्धति से हार का सामना करना पड़ा है | 

बांग्लादेश का लचर प्रदर्शन

बांग्लादेश की टीम सुपर-8 चरण में जरूर है लेकिन पूरे टूर्नामेंट में वह कभी ठोस नहीं लगी | टीम की बल्लेबाजी काफी लचर है जिससे गेंदबाजों के अच्छे प्रदर्शन पर पानी फिर जाता है | किसी भी टीम को अगर भारत जैसी मजबूत टीम से भिड़ना है तो उसके बल्लेबाजों और गेंदबाजों को फॉर्म में होना जरुरी है | भारतीय टीम टूर्नामेंट में जिस फॉर्म का प्रदर्शन कर रही है वह प्रतिद्वंद्वी टीम की हल्की से भूल को भी माफ नहीं करेगी | भारत के खिलाफ बांग्लादेश अगर शनिवार को जीत जाए तो यह बहुत बड़ा आश्चर्य होगा | फिर भी टूर्नामेंट में उलटफेर के इतिहास को देखते हुए भारतीय टीम को बांग्लादेश के खिलाफ सतर्क रहना होगा | भारतीय टीम जीतकर सेमी फाइनल में जगह पक्की कर लेगी | 

भारत की गहरी बल्लेबाजी

भारतीय बल्लेबाजी में गहराई है | अफगानिस्तान के खिलाफ 62 पर तीन विकट गंवा देने के बावजूद भारतीय टीम मध्यक्रम के बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव के अर्धशतक और हार्दिक पंड्या के ताबड़तोड़ 32 रन तथा दोनों के बीच 60 रन की साझेदारी से 181 तक पहुंच गई | यह चुनौतीपूर्ण स्कोर था | हार्दिक पंड्या ने अपनी पारी से आलोचकों को जवाब भी दे दिए | उनके लिए पिछले कुछ महीने काफी मुश्किलों से भरे रहे हैं लेकिन अब शायद वह उबरने लगे हैं | गेंदबाजी में भी उनका प्रदर्शन अच्छा रहा है | 

बुमराह-अर्थदीप दमदार

तारीफ करनी होगी जसप्रीत बुमराह की जिन्होंने अपने प्रदर्शन से चौंका दिया है | इस समय वह पैट कमिंस के साथ दुनिया के सबसे उम्दा तेज गेंदबाज हैं | बुमराह को बाएं हाथ के तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह का अच्छा साथ मिल रहा है | बुमराह तो गेम चेंजर हैं लेकिन अर्शदीप भी नई-पुरानी गेंद से हावी हो जाते है | इसके अलावा तीन बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज रविंद्र जडेजा, अक्षर पटेल और कुलदीप यादव मोर्चा संभालते हैं | हालांकि कुलदीप गेंद स्पिन कराने में कलई का इस्तेमाल करने से थोड़े अलग किस्म के गेंदबाज हो जाते हैं |

कुछ कमजोर पहलू

इसके बावजूद कुछ पहलू हैं जिनपर टीम इंडिया के प्रबंधन को सोचने की जरूरत है | एक तो रोहित शर्मा और विराट कोहली की सलामी जोड़ी | दोनों भी दिग्गज बल्लेबाज प्रतिष्ठा के अनुरुप खेल नहीं पा रहे हैं | दूसरा पहलू है ऑलराउंडर शिवम दुबे जो लगातार मौकों के बावजूद बल्लेबाजी में बिल्कुल ही सफल नहीं हो सके हैं | अफगानिस्तान के खिलाफ भारत के शीर्ष क्रम के तीन बल्लेबाजों के जल्दी लौट जाने से दुबे के पास बड़ी पारी खेलने का मौका था जिसे वह भुना नहीं पाए | लिहाजा टीम के कोच और कप्तान को दुबे के विकल्प के बारे में सोच सकते हैं | संजू सैमसन एक अच्छा विकल्प हो सकता है | दूसरा विकल्प है यशस्वी जायसवाल को रोहित के साथ सलामी में भेजकर कोहली को पुनः नंबर तीन पर उतारे | इससे दुबे को बाहर होना ही होगा | 

बदलाव असंभव

बावजूद तमाम बातों के बांग्लादेश जैसी अपेक्षाकृतक कमजोर टीम के खिलाफ भारतीय एकादश में शायद ही कोई बदलाव हो | वेस्टइंडीज जैसी कोई मजबूत टीम होती तो बदलाव के बारे में सोचा जा सकता था | तूफानी पारियां खेलने के लिए मशहूर कैरेबियाई बल्लेबाजों पर अंकुश लगाने के लिए शायद कुलदीप के स्थान पर युजुवेंद्र चहल को अंतिम एकादश में जगह दी जा सकती थी | भारतीय टीम का आकलन करे तो चंद अपवादों को छोड़ कोई भी फॉर्म से बाहर नहीं है | 


PostImage

RK News 24

June 21, 2024

PostImage

सावधान ! 88 कृषि केंद्रों के लाइसेंस रद्द


खरीफ की बुआई के दौरान बीज और खाद की कालाबाजारी आम बात हो गई है | जिले के कुछ कृषि केंद्रों पर फर्जी खाद बिक्री की शिकायतें मिल रही हैं | ऐसी शिकायतें हैं कि किसानों को बीज और खाँद के साथ अन्य सामग्री खरीदने के लिए मजबूर किया जाता है | ऐसी अनुचित स्थिति को उत्पन्न होने से रोकने के लिए कृषि विभाग ने कार्रवाई शुरु कर दी है | नियम अनुसार कृषि केंद्र खाद- बीज नहीं बेच सकते हैं | इसलिए इन पर कार्रवाई का काम कृषि विभाग ने शुरु कर दिया है | जिले में 88 दुकानों के लाइसेंस रद्द किए गए हैं | चार विक्रेताओं के खिलाफ मामलाभी दर्ज किया गया है | इस कार्रवाई से कृषि केंद्र संचालकों के होश उड़ गए हैं |

67 बीज विक्रेताओं पर कार्रवाई

किसान बुआई की तैयारी कर रहे हैं | यह भी देखा गया है कि नकली बीजों का भी खूब प्रचलन है | राज्य सरकार ने जिलाधिकारियों को किसानों को खाद-बीज उपलब्ध कराने के साथ ही नकली बीज विक्रेताओं पर सख्त कार्रवाई करने के आदेश भी दिए हैं | दूसरी ओर जिले में खरीफ सीजन के चलते बीज की कालाबाजारी जारी है | कृषि विभाग ने कालाबाजारी करने वाले 67 बीज विक्रेताओं पर कार्रवाई की है | 3 लाख 33 हजार रुपए का माल जब्त किया गया है | तीन बीज विक्रेताओं के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज किया है | 

इन केंद्रों पर बिक्री पर रोक

नकली बीज बिक्री और खाद बिक्री को लेकर किसानों की शिकायतें आ रही हैं | इसके तहत कृषि विभाग की टीमों ने जिले में 67 बीज विक्रेताओं के खिलाफ कार्रवाई करते हुए 60 केंद्रों पर बिक्री पर रोक लगा दी है | साथ ही 28 खाद बिक्रेताओं पर रोक लगा दी है | इस कार्रवाई से खलबली मच गई है |

कपास के बीज की कालाबाजारी

खरीफ सीजन की तैयारी में किसान बीज और रासायनिक उर्वरक खरीदने के लिए दौड़ भाग कर रहे हैं | लेकिन कई कृषि केंद्रों से मांग वाली कपास की किस्मों को कमी का हवाला देकर ऊंचे दामों पर बेचा जा रहा है | 864 रुपए का बैग 1300 से 1500 रुपए में बिक रहा है | वहीं इससे नाराज जिले के किसानों की ओर से मांग की जा रही है कि किसानों की इस तरह से हो रही आर्थिक लूट बंद की जाए | 

किसान इस नंबर पर करें शिकायत

कृषि विभाग की ओर से अपील करते हुए कहा गया है कि यदि खाद-बीज बेचने वाले केंद्र किसी विशेष कंपनी की खाद या बीज खरीदने के लिए दबाव बना रहे हों, ऊंचे दाम पर बेच रहे हों अथवा बीज, उर्वरक, कीटनाशक आदि की खरीदी के संबंध में कोई शिकायत हो तो किसान इस मोबाइल नंबर 9822446655 पर तुरंत शिकायत दर्ज कराएं | 


PostImage

RK News 24

June 20, 2024

PostImage

Sarkari Yojana : रेशनकार्डधारकांना आता मिळणार 5 लाखाचे मोफत उपचार


Sarkari Yojana : अंत्योदय, पिवळे, केशरी रेशनकार्डधारकांसह आता शुभ्र रेशनकार्ड असलेल्या कुटुंबांनादेखील पाच लाख रुपयांपर्यंत दरवर्षी मोफत उपचार मिळणार आहेत.

हे देखील वाचा : किसानों के लिए खुशखबरी: PM Kisan Yojana के पैसे कल खाते में होंगे जमा

राज्य शासनाने त्यासंदर्भातील आदेश नुकताच काढला असून योजनेत आता तीन कोटी लाभार्थीची वाढ झाली आहे. राज्य शासनाच्या नवीन निर्णयानुसार आता महात्मा फुले जनआरोग्य योजना व प्रधानमंत्री जनआरोग्य Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana योजनेचे लाभार्थी एकूण नऊ कोटी 62 लाख सात हजार 743 एवढी झाली आहे.

 

हे देखील वाचा : Sarkari Yojana : रेशन कार्डला करा आधार लिंक नाही तर मिळणार नाही रेशन 

राज्यातील जनतेला घरपोच आरोग्य सेवा अधिक चांगल्या पद्धतीने देण्यासाठी आणि नागरिकांचा आर्थिक भार कमी करण्यासाठी सरकारने 'महात्मा ज्योतिबा फुले जनआरोग्य योजना Mahatma Jyotiba Phule Janarogya Yojana सुरू केली होती.

अशाच सरकारी योजना संबंधित माहिती जनून घेण्यासाठी आमच्या WhatsApp ग्रुप ला जॉइन करा, ग्रुप जॉइन करण्यासाठी खालील WhatsApp बटन ला क्लिक करा.

 

 


PostImage

RK News 24

June 20, 2024

PostImage

₹10.22 लाख करोड़ पर पहुंचा भारतीय वाहन उद्योग


पंजीकृत वाहनों के मामले में भारत तीसरे स्थान पर

भारतीय वाहन उद्योग पिछले वित्त वर्ष में 10.22 लाख करोड़ रुपए पर पहुंच गया है | बुधवार को जारी रिपोर्ट के अनुसार, बहुपयोगी और स्पोर्ट्स यूटिलिटी व्हीकल (एसयूवी) खंड के मजबूत प्रदर्शन से वाहन उद्योग में उछाल आया है |

प्रबंधन परामर्शक कंपनी 'प्राइमस पार्टनर्स' की रिपोर्ट में कहा गया है कि 2023-24 में मात्रा के लिहाज से वाहन उद्योग का आकार 10% बढ़ गया | यूवी (बहुपयोगी) और एसयूवी खंड में उल्लेखनीय बदलाव यह रहा कि पिछले वित्त वर्ष में इनकी मांत्रा में 23 प्रतिशत और कीमत में 16 प्रतिशत की वृद्धि हुई, जिससे कुल मूल्य 39 प्रतिशत बढ़ गया | इस खंड में औसत मूल्यवृद्धि कीमतों में सामान्य वृद्धि, उच्च खंड और हाइब्रिड और स्वचालित की ओर झुकाव, 'सनरूफ' की लोकप्रियता और इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवी) की मांग बढ़ने के कारण हुई | 

यात्री वाहन (पीवी) खंड में मामूली मूल्य वृद्धि के कारण मात्रा में 9% की गिरावट देखी गई, जिससे मूल्य में 4% गिरावट आई |  दोपहिया वाहन खंड में, भारत में मात्रा में 10% और मूल्य में 13% की वृद्धि देखी गई, वहीं, रिपोर्ट में कहा गया है कि पंजीकृत वाहनों के मामले में चीन और अमेरिका के बाद भारत तीसरे स्थान पर है, लेकीन मूल्य मामले में यह जापान और जर्मनी जैसे देशों से पीछे है | भारत में एक वाहन की औसत कीमत कई उन्नत देशों की तुलना में कम है | भारतीय वाहन उद्योग का मूल्य मात्रा की तुलना में अधिक तेजी से बढ़ रहा है |तीपहिया वाहन खंड में मात्रा में 16% और मूल्य में 24% की वृद्धि हुई | वाणिज्यिक वाहन खंड में मात्रा में 3% की वृद्धि हुई.भारतीय ग्राहक विभिन्न क्षेत्रों में अधिक ऊंचे एवं महंगे मॉडल को पसंद कर रहे हैं, तथा वाहनों की औसत कीमत बढ़ रही है | भारत कम कीमत वाले उत्पादों को दरकिनार करते हुए और खूबियों और ऊंची कीमत वाले वाहनों को पसंद कर रहा है|


PostImage

RK News 24

June 20, 2024

PostImage

यूपी में गर्मी का कहर जारी 24 घंटे में 170 से ज्यादा मौतें


झुलसाती गर्मी से पूर्वांचल में 64 और बुंदेलखंड में 62 लोगों की गई जान

 

उत्तर प्रदेश के हर जिले में झुलसाती गर्मी लोगों की जान ले रही हैं | बीते 24 घंटों के दौरान ही राज्य में 170 से अधिक लोगों की मौत गर्मी और लू की चपेट में आने से हुई है | पूर्वांचल के नौ जिलों में सबसे अधिक 64 लोगों की जान गई, जबकि बुंदेलखंड में भी 20 सेअधिक लोगों की मौत की खबर है | 

दिल्ली: 50 शव मिले 

राष्ट्रीय राजधानी में भीषण गर्मी के बीच पिछले 48 घंटों के दौरान दिल्ली के विभिन्न हिस्सों से वंचित सामाजिक- आर्थिक पृष्ठभूमि से जुड़े 50 लोगों के शव बरामद किए गए | 

राज्य में लू से मरने वाले व्यक्ति के परिजनों को राज्य आपदा मोचक निधि से 4 लाख की आर्थिक सहायता दी जाती है |  इसके लिए मृत व्यक्ति का पोस्टमार्टम कराना जरूरी है | सरकार के फैसले की जानकारी न होने से लोग प्रशासन को जानकारी दिए बिना परिजन का अंतिम संस्कार करा देते हैं | इस कारण सरकार के रिकॉर्ड में गर्मी और लू की चपेट में आकर मरने वाले लोगों की संख्या कम है | गर्मी और लू की चपेट में आकर मरने लोगों की सरकारी रिकॉर्ड में कम संख्या को लेकर लोगों का कहना है कि राज्य में 28 मई से अधिकतम तापमान लगातार 42 से 45 डिग्री के बीच है | इस कारण लगातार लोगों की जान जा रही है | बीते 24 घंटे में वाराणसी में 18 लोगों और मिर्जापुर में 15 लोगों ने दम तोड़ दिया | काशी विश्वनाथ मंदिर दर्शन करने आए पांच श्रद्धालु अचेत होकर गिर पड़े | बलिया में भी 12 लोगों की लू लगने से मौत हो गई | गाजीपुर और चंदौली में सात-सात, सोनभद्र में दो, आजमगढ़, भदोही और मऊ में एक-एक व्यक्ति की जान चली गई |  इलाहाबाद में भी 20 से अधिक लोग लू से मरे हैं |

अंतिम संस्कार के लिए सबसे अधिक शव आए

अधिकारी ने नाम ना छापने की शर्त बताया कि वाराणसी, इलाहाबाद और कानपुर के श्मशान घाट पर बीते बीस दिनों में अंतिम संस्कार के लिए सबसे अधिक शव आए हैं, क्योंकि गर्मी  और लू की चपेट में आने वालों की संख्या भी इसमें जुड़ गई है |

 


PostImage

RK News 24

June 20, 2024

PostImage

बाइक की किश्त के लिए किया खून


लूट के इरादे से किया था हमला, एक माह बाद मिला आरोपी

बाइक की किश्त नहीं चुका पाने से आहत युवक ने मजदूर की हत्या की थी | क्राइम ब्रांच की यूनिट-तीन ने करीब एक माह बाद आरोपी को गिरफ्तार कर यह गुत्थी सुलझाई है | आरोपी चेतन राजहंस लोणारे (25) नंदनवन झोपड़पट्टी जबकि मृतक मधुकर माणिक बागड़े (40) इंदोरा, भंडार मोहल्ला के हैं | 

इसे भि पढे :-https://mykhabar24.com/post/rknews24/MK24post5044

23 मई की रात कामठी मार्ग के इंदोराचौक पर मधुकर की हत्या की गई थी | 24 मई की तड़के घटना का पता चला | आरोपी का सुराग नहीं मिल रहा था | पुलिस ने स्कैच और फुटेज से खोज कर रही थी | जांच के दौरान यूनिट-तीन को चेतन का मोबाइल नंबर मिल गया | उसका पता गायत्री नगर का निकला | वहां पहुंचने पर चेतन के काफी समय से नंदनवन झोपड़पट्टी में रहने का पता चला | हत्या के बाद से चेतन के गायब होने का पता चलने पर उसके ही हत्या में लिप्त होने का भरोसा हो गया| पुलिस को 'लोकेशन' से चेतन के कापसी में होने का पता चला | वहां दबिश देकर उसे पकड़ लिया गया | उसने मधुकर की हत्या की बात कबूल कर ली | 

इसे भि पढे :-https://mykhabar24.com/post/rknews24/MK24post4934

चेतन कापसी की एक फैक्ट्री में काम करता है | उसने किश्त पर विक्टर बाइक खरीदी थी | इसकी किश्त अदा नहीं कर पाने से वह तनाव में था | उसे बाइक जब्त किए जाने की चिंता सता रही थी | वह घटना के दिन रुपयों का जुगाड़ करने की उधेड़बुन में कापसी से घूमते हुए घटनास्थल पहुंचा | मधुकर बागड़े टाइल्स फिटिंग का काम करता था | पत्नी के बच्चों के साथ मायके चले जाने से वह अक्सर घर से बाहर रहता था | वह इंदोरा चौक के पास नशे की अवस्था में पड़ा था | चेतन भी उसके करीब बैठ गया | किसी बात को लेकर दोनों में विवाद हो गया | जख्मी कर लूटने के इरादे से चेतन ने मधुकर पर हमला कर दिया | उसने चेतन की जेब से रुपए खोजने का प्रयास किया | रुपए नहीं मिलने से उसे चेतन के जीवित बच जाने से अपना भंडाफोड़ होने का खतरा नजर आने लगा | उसने पुनः ईंट से सिर पर वार कर मधुकर को ढेर कर दिया | 

इसे भि पढे :- https://mykhabar24.com/post/rknews24/MK24post4969

 

 


PostImage

RK News 24

June 19, 2024

PostImage

लालच मे आकर गवाये 17 लाख रुपये


टास्क के चक्कर मे शिक्षिका को 17 लाख की चपत

कम समय मे ज्यादा मुनाफा कमाने के चक्कर मे एक शिक्षिका सायबर अपराधियों के जाल मे फसकर 17 लाख रुपये गवा बैठी | यह घटना हुडकेश्र्वर पोलिस ठाणे के क्षेत्र मे घटी औंर सायबर पोलीस थाने मे मामला दर्ज किया गया है | संबंधित शिक्षिका एक प्रतिष्ठित विद्यालय मे कार्यरत है | शिक्षिका ने ऑनलाईन एक घडी खरिदी थी | उसि दीन उन्हे व्हॉट्स ॲप ग्रुप मे जोड लिया गया जिसमे पार्ट टाइम जॉब की एक लिंक थी | शिक्षिका ने उस लिंक पर क्लिक किया तो सामने आया की कूछ टास्क पुरा करोगे तो फायदा मिलेगा | जब शिक्षिका ने टास्क पुरा किया तो उन्हे अच्छा फायदा हुआं | 

ये भी पढीये :- https://mykhabar24.com/post/rknews24/MK24post4934

उन्हे लालचं दिया गया की ज्यादा पैसा निवेश करणे पर औंर मुणाफा मीलेगा | उन्होंने इसमे अपने पुरी जमा पूंजी नीवेश कर दि , साथ ही रिश्तेदारो से भी कुछ पैसे उधार लिये | उन्होंने कुल 17 लाख रुपये निवेष लिये | इसके बाद आरोपी ने पैसे देणा बंद कर दिया | साथ ही उनके साथ संपर्क भी तोड दिया | ठगी का अहसाह होता देख शिक्षिका ने सायबर पोलिस थाणे मे शिकायत दर्ज कराई | पोलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दि हैं | 

ये भी पढीये :- https://mykhabar24.com/post/rknews24/MK24post5060

https://mykhabar24.com/post/rknews24/MK24post5044

 


PostImage

RK News 24

June 18, 2024

PostImage

तेज रफ्तार ने छिन ली जिंदगी


गहरी निंद मे सोये मजदुरो को रोंदा 

नागपूर मे लोगो के लिये तेज रफ्तार कार चलाने ना क्रेज जनलेवा बन गया हैं | पिछले तीन दीन मे हिट अँड रन की दो घटनाये हुइ हैं | रविवार की रात उमरेड मार्ग पर शराब पिकर शराबी कार चलको ने एक परिवार के 9 लोगो को रोंद डाला | जिसमे 7 लोग भयंकर रूप से जखमी हुए औंर 2 लोगो को मौत हो गई | सडक के किनारे बने अपने मकान मे पुरा परिवार गहरी नींद मे सो रहे थे | 

यह परिवार राजस्थान से मजदूरी करणे के लिये नागपूर आया था औंर अपणी मेहनत मजदूरी कर के अपना जीवन यापण कर रहा था | रविवार की रात घटनास्थल के करीब शादी का समारोह चल रहा था | चीखे पुकर सुनकर शादी मे आये लोग घटनास्थल पर पोहचे | भिड देखकर आरोपी छात्र भागणे लगे | हादसे के बाद आरोपी मौके से फरार हो गये | शादी मे आये लोगो ने पोलीस को इस घटना की सूचना दी | हुडकेश्वर पोलीस मैके पर पोहाच गई | पोलीस से सीसीटीव्ही फोटोज् से आरोपी की खोजबिन चालू की | दर रात उन्हे हिरासत मे लेकर कार को बरामद कर लीया | कार सौरभ कडूकर की बाताई जा रही हैं | पोलिस ने आरोपी के खून के नमुने भी लिये | उनके खीलाफ पोलिस ने सदोष मनुष्य वध औंर अन्य धराओ के तहत मामला दर्ज किया | मृतक मजदुर बेहद गरीब हैं | वह करीब आठ महिने से घटनास्थल पर रहते थे | चौक मे खीलोने औंर दुसरे सामान की बिक्री करते थे | 

दो मर्तबा बच्चो को कुचला

चालक भूषण लांजेवार कार रिव्हर्स लेणे के चक्कर मे सबकुच भुल गया था | उसने गहरी निंद मे सोये बच्चो को दो मर्तबा कुचला |

नंबर प्लेट से मिले आरोपी

घटमास्थल का सीसीटीव्ही फोटोज् क्लिअर नहीं होने से पोलीस को कार का पता नहीं चल रहा था | घटमास्थल पर कार के नंबर प्लेट के तुकडे बिखरे पडे थे | पोलिस से कार के नंबर प्लेट के तुकडो को जोडकर कार का नंबर पता लगाया | कार मलिक सौरभ कडुकर के घर पर छापा मार कर आरोपी को हिरासत मे लीया | 

 

 

 


PostImage

RK News 24

June 17, 2024

PostImage

किसानों के लिए खुशखबरी: PM Kisan Yojana के पैसे कल खाते में होंगे जमा


किसानों के लिए खुशखबरी! केंद्र सरकार 'PM Kisan Yojana' योजना के तहत सहायता की 17वीं किस्त कल (मंगलवार) किसानों के खातों में जमा करने जा रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उत्तर प्रदेश यात्रा के हिस्से के रूप में लगभग 9.26 करोड़ किसानों के खातों में लगभग 20 हजार करोड़ रुपये हस्तांतरित किए जाएंगे।


पीएम किसान योजना: 17वीं किस्त (PM Kisan Yojana: 17th installment)

PM Kisan'योजना किसानों के लिए आर्थिक सहायता का एक महत्वपूर्ण साधन है। इस योजना के तहत किसानों को सालाना 6,000 रुपये का भुगतान किया जाता है, जो तीन समान किस्तों में दिया जाता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने के बाद पहले ही दिन 'PM Kisan' सहायता पर हस्ताक्षर किए थे।

ये भी पढ़ें: PM Kisan Samman Nidhi Yojana: नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री होते ही पीएम किसान सम्मान निधि योजना का 17 वा हप्ता किसानों के खाते में हुआ जमा


किस्त मिलने में लिए आवश्यक शर्तें 

PM Kisanयोजना का लाभ लेने के लिए किसानों को नीचे दी गई शर्तें पूरी करनी चाहिए:

  • किसानों का पंजीकरण: किसानों को पीएम किसान पोर्टल पर पंजीकरण कराना चाहिए।
  • सही दस्तावेज़: आधार कार्ड, बैंक खाता नंबर, भूमि अभिलेख आदि सभी दस्तावेज़ अपलोड और सत्यापित किए जाने चाहिए।
  • अयोग्यता की शर्तें: कुछ अयोग्यता की शर्तें हैं जैसे सरकारी कर्मचारी, सेवानिवृत्त सरकारी अधिकारी, साथ ही अन्य लाभार्थी किसान इस योजना के लिए पात्र नहीं हैं।


किस्त मिलने में समस्याएँ हो सकती हैं?

कभी-कभी किस्त प्राप्त करने में समस्याएँ हो सकती हैं। इन समस्याओं के कुछ प्रमुख कारण नीचे दिए गए हो सकते हैं:

  • डेटा गड़बड़ी: आधार कार्ड, बैंक खाता नंबर या अन्य जानकारी में गड़बड़ी होने पर पैसे जमा करने में समस्याएँ हो सकती हैं।
  • अधूरे दस्तावेज़: यदि आवश्यक दस्तावेज़ पूर्ण और सही नहीं हैं तो किस्त जमा करने में समस्याएँ हो सकती हैं
  • सरकारी प्रक्रियाओं में विलंब: तकनीकी समस्याओं या अन्य कारणों से सरकारी प्रक्रियाओं में विलंब हो सकता है
  • बैंक में तकनीकी समस्या: बैंक की प्रणाली में तकनीकी समस्याओं के कारण जमा में देरी हो सकती है।

ये भी पढ़ें: PM Vishwakarma Yojana 2024 : पीएम विश्वकर्मा योजना के लिए आवेदन कैसे करें, लाभ लेने तक जानिए पूरी जानकारी


किस्त प्राप्त करने के लिए क्या करें?

किसान नीचे दिए गए तरीकों से अपनी जानकारी सुनिश्चित कर सकते हैं:

  • पीएम-किसान पोर्टल पर जानकारी की जाँच: pmkisan.gov.in वेबसाइट पर जाकर 'Beneficiary Status' विकल्प चुनें। वहाँ आधार नंबर, बैंक खाता नंबर या मोबाइल नंबर दर्ज करके अपनी जानकारी की जाँच कर सकते हैं।
  • स्थानीय कृषि कार्यालय से संपर्क: किसी भी समस्या की स्थिति में स्थानीय कृषि कार्यालय से संपर्क करें
  • हेल्पलाइन: पीएम किसान हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करके जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

PM Kisan योजना की 17वीं किस्त किसानों के खातों में जमा होगी, जिससे उन्हें आर्थिक सहायता मिलेगी और आवश्यक खेती की सामग्री खरीदना आसान हो जाएगा।

कृपया सुनिश्चित करें कि आपने अपने सभी दस्तावेज सही और पूर्ण कर लिए हैं और समय-समय पर पीएम किसान पोर्टल पर अपनी स्थिति की जाँच करें। इससे यह सुनिश्चित होगा कि आपको समय पर आपकी किस्त मिल जाए।


PostImage

RK News 24

June 16, 2024

PostImage

नाबालिक लडके ने 5 लोगो को कार से उडाया 2 की हालत गंभीर


पुणे के पोर्श कांड जैसा हादसा 

पुणे के पोर्श कर हा जैसा हादसा नागपूर मे हुआ | 17 वर्षीय नाबालिक लडके ने शनिवार की दोपहर कार से 5 लोगो को बेराहमी से कुचल दिया | दोपहर मे करिब पौन बजें हुई इस दुर्घटना मे घायल 5 लोगो मे से 2 लोगो की हालत बोहत गंभीर बताई जा रहा है | 

ये हादसा नागपूर के KDK कॉलेज के पास व्यंकटेश नगर चौक पर लागे सब्जी बाजार मे हुसा | जब गॅरेज मे काम करणे वाला नाबालिक लडका कार को पार्क कर रहा था औंर उसने ब्रेक की जगह एक्सलेटर दबा दिया | कार बेकाबु हो गई औंर सब्जी खरिदने आये लोगो के साथ सब्जी विक्रेताओ को अपने चपेट मे ले लिया | 

घटनास्थल पर मौजुत लोगो ने वो नाबालीक को पकडकर बोहात जमकर पिटाई की औंर उसको पोलिस के हवाले कर दिया | मामले की गंभीरता को देखते हुए पोलिस उपयुक्त विजयकांत सागर अपने टीम के साथ घटनास्थल पर पोहचे औंर बिगडे हुए हालात को काबू मे किया | 

आखिर रफ्तार से इतना प्यार क्यो ? पोलिस ने तीन लोगो पर मामला किया दर्जं | 

नागपूर नंदनवन पोलीस ने गॅरेज के मलिक गोंनाडे , कार के मलिक औंर उस नाबालिक लडके के ऊपर मामला दर्ज किया | ये जो कर है नंदनवन मे राहणे वाले निवासी जो की वर्तमान मे पुणे मे राहता है उसकी है | उसका नाम राजेश साखरकर हैं | 

दुर्घटना की क्लिप वायरल हुईं

स्कोडा कार की टक्कर वाली व्हिडिओ शनिवार को दिनभर लोगो ने सोशल मीडिया पर वायरल की | घटना की पुरी तस्वीरें सामने लगे सीसीटीव्ही मे कैद हो गई है | इस घटना से नागपुर शहर के वासी काफी आक्रोश मे है | 

 

 

 


PostImage

RK News 24

June 15, 2024

PostImage

ऑटो चालक की हात्या


दाताला फाटा मे ऑटो चालक की हत्या |

 आरोपी का पता नहीं चला है | पोलिस आरोपी के तलाश मे जुटी है | ये हत्याकांड हिंगणा मे हुआ | मृतक का नाम दिनेश हरिदास नगराले है | मृतक दिनेश नगराले बुट्टेबोरी मे ऑटो चालणे का काम करते थे | 

ठेंभरी गाव मे निजी कंपनी है | मृतक दिनेश नगराले कंपनी के कमगारो को ऑटो स्टँड पर छोडणे का काम करते थे | उनके परिवार मे पत्नी अल्का औंर दो बेटिया है | 

मृतक दिनेश नगराले की पत्नी आशा वरकर है | उनका टेंभरी गाव मे पुरणा घर है जहा पे भाई राहता है | टेंभरी से घर दूर होणे के कारण नगराले ऑटो को टेंभरी मे छोडकर बाईक से घर आते थे | 

गुरवार की रात 9 बजे नगराले टेंभरी मे ऑटो राख कर बाईक से घर आ रहे थे | दाताला फाटा के पास अग्यात आरोपी ने हमला किया | दंडे औंर दुसरे हतियारो से वार कर के दिनेश का खून कर दिया | 

मार्ग पर गुजर रहे ऊस परिसर के भूषण कापसे औंर सचिन खिरडकर की नजर मृत पडे हुये नगराले पर गई| उसने नगराले के घर जाकर अल्का को इस घटना की जाणकारी दी | नगराले के पहचान वाले औंर परिजन मौके पर पहुचे | अल्का ने सभी की मदत से नगराले को हस्पताल पोहचाया | लेकीन उनकी मौत हो चुकी थी | हस्पताल मे उनको मृत घोषित कर दिया | इस घटना की जाणकारी हिंगणा पोलिस को दि | 

 नगराले के शरीर पर चोट के निशाण

पोलिस को जाच करते समय घटना स्थल पर दंडा मिला है | नगराले के शरीर पर औंर उणके चेहरे पर चोट के निशाण मिले हैं | हमलावर उनका मोबाईल भी साथ लेकर गये है | मृतक के जेब मे हजार रुपये थे उन्हे हम्लावरोने हात नाही लगाया | इससे ये साबित हो रहा है की हत्या की वजाह लुटपाट नाही है | 

हिंगणा पोलिस ने हत्या का मामला दर्ज किया औंर इसकी जाच भी चालू कर दीं गई है | 

 


PostImage

RK News 24

June 14, 2024

PostImage

Vodafone Idea Share : वोडाफोन आइडिया के बोर्ड ने फंड जुटाने को दी मंजूरी, 166 करोड़ नए शेयर करेगी जारी


Vodafone Idea Share : टेलीकॉम कंपनी वोडाफोन आइडिया लिमिटेड telecom company Vodafone Idea Limited (VIL) के निदेशक मंडल ने फंड जुटाने की योजना को मंजूरी दे दी है। इसके तहत कंपनी ₹2,458 करोड़ जुटाने के लिए ₹14.80 प्रति शेयर के हिसाब से करीब 166 करोड़ नए शेयर जारी करेगी।

कंपनी ने एक एक्सचेंज फाइलिंग में कहा कि वह नोकिया सॉल्यूशंस एंड नेटवर्क्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड का अधिग्रहण करेगी। 1,520 करोड़ मूल्य के 102.7 करोड़ शेयर आवंटित किए जाएंगे। जबकि बाकी 938 करोड़ रुपये के 63.37 करोड़ शेयर एरिक्सन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड को दिए जाएंगे.

ये भी पढे : Chirag Paswan के साथ Kangana Ranaut की तस्वीर वायरल

दो महीने पहले एफपीओ के जरिए 18,000 करोड़ रुपये जुटाए गए
दो महीने पहले अप्रैल 2024 में वोडाफोन आइडिया ने फॉलो ऑन पब्लिक ऑफर यानी एफपीओ के जरिए 18,000 करोड़ रुपये जुटाए थे. कंपनी ने अपने एफपीओ के लिए ₹10 और ₹11 के बीच मूल्य बैंड निर्धारित किया था। निवेशक कम से कम एक लॉट यानी 1298 शेयरों के लिए बोली लगा सकते हैं।

 

हाल ही में VI को 14,000 करोड़ के लोन की मंजूरी मिली है
हाल ही में, भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के नेतृत्व वाले ऋणदाताओं के एक संघ ने वोडाफोन आइडिया (VI) को 14,000 करोड़ रुपये के ऋण के लिए सैद्धांतिक मंजूरी दे दी। वोडाफोन आइडिया 5G सेवाओं की लॉन्चिंग सहित कई उपायों के माध्यम से अपने घाटे में चल रहे परिचालन को पुनर्जीवित करने की कोशिश कर रहा है।

ये भी पढे : Pawan Kalyan: साऊथ के सुपरस्टार पवन कल्याण बने आंध्रप्रदेश के डिप्टी CM

मनीकंट्रोल ने सूत्रों के हवाले से बताया कि इस संबंध में अभी तक कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है. हालाँकि, वोडाफोन ग्रुप पीएलसी और बिड़ला ग्रुप के बीच संयुक्त उद्यम को पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी), बैंक ऑफ बड़ौदा, यूनियन बैंक और अन्य निजी और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों सहित कई ऋणदाताओं से अनौपचारिक प्रतिबद्धताएं प्राप्त हुई हैं।

Vodafone Idea Share के शेयरों ने 6 महीने में 15.27% का रिटर्न दिया
वोडाफोन आइडिया के शेयर आज 2.13% गिरकर 16.08 रुपये पर बंद हुए। पिछले 5 दिनों में इसके शेयर में 4.42% और 1 महीने में 21.36% की तेजी आई है। वहीं, टेलीकॉम कंपनी के शेयरों ने पिछले 6 महीने में 15.27% और एक साल में 103.54% का पॉजिटिव रिटर्न दिया है। हालांकि, वोडाफोन आइडिया के शेयरों ने इस साल अब तक 5.41% का नेगेटिव रिटर्न दिया है।

 

Vodafone Idea आर्थिक समस्याओं का सामना कर रही है. 
वोडाफोन आइडिया आर्थिक तंगी से जूझ रही है, उन पर 210000 करोड़ रुपये का कर्ज है. वोडाफोन आइडिया अपने प्रतिस्पर्धियों (जियो और भारती एयरटेल) से प्रतिस्पर्धा करने के लिए अपनी सेवाओं और बुनियादी ढांचे में सुधार करना चाहती है। कंपनी फिलहाल रिलायंस जियो और भारती एयरटेल जैसे प्रमुख प्रतिस्पर्धियों से पीछे है।

Vodafone Idea को चौथी महीनो में ₹7,674 करोड़ का घाटा हुआ है
वोडाफोन आइडिया को वित्त वर्ष 2024 की चौथी तिमाही (जनवरी-मार्च) में ₹7,674 करोड़ का घाटा हुआ। एक साल पहले इसी तिमाही में कंपनी का एकीकृत शुद्ध घाटा 6,418 करोड़ रुपये था। यानी चौथी तिमाही में कंपनी का घाटा सालाना आधार पर 19.56% बढ़ गया है।

VI ने 16 मई को अपनी चौथी तिमाही और वार्षिक नतीजों की घोषणा की थी। परिचालन से VI का समेकित राजस्व साल-दर-साल आधार पर 0.71% बढ़ा। चौथी तिमाही में परिचालन से राजस्व ₹10,606 करोड़ था। पिछले साल की समान तिमाही में राजस्व ₹10,531 करोड़ था।

आर्थिक वर्ष 2024 में कंपनी का घाटा 6.6% बढ़ गया
पूरे FY24 के लिए VI का समेकित घाटा 6.61% बढ़कर ₹31,238 करोड़ हो गया। FY2023 में घाटा ₹ 29,301 करोड़ था।

आर्थिक वर्ष 2024 में राजस्व ₹42,651 करोड़ था
परिचालन से VI का समेकित राजस्व FY24 में बढ़कर ₹42,651 करोड़ हो गया। FY23 में राजस्व ₹42,177 करोड़ था। यानी रेवेन्यू में 1.12% की बढ़ोतरी हुई है।

4G ग्राहकों की संख्या 12.63 करोड़ थी
कंपनी ने कहा कि लगातार 11वीं तिमाही में 4जी ग्राहकों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। चौथी तिमाही के अंत में 4जी ग्राहकों की संख्या 12.63 करोड़ थी. पिछले साल की समान 3 महीनो में यह 12.26 करोड़ रुपये था. कंपनी का कुल ग्राहक आधार 21.26 करोड़ था। चौथी तिमाही में कुल डेटा ट्रैफ़िक में साल दर साल 4.3% की वृद्धि हुई।

 


PostImage

RK News 24

June 12, 2024

PostImage

Pawan Kalyan: साऊथ के सुपरस्टार पवन कल्याण बने आंध्रप्रदेश के डिप्टी CM


Pawan Kalyan: साउथ के सुपरस्टार और राजनेता पवन कल्याण अब आंध्रप्रदेश के उपमुख्यमंत्री Deputy Chief Minister बन चुके हैं. 12 जून 2024 को चंद्रबाबू नायडू Chandrababu Naidu और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी Prime Minister Narendra Modi की मौजूदगी में पवन कल्याण  उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली. इसके बाद पवन कल्याण ने अपने बड़े भाई चिरंजीवी के मंच पर ही पैर छूकर उनका आशीर्वाद लिया.

 

पवन कल्याण कोण है? (Who is Janasena chief Pawan Kalyan)

पवन कल्याण वो नाम है जो आन्ध्र प्रदेश के बापतला में 2 सितंबर 1968 को पवन कल्याण Pawan Kalyan का जन्म हुआ था. 55 वर्षीय पवन कल्याण अपनी फिल्मों के माध्यम से लोगों का दिल जीत चुके हैं. एक्टर ने साल 1996 में अपने फिल्मी करियर की शुरआत की थी. वो मुख्य रूप से तेलुगु मूवी का बड़ा चेहरा हैं. और वहीं अब आंध्रप्रदेश की राजनीति के अहम व्यक्ति बन चुके हैं.

 


PostImage

RK News 24

June 10, 2024

PostImage

Chirag Paswan के साथ Kangana Ranaut की तस्वीर वायरल


PM Modi Shapath Grahan:  लोकसभा चुनाव में जीत के बाद तीसरी बार NDA सरकार बना ली है. इस समरोह में देश- विदेश कई मेहमान उपस्थित थे. लेकिन इस समारोह में कंगना रनौत और चिराग पासवान की तस्वीर वायरल हो रही है. 

वर्ष 2011 में एक फिल्म आई थी जिसका नाम था "मिले ना मिले हम" और उस फिल्म के हीरो थे Chirag Paswan और नायिका थीं Kangana Ranaut। इन दोनों की पहली मुलाकात एक फिल्म में काम करने के लिए हुई थी। लेकिन आज, चिराग पासवान और कंगना रनौत दोनों ही एक सांसद के रूप में एक ही सदन में बैठेंगे।

Read More : देशात तिसऱ्यांदा मोदी पर्व सुरू !

आज एनडीए की बैठक में, चिराग पासवान घटक दल के नेता के तौर पर शामिल हुए और कंगना रनौत नावत बीजेपी की सांसद के तौर पर शामिल हुई। इस दौरान, दोनों नेताओं ने एक दूसरे से बातचीत की और एक दूसरे का हालचाल भी पूछा।

2011 में, चिराग पासवान के पिता राम विलास पासवान की इच्छा थी कि उनका बेटा बॉलीवुड के फिल्मों में काम करे, लेकिन किस्मत ने उनके लिए कुछ और ही लिखा था। चिराग पासवान ने राजनीति में कदम रखा और अब उन्हें राजनीति के हीरो के रूप में जाना जाता है।

बांसुरी स्वराज

आजकल, चिराग पासवान और कंगना रनौत की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर चर्चा में है। इस तस्वीर में, चिराग पासवान ने प्रधानमंत्री मोदी को पहले गले लगाकर उनके तीसरे कार्यकाल के लिए बधाई दी है।

Chirag Paswan

 दूसरी तस्वीर में, प्रधानमंत्री मोदी ने बीजेपी की दिवंगत नेता सुषमा स्वराज की सुपुत्री बांसुरी स्वराज के सिर पर हाथ रखकर उन्हें आशीर्वाद दिया है।


PostImage

RK News 24

June 8, 2024

PostImage

महाराष्ट्रात पुढचे पाच दिवस आति रुष्टी होण्याच्या हवामन खात्याचा इशारा


महाराष्ट्रात पुढचे पाच दिवस  आति रुष्टी होण्याच्या हवामन खात्याचा इशारा . 

मान्सून महाराष्ट्रात दाखल झाला असून कधीही पावसाला सुरुवात होऊ शकते.

महाराष्ट्रासह काही राज्यांमध्ये पुढील पाच दिवस मुसळधार पाऊस पडण्याची शक्यता हवामान खात्याने वर्तवली आहे .

महाराष्ट्रात पाऊस पडताच बळीराजा शेतीच्या कामाला सुरवात करणार . 


PostImage

RK News 24

June 8, 2024

PostImage

Ramoji Rao Passed Away: प्रसिद्ध फिल्म निर्माता और रामोजी फिल्म सिटी के संस्थापक का 87 वर्ष की आयु में निधन


Ramoji Rao Passed Away: रामोजी ग्रुप के संस्थापक श्री रामोजी राव का आज 8 जून को निधन हो गया। रामोजी राव पिछले कुछ दिनों से बीमार थे और इसलिए उन्हें 5 जून को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। लेकिन आज सुबह 4.50 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। 

रामोजी राव का असली नाम चेरुकुरी रामोजी राव था। उनका जन्म 16 नवंबर 1936 को एक मध्यम वर्गीय परिवार में हुआ था। रामोजी राव ने कठिनाई से अपना व्यवसाय खड़ा किया और फिल्म इंडस्ट्री में अपनी एक अलग पहचान बनाई। उन्होंने दुनिया का सबसे बड़ा फिल्म स्टूडियो रामोजी फिल्म सिटी, ईटीवी नेटवर्क, डॉल्फिन होटल्स, मार्गदर्शी चिट फंड और ईनाडु तेलुगु पेपर शुरू किया।


Ramoji Rao Net Worth

रामोजी राव के पास अकूत संपत्ति थी। जानकारी के मुताबिक, उनकी कुल संपत्ति 4.7 अरब डॉलर थी, जो भारतीय मुद्रा में 41,706 करोड़ रुपये होती है। रामोजी राव का उषाकिरण मूवीज नाम से एक प्रोडक्शन वेंचर भी है। इस बैनर तले कई सुपरहिट तेलुगु फिल्में रिलीज हो चुकी हैं।


उनकी उपलब्धियाँ और योगदान

रामादेवी पब्लिक स्कूल की स्थापना 2002 में रामोजी राव ने की थी। भारत सरकार ने रामोजी राव को प्रतिष्ठित 'पद्म विभूषण' पुरस्कार देने की भी घोषणा की थी। रामोजी राव ने फिल्म प्रेमियों के लिए 'सितारा' पत्रिका शुरू की थी। इसके साथ ही 'चतुर' और 'विपुला' पत्रिकाएँ भी लाए थे। 'प्रिया फूड्स' और 'उषाकिरण मूवीज' की स्थापना भी उनके प्रमुख योगदानों में शामिल है। 1990 में रामोजी फिल्म सिटी में 'ईनाडु स्कूल ऑफ जर्नलिज्म' की शुरुआत की गई थी।


Ramoji Rao Family