ProfileImage
40

Post

4

Followers

9

Following

PostImage

Chandrawar Media Service

July 16, 2024

PostImage

जबलपुर और नागपुर की ओर चलने वाली ट्रेन को सुबह बालाघाट से चलाई जाए, जेडआरयूसी सदस्य मोनिल जैन ने सांसद और डीआरएम को सौंपा ज्ञापन, रेलसेवा विस्तार की मांग


बालाघाट :-

सोमवार 15 जुलाई सोमवार को जेडआरयूसी सदस्य मोनिल जैन ने रेलवे स्टेशन में सांसद भारती पारधी और डीआरएम नम्रता त्रिपाठी को ज्ञापन सौंपकर संसदीय क्षेत्र बालाघाट-सिवनी में रेल सुविधाओं के विस्तार को लेकर ज्ञापन सौंपा गया। जिसमें जबलपुर और नागपुर की ओर चलने वाली ट्रेनो को प्रातः समय पर बालाघाट से चलाए जाने की मांग के साथ ही और कई मांगे की गई। उन्होंने बताया कि जबलपुर- गोंदिया एवं बालाघाट-इतवारी के बीच में चलने वाली लोकल ट्रेनों के टाइम टेबल में संशोधन करते हुए इन्हें यात्री सुविधा को देखते हुए बालाघाट से सुबह प्रातः प्रस्थान की जाए, ताकि ऑफिस, कोर्ट स्कूल, हॉस्पिटल आदि के समय के पहले लोग जबलपुर एवं इतवारी पहुंच जाए और शाम को इसी ट्रेन को वापसी प्रस्थान कराए ताकि रात तक यात्री बालाघाट पहुंच जाए। जबकि अभी विपरित समय में जबलपुर और इतवारी से ट्रेन का प्रस्थान एवं आवागमन हो रहा है।

जेडआरयूसी सदस्य मोनिल जैन ने बताया कि सांसद और डीआरएम को ज्ञापन के माध्यम से जिले से नेरोगेज की तरह ब्राडगेज पर सतपुड़ा एक्सप्रेस को चलाए जाने, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र के रेलयात्रियों की सुविधा के मद्देनजर महाकाल कॉरिडोर नगरी इंदौर-उज्जैन- भोपाल-इटारसी-जबलपुर-नैनपुर बालाघाट-गोंदिया- दुर्ग - रायपुर -बिलासपुर तक हेरिटेज स्पेशल ट्रेन के रूप में जनसाधारण वंदे भारत ट्रेन को रोजाना चलाने, गोदिया-बरौनी और अन्य ट्रेन का रुट परिवर्तन कर गोंडिया-बालाघाट- बलपुर -कटनी होते हुए रुट से चलाया जाने, चूंकि इंटरलॉकिंग के समय इस ट्रेन का रूट परिवर्तित कर गोंदिया-बालाघाट- नैनपुर-जबलपुर-कटनी के रास्ते डायवर्ट मार्ग पर सफलतापूर्वक चलती है। जिसे नियमित करने की मांग लंबे समय से हो रही है। गोंदिया तिरोड़ी के बीच चल रही बंद ट्रेनों को पुनः बहाल किए जाने, रात में गोंदिया से चलने वाली ट्रेनों को प्रारंभ करने, बालाघाट से छिंदवाड़ा, बालाघाट से मंडला और बालाघाट से नैनपुर- जबलपुर के बीच प्रतिदिन लोकल ट्रेन चलाई जाए, ताकि नैनपुर एवं छिंदवाड़ा से कनेक्टिंग ट्रेन दिल्ली, इंदौर और भोपाल की मिल सके। जिसका लाभ संसदीय क्षेत्र के लोगों को होगा।

इसके अलावा बालाघाट से तुमसर और तुमसर से ईतवारी ट्रेन को मर्ज करने, बालाघाट स्टेशन के दूसरी तरफ नवीन स्टेशन बिल्डिंग की स्वीकृति, सिवनी स्टेशन के भवन का काम शीघ्र पूरा किया जाकर उसका शुभारंभ, अमृत भारत योजना में शामिल दोनों स्टेशनों बालाघाट और सिवनी में विकलांगो, बुजर्ग यात्रियों के लिए एक्सीलेटर और लिफ्ट लगाए जाने, ोंदिया में अतिरिक्त प्लेटफार्म निर्माण कराया जाने सहित अन्य मांगे के निराकरण की मांग की गई।

उन्होंने बढ़ते रेल अपराधो को लेकर अति संवेदनशील नक्सल प्रभावित बालाघाट जिले में रेलवे थाना खुलवाने की मांग की गई।


PostImage

Chandrawar Media Service

July 16, 2024

PostImage

मीनाक्षी तालाब में डूबने से युवक की मौत, सिंचाई के लिए पाईप लगा रहा था युवक


बालाघाट :- 

जिले के लालबर्रा थाना क्षेत्र अंतर्गत साले पंचायत के खैरगांेदी में शासन की योजना के तहत बनाए गए मीनाक्षी तालाब में युवक 28 वर्षीय इमानसिंह पिता छतरसिंह गोडगे की डूबने से मौत हो गई। घटना 15 जुलाई की दोपहर लगभग 2.30 से 03 बजे की है, जिसका शव शाम को एसडीईआरएफ और होमगार्ड के बचाव दल ने तालाब से कड़ी मशक्कत के बाद ढूंढकर निकाला गया।

घटनाक्रम के अनुसार युवक, अपने बडे़ पिताजी ज्ञानसिंह गोड़गे के खेत में काम कर रहा था। जिनके खेत में शासन की योजना से बने मीनाक्षी तालाब के पानी से सिंचाई के लिए तालाब के किनारे पाईप लगा रहा था। इसी दौरान वह असंतुलित होकर तालाब में गिर गया। जिसके तालाब में गिरने की आवाज सुनकर परिजन और आसपास खेत में काम कर रहे लोग दौड़े, लेकिन तब तक वह तालाब के गहरे पानी में डूब गया था। जिसके बाद इसकी सूचना लालबर्रा थाना को दी गई। जिसके बाद लालबर्रा थाना से पहुंचे, सहायक उपनिरीक्षक विजय बिसेन, हमराह स्टॉफ के साथ घटनास्थल पहुंचे। 

 जिसके बाद युवक के शव को निकालने निकालने के एसडीईआरएफ की टीम को बुलाया गया। सूचना मिलने पर पहुंचे एसडीईआरएफ की टीम के जवान जोंदरुलाल राहंगडाले, योगेश बनवाले, लेखराम राहंगडाले, ओरीलाल ऐड़े, शेरसिंग खंडाते ने युवक के शव को बाहर निकालकर पुलिस के सुपुर्द किया। जिसके बाद पुलिस ने शव बरामद उसे पीएम के लिए लालबर्रा अस्पताल भिजवाया गया। जिसके शव का आज 16 जुलाई को पीएम कराया जाएगा।


PostImage

Chandrawar Media Service

July 16, 2024

PostImage

बरसात न सिर्फ नागरिकों के लिए बल्कि पशुओं के लिए भी घातक हो सकती है


सीएम हेल्पलाईन पर जून माह में प्राप्त हुई 8127 शिकायतें, 1972 का किया निराकरण

134 पुल पुलिया हुए चिन्हित, संबधित विभाग रखेंगे नजर

बालाघाट :-

जिला पंचायत सीईओ श्री डीएस रणदा और अपर कलेक्टर श्री जीएस धुर्वे ने संयुक्त रूप से समयावधि पत्रों की समीक्षा बैठक की। बैठक में जिपं सीईओ श्री रणदा ने पशुपालन से कहा कि बारिश के दिनों में खाली स्थानों पर जल भराव से वहां कई तरह के मच्छर पैदा हो जाते है। जो नागरिकों के लिए समस्या तो है कि साथ ही घास में घास के ही रंग का एक टिड्डा पशुओं को भी तखलिफ़ देता है। घास के साथ पशु उन्हें खा जाते है, ऐसे में पशुओं का टीकाकरण समय पर कर दिया जाए तो समस्या नहीं होंगी। पशुपालन विभाग द्वारा बताया गया है कि ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण कार्य प्रारम्भ हो चुका है। जिपं सीईओ श्री रणदा ने इस कार्य को प्राथमिकता से पूर्ण करने के निर्देश दिए है। साथ ही उन्होंने सभी जनपद सीईओ को ग्रामीण क्षेत्रों में साफ सफाई और पेयजल आपूर्ति की देखरेख करने के निर्देश दिए है। ऐसे ग्रामीण क्षेत्रों में जहां जल भराव अधिक है वहां सफाई प्राथमिकता से कराए। बैठक में एसडीएम श्री गोपाल सोनी, संयुक्त कलेक्टर श्री केसी ठाकुर डिप्टी कलेक्टर श्री एमआर कोल, राजनंदनी शर्मा व समस्त विभागों के जिला प्रमुख कलेक्टर सभागृह में तथा अनुविभागीय अमला गूगल मीट से जुड़ा।

सीएम हेल्पलाईन पर आने वाली शिकायत विभाग की सक्रियता भी बताता है

टीएल बैठक में जिपं सीईओ श्री रणदा ने सीएम हेल्पलाइन की समीक्षा करते हुए विभागों से कहा कि यह सेवा नागरिकों की समस्या भी बताता है। इससे विभाग भी आंकलन कर सकते है कि ग्रामीण क्षेत्र या शहरी क्षेत्रों में किस तरह की समस्याएं हो रही है। विभाग को उस दिशा में तुरंत क्रियान्वयन कार्य प्रारंभ कर देनी चाहिए। साथ ही विभाग की सक्रियता भी इससे पता चलती है। जिले में 1 जून से 30 जून तक कुल 8127 शिकायतें सीएम हेल्पलाईन के माध्यम से प्राप्त हुई है। इनमें से 1972 शिकायतें निराकृत की गई है। इसमें सबसे अधिक 455 राजस्व विभाग द्वारा निराकृत की गई है। इसके बाद पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा 306 शिकायतें, 224 स्वास्थ्य विभाग द्वारा, 204 शिकायतें विद्युत विभाग द्वारा निराकृत की गई है।

बाढ़ से प्रभावित गांवों में दी जाएगा तैराक व गोताखोरों की सूची

जिपं सीईओ श्री रणदा ने बैठक में बाढ़ व आपदा के सम्बंध में भी सम्बंधित विभागों से जानकारी ली। निर्माण कार्य से जुड़े विभागों से ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों के ऐसे पुल पुलिया जो बारिश में जलमग्न या ड़ूब जाते है। जिले में 4 विभागों के ऐसे 134 पुल पुलिया है जिन पर भारी बारिश से खतरा उत्‍पन्‍न होता हैं। ऐसे पुल पुलिया पर साइनेज तथा सम्बंधित विभाग द्वारा बारिश में निगरानी करने के निर्देश दिए गए है। साथ ही होमगार्ड द्वारा प्रस्तुत की गई तैराक और गोताखोरों की सूची बनाई गई है। अब यह सूची बाढ़ से प्रभावित होने वाले सम्बंधित गांवो को भी दी जाएगी। होमगार्ड का अमला निर्धारित स्‍थलों पर उपयुक्‍त सामग्री के साथ मौजूद रहने के निर्देश दिये गए।

अपर कलेक्टर श्री धुर्वे ने आरबीसी के प्रकरणों के निराकरण पर दिया जोर

बैठक में अपर कलेक्टर श्री जीएस धुर्वे ने समस्त एसडीएम कार्यालयों में लंबित प्राकृतिक आपदा के प्रकरणों की जानकारी ली। साथ ही उन्होंने शीघ्रता से निराकरण करने के निर्देश दिए है। साथ ही उन्होंने न्यायालय अवमानना के प्रकरणों के सम्बंध में भी निर्देश दिए है। बैठक में सर्व शिक्षा अभियान के तहत स्कूल प्रवेश, लंबित पेंशन प्रकरण, जर्जर भवनों में संचालित स्कूल व आंगनवाड़ी, खाद की जांच, प्रवासी श्रमिक और मनरेगा के तहत पौधरोपण के बारे में भी समीक्षा की गई। 


PostImage

Chandrawar Media Service

July 15, 2024

PostImage

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना का होगा विस्तार : मुख्यमंत्री डॉ. यादव


👉बुजुर्गो को प्रदेश के तीर्थ स्थल भी दिखाएं जायेंगे

👉युवाओं को प्रदेश की पुरा-संपदा और प्रसिद्ध स्थानों से करवाएं परिचित

👉मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के क्रियान्वयन की हुई समीक्षा

भोपाल/बालाघाट :-

मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा है कि प्रदेश के वरिष्ठ नागरिकों को देश के प्रसिद्ध तीर्थ स्थलों के साथ ही मध्यप्रदेश स्थित प्रमुख धार्मिक स्थलों के भ्रमण करवाये जाने को दृष्टिगत रखते हुए योजना का विस्तार किया जाए। इसके लिए धार्मिक न्यास और धर्मस्व विभाग आवश्यक अध्ययन कर कार्य-योजना तैयार करे। मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा‍कि प्रदेश के स्थानों की यात्रा से जहां बुजुर्ग यात्रियों को अपने ही प्रदेश के प्रसिद्ध स्थान देखने और देव दर्शन का अवसर मिलेगा वहीं प्रदेश की अर्थव्यवस्था की दृष्टि से भी यह महत्वपूर्ण होगा। प्रदेश की भौगोलिक रचना के कारण नागरिक अनेक तीर्थ स्थान देख नहीं पाते और अपने ही प्रदेश की विशेषताओं से अनजान रहते हैं।

मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने सोमवार को मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के क्रियान्वयन संबंधी मंत्रालय में हुई बैठक में कहा कि युवा वर्ग को भी प्रदेश की पुरा-संपदा और अन्य महत्वपूर्ण स्थलों से परिचित करवाने के लिए अन्य विभाग भी पहल करें। ज्ञान-विज्ञान के केंद्रों, ऐतिहासिक महत्व के स्थानों, प्राकृतिक सुंदरता के स्थानों और पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण स्थानों तक युवाओं को ले जाने से उनके ज्ञान में वृद्धि होगी। जनजातीय विकास विभाग द्वारा प्रत्येक जिले से मेरिट एवं अन्य आधार पर विद्यार्थियों का चयन कर उन्हें प्रदेश के महत्वपूर्ण स्थानों का भ्रमण करवाया जाए। धार्मिक न्यास,धर्मस्व मंत्री श्री धर्मेंद्र सिंह लोधी बैठक में वर्चुअली शामिल हुए। बैठक में मुख्य सचिव श्रीमती वीरा राणा, मुख्यमंत्री के अपर मुख्य सचिव डॉ. राजेश राजौरा, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव श्री संजय कुमार शुक्ला एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।

जनजातीय कलाकारों की सांस्कृतिक यात्रा भी करें आयोजित

मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि प्रदेश के जनजातीय बहुल क्षेत्रों में अनेक लोक गायक, संगीतकार और कलाकार निवास करते हैं। इन्हें प्रदेश के विभिन्न स्थानों के भ्रमण के लिए आमंत्रित किया जाए। वे मंचीय प्रस्तुति के लिये अपनी यात्रा, पारंपरिक वाद्य यंत्रों के साथ करें। विभिन्न देव स्थानों के भ्रमण का लाभ भी उन्हें मिलेगा। ऐसे स्थानों पर आने वाले देश- विदेश के पर्यटकों और श्रद्धालुओं तक कलाकारो की कला भी पहुंचेगी।

देव स्थानों पर

मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि प्रदेश के प्रमुख तीर्थ स्थानों के साथ ही अन्य देव स्थलों पर भी विभिन्न सुविधाओं का विकास आवश्यक है। देव स्थल परिसर सुविधायुक्त हों, इसके लिए विभिन्न संबंधित विभाग सक्रिय रहें। मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने राम राजा की नगरी ओरछा, शारदा माता के स्थान मैहर, बड़ा महादेव मंदिर, चौरागढ़ महादेव, जटा शंकर पचमढ़ी पर व्यवस्थाएं बेहतर करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने प्रदेश में विभिन्न धार्मिक एवं सांस्कृतिक लोकों के निर्माण के संबंध में अधिकारियों से जानकारी प्राप्त की।

आठ लाख नागरिकों को मिला है योजना का लाभ

धार्मिक न्यास और धर्मस्व विभाग द्वारा बैठक में प्रजेंटेशन में बताया गया कि प्रदेश में वर्ष 2012 से प्रारंभ मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना का आईआरसीटीसी द्वारा योजना का संचालन किया जा रहा है। इसमें देश के 41 एकल तीर्थ स्थल और 9 युग्म तीर्थ स्थल सम्मिलित हैं। गत 12 वर्ष में प्रदेश के लगभग 8 लाख श्रद्धालुओं को योजना का लाभ प्राप्त हुआ है। यात्रा के लिए 60 वर्ष से अधिक आयु के नागरिकों का चयन किया जाता है। महिलाओं के लिए दो वर्ष की छूट है। जो नागरिक 65 वर्ष से अधिक आयु के हैं अथवा दिव्यांग हैं उन्हें अपने साथ सहायक ले जाने की पात्रता है। तीर्थ यात्रियों को भोजन, रहने की सुविधा के साथ ही चिकित्सा, सुरक्षा और सड़क परिवहन सुविधा भी उपलब्ध करवाई जाती है। विगत वित्त वर्ष में 29 भारत गौरव ट्रेनों के संचालन से प्रदेश के 18 हजार 480 श्रद्धालु लाभान्वित हुए। वर्तमान वित्त वर्ष में वाराणसी- अयोध्या, रामेश्वरम, द्वारका, जगननाथपुरी, कामाख्या, शिर्डी, हरिद्वार, मथुरा- वृंदावन, बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर की दीक्षा भूमि (नागपुर) और स्वर्ण मंदिर अमृतसर के लिए 35 ट्रेनों की व्यवस्था कराई जाएगी। वर्ष 2023-24 से वायुयान द्वारा तीर्थ यात्रा भी शुरू की गई है। इसका लाभ प्रदेश के 25 जिलों के 790 तीर्थ यात्रियों को प्राप्त हुआ है। इन्हें भोपाल और इंदौर एयरपोर्ट से प्रयागराज, गंगासागर, शिर्डी और मथुरा वृंदावन की यात्राएं कराई गईं।


PostImage

Chandrawar Media Service

July 15, 2024

PostImage

एसएससी आरक्षक परीक्षा में सफल बच्‍चे सरपंच के हस्‍ते हुए सम्‍मानित


बालाघाट :- 

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी के आह्वान ‘एक पेड़ मां के नाम’ को ग्राम पंचायत औलियाकन्‍हार की ओर से उत्‍तम प्रतिसाद मिला। आषाढ़ शुक्‍ल पक्ष की 9वीं तिथि यानी सोमवार को ग्राम पंचायत औलियाकन्‍हार के निर्देशन में औलियाकन्‍हार फिजिकल क्‍लब में ‘एक पेड़ मां के नाम’ वृक्षारोपण कार्यक्रम आयोजित किया गया। वृक्षारोपण के पूर्व कर्मचारी चयन आयोग द्वारा आयोजित आरक्षक की प्रारंभिक परीक्षा में सफल अभ्‍यर्थियों का सम्‍मान सरपंच श्रीमती प्रेमलता बिसेन के हस्‍ते किया गया। वृक्षारोपण में आम, जामुन, पीपल, कटहल, नींबू, बादाम, आंवला एवं अशोक सहित लगभग एक दर्जन प्रजाति के साढ़े तीन सौं पौधों से अधिक का रोपण ग्रामवासियों एवं श्रेष्‍ठ अकादमी लालबर्रा के विद्यार्थियों के हस्‍ते किया गया। इस मौके पर औलियाकन्‍हार फिजिकल क्‍लब के चेयरमैन ओमप्रकाश बिसेन एवं सेक्रेटरी जगन्‍नाथ धानेश्‍वर सहित क्‍लब के प्रशिक्षणार्थी भी उपस्थित रहे। 

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए औलियाकन्‍हार फिजिकल क्‍लब के चेयरमैन ओमप्रकाश बिसेन ने कहा कि हमारे जीवन का एक-एक क्षण दुर्लभ है इसलिए पेड़ को एक मां का रुप देकर हम सब यहां पर एक मां के जीवन की तुलना एक पेड़ से करेंगे। हम यह प्रण करें कि जब तक हम जीवित है तब तक सीएनजी गार्डन में लगाए गए इस पेड़ की रक्षा करेंगे ताकि आप जब-जब भी यहां पर आएं तो आपको हमें गर्व हो कि जिस मां के नाम से हमने इस पेड़ को लगाया वह बड़ा होकर संसार में प्राणवायु ऑक्‍सीजन दे रहा है और फल-फूल प्रदान कर रहा है। 

कार्यक्रम में ग्राम सरपंच श्रीमती प्रेमलता बिसेन, सचिव सन्‍तलाल पन्‍द्रे, श्रीमती निशा ब्रम्‍हे रोजगार सहायक, शीतलप्रसाद हरिद्वाज, श्रीमती पुष्‍पा चौहान, सरला यादव, संदीप गुनेश्‍वर, झामसिंह राणा, नीलकंठ नागेश्‍वर, महेन्‍द्र चौहान, तपेश रंगारे, सुभाष गुनेश्‍वर, भूमेश्‍वर कटरे, उम्‍मेद चावले, उमाप्रसाद नागेश्‍वर एवं अन्‍य ग्रामीण जन उपस्थित रहे।

 पांच सफल अभ्‍यर्थियों का हुआ सम्‍मान

कर्मचारी चयन आयोग द्वारा आयोजित कांस्‍टेबल जीडी प्रारंभिक परीक्षा में सफल रेशमा बनवाले गर्रा (लालबर्रा), अलका रहांगडाले गर्रा (वारासिवनी) रितिक कटरे कामथी (वारासिवनी), अनुज टेम्‍भरे औलियाकन्‍हार एवं मासूम टेम्‍भरे पाथरसाही को ग्राम सरपंच ने श्रीफल एवं नगद पांच-पांच सौ रुपए की राशि देकर सम्‍मानित किया और उनके फिजिकल एफिसियेन्‍सी टेस्‍ट के लिए शुभकामनाएं दी। उपरोक्‍त सभी सफल अभ्‍यर्थी औलियाकन्‍हार फिजिकल क्‍लब के नियमित सदस्‍य है। औलियाकन्‍हार फिजिकल क्‍लब की गवर्निंग बाडी ने भी इन सफल प्रत्‍याशियों को बधाई देते हुए आगामी परीक्षा हेतु शुभकामनाएं दी।


PostImage

Chandrawar Media Service

July 15, 2024

PostImage

प्रगतिशील कुनबी समाज ने किया समाज के प्रतिभावान 124 बच्चो का सम्मान,


 👉 मनाया गया समाज का स्थापना दिवस

बालाघाट। समाज की प्रतिभाओं का प्रोत्साहित करने की मंशा से प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी प्रगतिशील कुनबी समाज के 33 वें स्थापना दिवस पर समाज के प्रतिभावान छात्र, छात्राओं का सम्मानित किया गया।

14 जुलाई को समाज के छत्रपति शिवाजी सांस्कृतिक भवन में आयोजित इस कार्यक्रम में बतौर अतिथि संरक्षक भागवत कुथे, मनीराम भोयर, सीमा सिंह, अध्यक्ष सुनील खोटेले, शिवशंकर शिवणकर, श्रीराम दानी, रवि दोनाड़कर उपस्थित थे।

कार्यक्रम का शुभारंभ समाज के आराध्य और हिन्दु सम्राट छत्रपति शिवाजी महाराज, संत तुकाराम और सरदार पटेल के छायाचित्र पर माल्यार्पण के साथ किया गया। इस अवसर पर अतिथियों ने समाज के स्थापना दिवस और प्रतिभावान बच्चों को प्रेरित किया।

जिसके बाद अतिथियों के हस्ते समाज के कक्षा दसवीं एवं बारहवीं के 75 प्रतिशत से ज्यादा अंक अर्जित करने वाले 124 सामाजिक छात्र, छात्राओं को नगद राशि, प्रमाण पत्र और मोमेंटो से सम्मानित किया गया।

जिलाध्यक्ष सुनील खोटले ने बताया कि 14 जुलाई 1991 को प्रगतिशील कुनबी समाज की स्थापना, समाज के आराध्य और हिन्दवी स्वराज की स्थापना करने वाले शिवाजी महाराज के आदर्शाे पर लेकर की गई थी। चूंकि यह शिवाजी महाराज द्वारा स्थापित हिन्दवी स्वराज स्थापना का 350 वां वर्ष देश मना रहा है। जिसकी उत्साह भी सामाजिक लोगो में है। उन्होंने कहा कि स्थापना दिवस पर सामाजिक प्रतिभाओ का सम्मान, समाज की ओर से प्रोत्साहन के रूप में होता है ताकि समाज के अन्य बच्चों को इससे प्रेरणा मिले।

इस दौरान कीर्ति ठाकुर, दिलीप बहेकार, शिवचरण घोरमोड़े, सेवक कुथे, प्रेमलाल हाथिमारे, बेनीराम झलपे, सेवकराम पंेढर, देवन दानी, कामेश्वर ढबाले, संजय डायरे, हीरालाल ढांडे, प्रमोद सपाटे, चैतराम सपाटे, विनोद पारधी, अरविंद पारधी, पितांबर दानी, श्रीपाल अंगुरे, जयप्रकाश बेदरे, कल्पना बहेकार, सीमा फुंडे, नलिनी थेरकर सहित अन्य सामाजिक बंधु, प्रतिभावान छात्र, छात्राएं उपस्थित थे। 


PostImage

Chandrawar Media Service

July 15, 2024

PostImage

भरवेली में आयोजित स्वास्थ्य शिविर में की गई सौ से ज्यादा लोगों की जांच


बालाघाट :-

14 जुलाई को भरवेली पंचायत में स्वास्थ्य जांच एवं शिविर का आयोजन किया गया। सीआरपीएफ सीईओ तेजिंदर कौर के मार्गदर्शन में आयोजित इस शिविर में पंचायत क्षेत्र के 100 से ज्यादा ग्रामीणों की जांच की जाकर उन्हें आवश्यकतानुसार दवाएं भी उपलब्ध कराई गई। यह अच्छी बात है कि जिले के कोसमी पंचायत की तरह, यहां कोई भी डायरिया का मरीज नहीं मिला। हालांकि मौसमी बीमारी सर्दी, खांसी, जुकाम के मरीज सामने आए, जिनकी चिकित्सकों ने जांच कर उचित परामश्र दिया है।

            भरवेली पंचायत सरपंच गीता अनिल बिसेन ने बताया कि हाल ही में मुख्यालय से लगी पंचायत कोसमी में एकाएक डायरिया बीमारी बढ़ने की घटना को देखते हुए ऐतिहातन तौर पर, सीआरपीएफ कमांडेट तेजिंदर कौर के मार्गदर्शन में पंचायत क्षेत्र के लोगों के स्वास्थ्य जांच और उपचार शिविर का निर्णय लिया। शिविर 14 जुलाई को शिविर भरवेली पंचायत के मस्जिद के पास पटेल बाड़ा के सामने प्रातः 10 बजे से सायंकाल तक आयोजित किया गया। जिसमें प्रमुख रूप से सीनियर मेडिकल ऑफिसर संतोष कुमार एवं सीआरपीएफ का पैरामेडिकल स्टाफ और उप स्वास्थ्य केंद्र भरवेली के मेडिकल स्टाफ द्वारा द्वारा ग्रामीणों की निःशुल्क जांच और उपचार किया गया। इस दौरान पंचायत सरपंच, सचिव और पंच सहित ग्रामीण मौजूद थे।


PostImage

Chandrawar Media Service

July 14, 2024

PostImage

मध्यप्रदेश के 55 पीएम कॉलेज ऑफ एक्सीलेंस में एक  महाविद्यालय बालाघाट का भी


कॉलेज को वाणिज्य व प्राणिशास्त्र विषय में रिसर्च की मिली स्वीकृति

सांसद श्रीमती भारती पारधी ने किया पीएम कॉलेज ऑफ एक्सीलेंस शासकीय जटाशंकर त्रिवेदी स्नातकोत्तर महाविद्यालय का उद्घाटन

देश के गृह मंत्री श्री अमित शाह ने रविवार को इंदौर से प्रदेश के 55 पीएम कॉलेज ऑफ एक्सीलेंस का उद्घाटन किया है। इन 55 महाविद्यालयों में बालाघाट के शासकीय जटाशंकर त्रिवेदी स्नातकोत्तर महाविद्यालय को भी पीएम कॉलेज ऑफ एक्सीलेंस में अपग्रेड करते हुए सौगात मिली है। बालाघाट में पीएम कॉलेज ऑफ एक्सीलेंस शासकीय जटाशंकर त्रिवेदी स्नातकोत्तर महाविद्यालय व कॉलेज के लिए बस सेवा, भारतीय ज्ञान परम्परा एवं विद्या वन प्रकोष्ठ तथा मप्र ग्रंथ अकादमी का उद्घाटन सांसद श्रीमति भारती पारधी ने किया। इस दौरान सांसद श्रीमती पारधी ने विद्यार्थियों को आशीर्वचन के रूप में सम्बोधित करते हुए कहा कि विषय में योग्यता विकसित करेंगे तो आगे विकास की राह पर कदम बढ़ेंगे। भगवान ने किसी भी सफल व्यक्ति को अलग नहीं बनाया, सब एक जैसे है। फर्क सिर्फ लक्ष्य निर्धारण और उनको पूरा करने के प्रति उनकी लगन का है। साथ ही उन्होंने कहा कि प्रदेश में विकास के लिए कई प्रयोग हुए है। जो सफल भी है। उनमें से एक प्रयोग सीएम राइज स्कूल का था। जो आज बहुत सफल है। खासकर बालाघाट के सीएम राइज स्कूल की बात की जाए तो यह प्रदेश के मॉडल स्कूल के रूप में है।

सबके जीवन उतार चढ़ाव और संघर्ष से भरे हैं

महाविद्यालय के उद्घाटन कार्यक्रम की मुख्य अतिथि श्रीमती पारधी ने कहा कि इस हॉल व बाहर पूरी दुनिया में जो भी लोग है। उन सभी का जीवन उतार चढ़ाव और संघर्ष से भरें है। उनके लक्ष्य के प्रति साधना ने उन्हें सफलता के मुकाम तक पहुँचाया है। उन्होंने जिले के विकास के सम्बंध में कहा कि विकास में सबके सहयोग की आवश्यकता होगी। सबके सहयोग से निरंतर विकास की ओर बढ़ेगी।

विधायकों ने भी दी शुभकामनाएँ

कार्यक्रम के दौरान मौजूद जिले के विधायकों ने भी महाविद्यालय के पीएम कॉलेज और एक्सीलेंस में  चयन होने पर शुभकामनाएं दी। बालाघाट विधायक श्रीमति अनुभा मुंजारे ने विद्यार्थीयो से कहा कि आप सबको शिक्षा के प्रति आकर्षित होना होगा। जीवन में कुछ पाने के लिए अपने-अपने लक्ष्य के साथ ही शिक्षा को अपने अंदर उतारना होगा। लांजी विधायक श्री राजकुमार कार्रहे ने अपने महाविद्यालयीन दिनों को याद करते हुए लक्ष्य के प्रति उनकी ललकता के उदारहण प्रस्तुत किये। उन्होंने वर्ष 2012 में बनाये गए विजिटिंग कार्ड एक विद्यार्थी से पढ़ाकर सबको लक्ष्य के प्रति रोमांचित किया।

विद्यार्थियों के लिए प्रोजेक्ट व फंडिंग की व्यवस्था कटंगी विधायक करेंगे

कार्यक्रम के दौरान कटंगी विधायक श्री गौरव पारधी ने सम्बोधन में विद्यार्थियों से कहा कि अब पीएम कॉलेज ऑफ एक्सीलेंस शासकीय जटाशंकर त्रिवेदी स्नातकोत्तर महाविद्यालय में वाणिज्य व प्राणिशास्त्र विषय मे रिसर्च शुरू होंगे। इसके लिए ऐसे विद्यार्थियों के लिए उनके पास प्रोजेक्ट भी है। साथ ही प्रोजेक्ट पूरा करवाने के लिए फंडिंग की भी व्यवस्था स्वयं करेंगे। कार्यक्रम के दौरान नपा अध्यक्ष श्रीमती भारती ठाकुर ने भी सम्बोधित किया। साथ ही जनभागीदारी समिति की अध्यक्ष श्रीमती मौसम हरिनखेड़े ने भी सम्बोधित किया। साथ ही उद्योगपति व महाविद्यालय की भूमि दान करने वाले श्री जटाशंकर त्रिवेदी के पौत्र श्री किरनभाई त्रिवेदी ने भी सम्बोधित कर सबको पीएम कॉलेज ऑफ एक्सीलेंस बनने की बधाई दी। उन्होंने इस क्षण को परिवार और जिले के लिए गौरव का दिन बताया। कार्यक्रम का स्वागत सम्बोधन प्राचार्य श्री पीआर चन्देलकर ने दिया। कार्यक्रम में अपर कलेक्टर श्री जीएस धुर्वे, एसडीएम श्री गोपाल सोनी, जिला परिवहन अधिकारी श्री अनिमेष गढ़पाले व कॉलेज का स्टॉफ एवं बड़ी संख्या में विद्यार्थी मौजूद रहें।


PostImage

Chandrawar Media Service

July 13, 2024

PostImage

बालाघाट में गुरूपूर्णिमा महोत्सव को लेकर आर्ट आँफ लिविंग की हुई बैठक 


👉16 से 21 हैप्पीनेस योग शिविर

👉21 को पौधारोपण,सुदर्शन क्रिया

 👉22 को सुमेरू भजन सँध्या के साथ होगा आयोजन

आर्ट आँफ लिविंग जिला समन्वयक ऋितु मोहारे ने बताया कि 11 जुलाई को आर्ट आँफ लिविंग स्वयंसेवकों द्वारा स्थानीय एक होटल के हाँल में योग,प्राणायाम व सुदर्शन क्रिया करने के पश्चात आने वाली 21 जुलाई को गुरूपूर्णिमा महोत्सव की तैयारियों को लेकर चर्चा की गई जिसमें सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि गुरूपूर्णिमा के अवसर पर आर्ट आॅफ लिविंग द्वारा प्रत्येक वर्षानुसार इस दिन को हरियाली महोत्सव के साथ ही सेवा-साधना-सत्संग के साथ मनाया जायेगा,वहीं 21 जुलाई को सुबह06:30 बजे से सर्वप्रथम स्टेडियम कराटे हाँल में विश्व विख्यात सुदर्शन क्रिया के पश्चात व्रहदस्तर पर पौधारोपण मोती तालाब की पार के आस-पास किया जायेगा । साथ ही यह दिन गुरूजनों की अराधना का विशेष पर्व होता है जिसको महोत्सव के रूप में मनाने के लिये दि. 22 जुलाई दिन सोमवार को रात्री 08 बजे से स्थानीय शीतल पैलेस होटल सभागार में सुमधुर भजन-सँध्या का आयोजन बैंगलोर से आ रहे अन्तर्राष्ट्रीय भजन गायक रोहित श्रीधर द्वारा सुमधुर भजनों की प्रस्तुति दी जायेगी , जिसके बाद महाप्रसाद का वितरण भी किया जावेगा जिसमें सभी आमजनों से उपस्थिति की अपील आर्ट आँफ लिविंग स्वयंसेवकों ने की है , जिस तरह हम गुरू की शरण में शिक्षा ग्रहण कर एक परिपक्त्व इंसान बनते हैं, उसी तरह हम प्रकृति की शरण में रहकर अपने जीवन को सुरक्षित व आनंदमय बनाते हैं, लेकिन सोचो जब गुरू ही नहीं रहता तो इंसान मार्ग विहिन होता चला जाता, ठीक वैसे ही प्रकृति ही नहीं रहेगी तो मानव जीवन कहां सुरक्षित है, अभी भी वक्त है, हम सब प्रकृति के प्रति सजग रहकर उसे इतना हरा-भरा बनाये कि वर्तमान में जिस तरह का पर्यावरण में असन्तुलन का परिद्रश्य पूरी दुनिया में देखने मिल रहा है, उसे संतुलित कर सके।

इन्हीं सब बातों को लेकर आर्ट आॅफ लिविंग संस्था द्वारा व्रक्षारोपण कर उनके संरक्षण का संकल्प लिया जायेगा,साथ ही इस व्रक्षारोपण अभियान को सभी स्वयं सेवी संस्था, शैक्षणिक, धार्मिक, व्यापारिक सहित अनेक संगठनों के साथ करेंगे,वहीं इस पौधारोपण अभियान में नगर पालिका परिषद बालाघाट का सहयोग से प्रतिवर्षानुसार मिलने वाले सहयोग के लिये करने हेतु आर्ट आँफ लिविंग के स्वयंसेवक मिलकर चर्चा करेंगे,जिससे निश्चित ही जिले को हरा-भरा बनाने में कारगार कदम सिद्ध होगा, गुरूपूर्णिमा पर होगा हैप्पीनेस योग शिविर-: गुरूपूर्णिमा के पावन अवसर पर ही 16 से 21 जुलाई तक सुदर्शन क्रिया,प्राणायाम,ध्यान व आसन सीखाने के लिये हैप्पीनेस योग शिविर का आयोजन योग-आसन,प्राणायाम व विश्व विख्यात सुदर्शन क्रिया सीखाने प्रशिक्षक अरविन्द बालपाण्डेजी के सानिध्य में किया जा रहा है जिस शिविर में गुरूदेव श्री श्री रविशंकरजी के द्वारा उध्द्रत सिखाई जाने वाली सुंदर्शन क्रिया के अनेक लाभ होते हैं वही अनेक वैश्विक संस्थानों के द्वारा सुदर्शन क्रिया पर किये गये शोध में इसके अनेक सकारात्मक परिणाम सामने आये हैं शोध परिणाम में पाए गए सुदर्शन क्रिया के लाभ-: तनाव के समय उत्सर्जित होने वाला हार्मोन को कम करता है,रक्त में लैकटेट एसिड का स्तर कम होता है।हानिकारक कोलेस्ट्रॉल(एल.डी.एल)कम होता है और लाभकारी कोलेस्ट्रॉल(एच.डी.एल) बढ़ता है।मस्तिष्क को तनाव रहित करने वाला हार्मोन बढ़ता है।

एन्टीसैप्टिक आँक्सीडेन्ट इससे बढ़ते हैं जिससे हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।वहीं इससे तनाव रहित शांत मन,स्वस्थ शरीर एवं भरपूर स्फूर्ति,जीवन में आनंद एवं उत्साह,आत्मिक खोज एवं आध्यात्मिक उन्नति,चिंताओं, उत्तेजनाओं एवं अवसाद से मुक्ति बेहतर भावनात्मक एवं मानवीय संबंध,बेहतर शरीरिक क्षमता,बेहतर एकाग्रता,क्रोध पर नियंत्रण के साथ ही नींद में सुधार ठीक उसी प्रकार सुदर्शन क्रिया हमें तनाव मुक्त कर हमारे अंदर उत्साह का संचार करती है। इस क्रिया के फलस्वरूप हम अपने लक्ष्य पर केंद्रित रखकर जीवन का सफलतापूर्वक आंनद ले सकते हैं। जैसी बातों का लाभ सुदर्शन क्रिया करने से होता है| जिस शिविर में 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के सभी युवा पुरूष महिला व बुजुर्ग शामिल हो सकते हैं | आर्ट ऑफ लिविंग जीवन जीने की कला शिविर आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक और इंटरनेशनल एसोसिएशन फॉर ह्यूमन वैल्यूज़ के प्रणेता श्री श्री रविशंकर जी के मानवीय मूल्यों और विश्व शांति को सेवा परियोजनाओं के द्वारा प्रोत्साहित कर रहे हैं। श्री श्री को उनके कार्यों के लिए कई पुरुस्कारों से सम्मानित भी किया गया है। 

विश्वविख्यात आध्यात्मिक एवं मानवतावादी गुरु श्री रवि शंकरजी ने विश्व को एक अद्भुत श्वास प्रक्रिया सुदर्शन क्रिया से परिचित कराया है। इसके अभ्यास से तनाव रहित मन और स्वस्थ शरीर प्राप्त होता है तथा जीवन शारीरिक, मानसिक व भावनात्मक रूप से विकसित होता है। सुदर्शन क्रिया से पूरे विश्व में करोड़ों लोग लाभान्वित हुए हैं। सुदर्शन क्रिया क्या है? जिस प्रकार कुछ शब्दों को सुरों में पिरो दिया जाए तो एक मधुर गीत बन जाता है, ठीक उसी प्रकार सुदर्शन क्रिया में सांसो को एक ऐसी धुन में पिरोया गया है जो कि हमारे शरीर, दिमाग व विचारों, को प्रकृति के साथ एक लय में ले आता है। जिस प्रकार मधुर संगीत हमें थकान, तनाव एवं नकारात्म विचार जैसे कि कुंठा, गुस्सा, ग्लानि आदि से मुक्ति दिलाकर मन को प्रसन्न करता है, ठीक उसी प्रकार सुदर्शन क्रिया हमें तनाव मुक्त कर हमारे अंदर उत्साह का संचार करती है। इस क्रिया के फलस्वरूप हम अपने लक्ष्य पर केंद्रित रखकर जीवन का सफलतापूर्वक आंनद ले सकते हैं।


PostImage

Chandrawar Media Service

July 13, 2024

PostImage

बालाघाट जिले में अब तक 10 इंच से अधिक हुई वर्षा


सबसे अधिक वर्षा परसवाड़ा तहसील में 13 इंच से और सबसे कम खैरलांजी में 4 इंच से अधिक हुई बारिश

बालाघाट :-

भू-अभिलेख कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार अब तक जिले की 11 तहसीलों में कुल औसत वर्षा 263.8 मिमी वर्षा हुई है। अगर इंच में बारिश देखें तो 1 जून से लेकर अब तक 10इंच से अधिक वर्षा चुकी है। तहसीलवार बारिश की स्थिति जाने तो अब तक सबसे अधिक वर्षा परसवाड़ा तहसील में 13 इंच से अधिक यानी 339.3 मिमी हुई है। इसके बाद बैहर तहसील में 336.8 मिमी 13 इंच से अधिक, वारासिवनी में 325.6 मिमी 13 इंच, बिरसा में 318.5 मिमी. 12 इंच से अधिक, तिरोड़ी में 301.1 मिमी करीब 11 इंच, बालाघाट में 286.4 मिमी 11 इंच से अधिक, लालबर्रा में 258 मिमी 10 इंच से अधिक, कटंगी में 253.1 मिमी 10 इंच से अधिक, किरनापुर में 195.6 मिमी 7 इंच से अधिक, लांजी में 168.7 मिमी 6 इंच से अधिक और सबसे कम खैरलांजी में 122.2 मिमी अर्थात 4 इंच से अधिक वर्षा हुई है।

पिछले 24 घण्टे में सबसे अधिक वर्षा किरनापुर तहसील में

जिले में बीते 24 घंटो के दौरान सबसे अधिक वर्षा किरनापुर तहसील में 45 मिमी अर्थात 2 इंच के करीब वर्षा रिकॉर्ड की गई है। वहीं लांजी में 39.8 मिमी 1 इंच से अधिक, कटंगी में 23.6 मिमी, बैहर में 20 मिमी, बिरसा में 17.8 मिमी, तिरोड़ी में 16.3 मिमी, वारासिवनी व बालाघाट में 6.2-6.2 मिमी, लालबर्रा में 6 मिमी और परसवाड़ा में 1.2 मिमी वर्षा रिकॉर्ड हुई है।


PostImage

Chandrawar Media Service

July 13, 2024

PostImage

विकासखंड, जिला औए राज्य स्तरीय सर्वोत्तम किसान की तैयारियां प्रारम्भ


बालाघाट :-

प्रति वर्ष सब मिशन ऑन एग्रीकल्बर एक्सटेंशन "आत्मा" अंतर्गत विकासखंड स्तरीय, जिला स्तरीय और राज्य स्तरीय सर्वोत्तम कृषक तथा सर्वोत्तम कृषक समूह को पुरस्कृत किया जाता है। वर्ष 2024-25 के लिए इस पुरस्कार की तैयारी प्रारम्भ हो गई है। मिशन परियोजना संचालक अर्चना डोंगरे ने बताया कि इसके लिए जिले के कोई भी किसान निर्धारित प्रारूप में प्रविष्टियां प्रस्तुत कर सकता है। इसके लिए समस्त विकासखंड के वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी और ब्लाक टेक्नालाजी मैनेजर से संपर्क कर सकते है। इसके लिए विभाग का एक निर्धारित प्रारूप है जिसमें किसान व उसके द्वारा की जा रही गतिविधियां आदि की जानकारी भरकर 31 अगस्त 2024 तक कार्यालयीन समय में प्रस्तुत की जा सकती है। साथ आवेदन या निर्धारित प्रारूप को अपने क्षेत्र के विषय वस्तु विशेषज्ञ एवं ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी से सत्यापित कराना होगा। आवेदन के साथ संबंधित गतिविधियों का प्रमाण (वर्ष 2023-24 के) भी प्रस्तुत कर सकते है। जैसे उपज, विक्रय रसीद, परमिट की छायाप्रति इत्यादि। आवेदन फार्म के साथ कृषक समूह को स्वयं का फोटो मोबाइल नम्बर, दूरभाष नम्बर, बैंक का नाम, ब्रांच का नाम, एकाउंट नम्बर, आई. एफ.एस.सी. कोड, आधार कार्ड की छायाप्रति देना अनिवार्य है।

सर्वोत्तम किसान चयन की ये है प्रक्रिया, 10, 25 और 50 हजार रुपये तक पुरस्कार

आवेदन बिना साक्ष्य के पाये जाने व अपूर्ण भरे जाने पर समिति द्वारा निरस्त किये जायेंगे। सर्वोत्तम कृषक व समूह का चयन प्रक्रिया जिला स्तर पर कलेक्टर महोदय की अध्यक्षता में समिति तैयार कर समिति द्वारा निर्धारित प्राप्तांकों के आधार पर की जायेंगी। विकासखंड स्तरीय, जिला स्तरीय व राज्य स्तरीय सर्वोत्तम कृषकों हेतु पुरस्कार राशि क्रमशः 10000 (दस हजार रूपये), 25000 (पच्चीस हजार रूपये) व 50000 (पचास हजार रूपये) एवं सर्वोत्तम कृषक समूह हेतु 20000 (बीस हजार रूपये) पुरस्कार का प्रावधान है।


PostImage

Chandrawar Media Service

July 13, 2024

PostImage

जिला पंचायत उपाध्यक्ष राजा लिल्हारे ने शाला के ग्रामीण बच्चों को किया लेखन सामग्री का वितरण, एक पेड़ मां के नाम रोपित किया पौधा


 

बालाघाट। अपने चिरपरिचत शैली में जिला पंचायत उपाध्यक्ष राजा लिल्हारे ने जिले के रोशना पंचायत के शासकीय माध्यमिक स्कूल मंे स्कूली विद्यार्थियो को लेखन सामग्री में पेन, कॉपी और अन्य सामग्री का वितरण किया। इसके साथ ही उन्होंने शालेय परिवार के साथ एक पेड़ मां के नाम अभियान के तहत पौधो का रोपण किया।

गौरतलब हो कि जिला पंचायत उपाध्यक्ष राजा लिल्हारे, सालों से परसवाड़ा क्षेत्र के ग्रामीण क्षेत्रो में संचालित शासकीय विद्यालयों के विद्यार्थियों को पठनीय और लेखन सामग्री का वितरण करते चले आ रहे है, चूंकि प्रतिवर्ष जुलाई में स्कूल प्रारंभ होने के बाद स्कूलो में अध्ययनरत विद्यार्थियांे को पठनीय और लेखन सामग्री वितरित किए जाने से अब यह परंपरा बन गई है, जिसे अनवरत रूप से जिला पंचायत उपाध्यक्ष और शिक्षा समिति सभापति राजा लिल्हारे निभा रहे है।

उपाध्यक्ष राजा लिल्हारे ने कहा कि वैसे तो शासन, शासकीय स्कूलो में अध्ययनरत विद्यार्थियांे को सारी सुविधा देती है लेकिन मेरे राजनीतिक सेवा की शुरूआत से वह यह कार्य करते चले आ रहे है, जिससे उन्हें आत्मिक सुख का अनुभव होता है। यही कारण है कि वह ग्रामीण क्षेत्र के विद्यार्थियों को किसी प्रकार की शिक्षा में कोई कमी ना हो, इस भाव के साथ वह प्रतिवर्ष, शिक्षा सत्र के प्रारंभ से वह ग्रामीण क्षेत्रो के स्कूलों के विद्यार्थियों को पढ़ाई के लिए उपयोग होने वाली कॉपियो और पेन का वितरण करते है। ताकि कोई भी बच्चा आभावों में शिक्षा से दूर ना हो। उन्होंने कहा कि अब यह हमारी परंपरा बन गया है।

शुक्रवार को शासकीय माध्यमिक शाला रोशना में शिक्षा समिति सभापति और जिला पंचायत उपाध्यक्षा राजा लिल्हारे ने, विद्यालय के लगभग सवा सौ विद्यार्थियों को कॉपियों और पेन का वितरण किया। इसके साथ ही उन्होंने पंचायत प्रतिनिधि जनपद पंचायत बालाघाट उपाध्यक्ष शंकरलाल बिसेन, रोशना पंचायत सरपंच राजेन्द्र डोंगरे, विद्यालय प्रधानपाठक रामेश्वर चौधरी, ईश्वरदयाल हरिनखेड़े, पंचायत सचिव ओमेश्वरी बिसेन, शिव मस्करे, योगेश मुरकुटे, मनोज चौरे, प्रमोद घोड़ेश्वर, श्रीवास्तव मेम, गिरीश ठाकुर सहित शालेय परिवार और ग्रामीणो की मौजूदगी में एक पेड़ मां के नाम अभियान के तहत स्कूल परिसर में पौधो का रोपण किया।


PostImage

Chandrawar Media Service

July 12, 2024

PostImage

अवैध उर्वरक, कीटनाशक और ब्रॉंडेड शासकीय बोरियॉ जब्‍त


दो मंजिला भवन में चल रहें गोरखधंधे पर कृषि विभाग ने की कार्रवाई

फर्म संचालक व सहयोगी सहित 2 कंपनियों के खिलाफ प्रतिवेदन प्रस्‍तुत

बालाघाट :-

जिले के वारासिवनी में कृषि विभाग ने कटंगी रोड़ के काशल घराना उत्कर्ष सिटी परिसर स्थित गोदाम में नकली खाद, बीज और कीटनाशकों का ज़खीरा पकड़ा है। यहां अवैध उर्वरक, कीटनाशक और ब्रांडेड बीज कंपनियों की प्रिंटेड बोरियाँ और सिलाई मशीन जब्त की गई है। इस मामलें में वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी श्रीमती प्रतिभा टेम्भरे ने बताया कि एग्रीजोन के संचालक श्री अजय कटरे और पौरुष भगत द्वारा गोदाम में प्रिंटेड शासकीय बोरी और अन्य बोरियों में सुपर फॉस्फेट को डाय अमोनियम बनाकर भेजने का काम करते हुए पकड़ा गया है। गोदाम से सिलाई मशीन के साथ ही प्रिंटेड बोरियाँ भी पायी गई। गोदाम से प्राप्त सामग्री के बिल वाउचर भी संचालक के पास नहीं पाए गए। पायी गई सामग्री भी बिना लॉट नम्बर की थी। साथ ही गोदाम के ऊपरी तल के कमरों में अवैध पैकिंग व वैधता अवधि समाप्त हुए कीटनाशकों के ड्रम पाये गए। गोदाम में रखी ब्रांडेड कंपनियों की प्रिंटेड बोरियों को वाहन क्रमांक जीसी-04-एमटी-1186 में भरकर अन्यत्र परिवहन कर छुपाने की कोशिश की जा रही थीं। इसके बाद तत्काल पुलिस को सूचना देकर आगे की जांच की गई। जांच के बाद कई तरह की अनियमितताएं सामने आयी है। कृषि विभाग द्वारा पुरी कार्यवाही का प्रतिवेदन कलेक्‍टर डॉ. गिरीश कुमार मिश्रा और पुलिस थाना वारासिवनी में प्रस्‍तुत किया गया।

अवैध उर्वरक, रासायनिक व जैविक कीटनाशक किया जब्‍

कृषि उपसंचालक श्री राजेश कुमार खोबरागढ़े ने बताया कि कृषि और पुलिस विभाग द्वारा की गई इस कार्रवाई में चित्तौड़गढ़ राजस्थान की जुबिलेंट एग्री एंड कंज्यूमर प्रा.लि. का सुपर अल्ट्रागोल्ड की 50 कि.ग्रा. के भर्ती में 1200 बोरियों में 600 क्विंटल उर्वरक बरामद की गई। वहीं छत्तीसगढ़ राजनांदगांव की कंपनी कविता बॉयो फर्टिलाइजर की आनंद छाप सुपर पावडर की 50 किग्रा की भर्ती में 300 बोरियों में कुल मात्रा 150 क्विंटल, अहमदाबाद की सूजल जीपी. एग्रो लाईफ की 50 किग्रा.भर्ती में 93 बोरियों कुल मात्रा 46.50 क्विटल उर्वरक जब्‍त किया गया। इसके अलावा गुजरात राजकोट की जीपी एग्रो लाइफ कंपनी के हैक्जाकोनाजोन के 20 बाक्‍स, थायनेट 10-जी के 80 ड्रम, छत्‍तीसगढ़ दुर्ग की कंपनी फार्मर बायोग्राफ साइंस के 42 बॉक्‍स तथा गुजरात की कंपनी जीपी एग्रो लाइफ के काग्रोमेन फंजीसाइड के 06 बॉक्‍स भी बरामद हुये। वहीं जैविक कीटनाशकों में जीएस ग्राफ साइंस कुमारखेड़ा की कंपनी के सर्वशक्ति जाइम की 200 बाल्‍टी, पारस विटा गोल्‍ड आर्गेनिक मैन्‍यूर की 50 बाल्टियॉ, रूट पावर की 28 बाल्टियॉ, फ्युरेन 3-जी कार्बोफ्युरान के 35 बैग तथा अन्‍य कीटनाशकों में केनान सल्‍फर, जेल्‍शन, आतंक बुस्‍टर, थार-30, क्‍योटेक सूपर, एसपी क्‍लोरोसील की कुल 1000 बॉटल और ब्रॉण्‍डेड कंपनियों की खाली प्रिंटेड बोरियॉ काफी मात्रा में पायी गई। इसमें एनपीके 20.20.00.13 ब्राण्ड की इण्डियन पोटाश लि.मि. की लगभग 400 बोरियॉ, 18:46:0 इफको की 1200 बोरियों, किसान पावर एनपीके 12:32:16 ऑर्गेनिक फर्टीलाईजर की 1500 बोरियों आनंद छाप किसान की पहली पसंद सुपर दानेदार निर्माता कम्पनी कविता बायो फर्टीजाईजर परमालकसा जिला- राजनांदगाँव की 50 बैग, चिन्नुर सीड्स प्रोड्यूसर कम्पनी लि.मि. वार्ड 21 सर्किट हाऊस रोड़ बालाघाट की 100 बैग, रतनदीप पेडी सीड्स सावंगी तहसील-वारासिवनी, जिला-बालाघाट की 150 बैग का अवैध भण्डारण करना पाया गया।

आवश्‍यक वस्‍तु अधिनियम और बीज अधिनियम के अलावा कई प्रावधानों में प्रकरण दर्ज

गुरुवार देर शाम को हुई इस कार्यवाही के बाद शुक्रवार को कृषि विभाग द्वारा एफआईआर दर्ज कराने के लिये वारासिवनी थाने में प्रतिवेदन प्रस्‍तुत किया गया। प्रतिवेदन में ग्राम नरोड़ी एग्रीजोन के संचालक श्री अजय कटरे और खैरलांजी तहसील में खरखड़ी के निवासी पौरूष भगत के अलावा जुबीलैंट एग्री एंड कंज्‍यूमर प्रा.लि चित्‍तौगढ़ व कविता बायो फर्टिलाईजर राजनांदगांव पर एफआईआर दर्ज कराने के लिये उल्‍लेख किया गया है। प्रतिवेदन में भारतीय न्‍याय संहिता 2023 की धारा-318(4), धारा-3(5), आईपीसी की धारा-420 आवश्‍यक वस्‍तु अधिनियम 1955 की धारा-3 व 7, उर्वरक नियंत्रण आदेश 1885 की धारा-7,8,35 व 19, बीज अधिनियम 1966, बीज नियंत्रण आदेश 1983 की धारा-9 तथा कीटनाशीं अधिनियम 1971 की धारा-3, 13 व धारा-10(1)(डी) का स्‍पष्‍ट उल्‍लंघन करने का उल्‍लेख किया गया हैं।   


PostImage

Chandrawar Media Service

July 12, 2024

PostImage

आजीविका मिशन की दीदियों की अनूठी पहल


वनीय क्षेत्र में बीजारोपण की तैयारी सीड बॉल बनाकर मेढ़, बाड़ी और जंगल में छिड़कने की तैयारी

बालाघाट :-

एक पेड़ माँ के नाम अभियान के तहत जिले में पौधरोपण का कार्य तो जारी है ही लेकिन इससे हटकर बिरसा के मछुरदा गांव की स्व सहायता समूह से जुड़ी दीदीयों ने अपने आप में एक नया तरीका निकाला है। यहाँ 6 स्व सहायता समूह की करीब 30 दीदियां पिछले 2 दिनों से सीड बॉल बना रही है। अब तक इन्होंने 1000 से अधिक ऐसे सीड बॉल बनाये है। अब ये सीड बॉल खेत की मेड़,बाड़ी, जंगल और मैदानी शासकीय भूमि पर छिड़कने की तैयारी की जा रही है। सीड बॉल बनाने का तरीका भी अपने आप में एक अलग ही है। जो वास्तव में अंकुरण होने की पूरी संभावना रखता है। ऐसे बनता है सीड बाल

ऐसे बनता है सीड बाल

प्रभारी जिला प्रबंधक कृषि आजिविका मिशन के दिनेश कुमार ने बताया कि ग्राम संगठन के माध्यम से समूह की दीदियां इस कार्य जुटी है। इन्‍हें खेती का पांच दिवसीय प्रशिक्षण प्रदान कर विभिन्‍न विधियॉ बतायी गई थी। सीड बनाने के लिए गोमूत्र, गोबर, चुना, रेत और मिक्स मिट्टी की बाल तैयार की जाती है। इसी बाल में मनचाहा या जो जंगल क्षेत्र में सीड उपयुक्त हो बीज (सीड) बाल के अंदर रख दिया जाता है। इसके बाद दो दिनों तक सूर्य की रोशनी में इस बॉल को रख दिया जाता है। इसके बाद जो भी उपयुक्त स्थल हो वहां हल्का सा गड्डा कर ऊपर से मिट्टी ढक दी जाती है। दीदियां बाल में जामुन, नीम, करन्ज, आम, अमरूद और आंवले के सीड रख रही है।


PostImage

Chandrawar Media Service

July 12, 2024

PostImage

खेल के लिए खिलाड़ियों से ली जा रही शुल्क मामले की मुख्यमंत्री से की जायेगी शिकायत - श्रीमति अनुभा मुंजारे 


 

 एस्ट्रोटर्फ मैदान और मुलना मैदान निरीक्षण में मिली खामियों को लेकर विधायक ने जाहिर की नाराजगी 

 

बालाघाट :- 

 विधायक अनुभा मुंजारे ने जिले में हॉकी खिलाड़ियों के लिए बनाए जा रहे एस्ट्रोटर्फ मैदान और मुलना मैदान का निरीक्षण किया. दोनो ही स्थलो के निरीक्षण मं मिली खामियों को लेकर नाराजगी जाहिर की. हालांकि सबसे ज्यादा नाराजगी उनकी मुलना मैदान में होने वाले खेल में ली जाने वाली फीस और वर्चुअली प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यक्रम में सांसद निधि की राशि से मिले एक करोड़ रूपए के स्वीमिंग पुल के भूमिपूजन को लेकर दिखाई दिया. जिस पर उन्होंने नगरपालिका और जिला खेल अधिकारी की भूमिका पर सवाल खड़े किए.

विधायक अनुभा मुंजारे ने निरीक्षण के बाद स्टेडियम में पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि जिले में स्टेडियम का इतना बड़ा स्वरूप, दानवीर मुलना जी की देन है. उन्होंने जिले के खिलाड़ियों को यह खेल की तैयारियों को लेकर, स्टेडियम की जगह दान की थी लेकिन उनकी भावना पर आज प्रशासनिक अधिकारी और जिम्मेदार कुठाराघात कर रहे है. उन्होंने कहा कि यहां बैडमिंटन हो या अन्य खेल, उसमें खिलाड़ियों से राशि ली जा रही है. खेलो मं जिले की प्रतिभाएं कोने-कोने में है, ऐसे में जिले के खिलाड़ियों को खेल के बेहतर अवसर उपलब्ध कराने के बजाए, उनसे खेल के लिए राशि ली जा रही है. जिसका वह कड़ा विरोध करती है और इस मामले में वह मुख्यमंत्री को शिकायत करेगी और जरूरत पड़ी तो वह खिलाड़ियों के लिए सड़क पर आकर आंदोलन भी करेगी. उन्होंने कहा कि जब हमने खेल अधिकारी की गैरमौजूदगी के बारे में जानकारी ली तो पता चला है कि वह नहीं आए है. खेल अधिकारी अपने मनमाफिक स्टेडियम को चला रहे है, ऐसा अब नहीं चलेगा.

खास बात यह है कि स्टेडियम में निरीक्षण के दौरान विधायक के जिला खेल एवं युवा कल्याण अधिकारी की गैरमौजूदगी पर मातहत कर्मचारियों ने उनके नहीं आने की बात कही, जबकि स्टेडियम की जिम में नई मशीनों के कलेक्टर डॉ. मिश्रा के शुभारंभ कार्यक्रम के दौरान खेल अधिकारी मौजूद थे. फिर विधायक के निरीक्षण में वह क्यों नहीं पहुंचे?

विधायक अनुभा मुंजारे ने अपने निरीक्षण के दौरान स्वीमिंग पुल निर्माण के लिए तत्कालीन सांसद बिसेन द्वारा दिए गए एक करोड़ रूपए पर सवाल खड़े किए गए. विधायक अनुभा ने कहा कि फरवरी में प्रधानमंत्री के वर्चुअली कार्यक्रम में परिषद के परिसर मं आयोजित कार्यक्रम में स्वीमिंग पुल का भूमिपूजन किया गया. जबकि वर्तमान में स्वीमिंग पुल की जमीनी हकीकत कुछ और है, ना तो इसके लिए स्थान का चयन किया गया है और ना ही कोई टेंडर लगाए गए है. तत्कालीन सांसद बिसेन द्वारा दी गई राशि भी नगरपालिका को नहीं है. इसके बाद भी नगरपालिका में सत्ताधारी भाजपा की परिषद ने बैठक में स्वीमिंग पुल निर्माण का प्रस्ताव ले लिया. जिससे साफ है कि भाजपा की सत्ताधारी नगरपालिका परिषद, नगर की जनता और खिलाड़ियों को गुमराह कर रही है. विधायक अनुभा के निरीक्षण के दौरान नगरपालिका सीएमओ निशांत श्रीवास्तव, महिला नेत्री अंजु जायसवाल, नपा विधायक प्रतिनिधि शफकत खान, पार्षद आशुतोष डहरवाल, महिला कांग्रेस नगर अध्यक्ष शानू राय सहित अन्य कांग्रेसी मौजूद थे.


PostImage

Chandrawar Media Service

July 12, 2024

PostImage

सांसद श्रीमती भारती पारधी व विधायक श्रीमती अनुभा मुंजारे द्वारा बिजली की समस्याओं के निराकरण के सम्बंध में विभाग को किया निर्देशित


फ़ीडर्स के पृथकीकरण, ट्रांसफार्मरों की क्षमता वृद्धि के साथ उच्चदाब लाइनों के विस्तार के लिए आरडीएसएस योजना में कार्य प्रारम्भ

डेंजर रोड़ का मरम्मत कार्य हुआ प्रारम्भ

सांसद ने ली पहली 3 विभागों की परिचयात्मक बैठक

बालाघाट :-

सांसद श्रीमती भारती पारधी की अध्यक्षता में गुरुवार को कलेक्टर सभागृह में 3 विभागों की परिचयात्मक सह समीक्षा बैठक हुई। बैठक में पीडब्ल्यूडी, पीआईयू और एमपीईबी ने अपने-अपने विभागों के प्रचलित कार्यो की प्रगति प्रस्तुत की। साथ ही उन्होंने विभागों से सम्बंधित समस्याओ के निराकरण की ओर भी विस्तृत चर्चा की। एमपीईबी अधीक्षण यंत्री श्री दीपक उइके ने विभाग द्वारा वर्तमान में संचालित योजना के बारे में विस्तृत जानकारी प्रस्तुत की। उन्होंने भारत शासन द्वारा संचालित विद्युत वितरण प्रणाली के सुदृढ़ीकरण एवं भविष्य में आने वाली चुनौतियों का समाना करने के लिए विद्युत प्रणाली के आधुनिकीकरण के सम्बंध में बताया। उन्होंने आरडीएसएस योजना का विस्तार करते हुए कहा कि आने वाले 5 वर्षों में इस योजना के तहत जिले में 409 करोड़ के कार्य किये जायेंगे। इसमें मुख्य रूप से सब स्टेशनों की क्षमता वृद्धि, उच्च हानि वाले क्षेत्रों में केबलीकरण, ट्रांसफार्मरों की क्षमता वृद्धि, फीडरों के पृथकीकरण, उच्च दाब लाइनों का विस्तार आदि कार्य होंगे। बैठक में सांसद श्रीमती पारधी और विधायक श्रीमती अनुभा मुंजारे द्वारा बिजली की समस्याओं के निराकरण के सम्बंध में भी विभाग को जानकारी दी। अधीक्षण यंत्री श्री उइके ने कहा कि बताई गई समस्याओ का निराकरण 2 दिनों में कर दिया जायेगा। बैठक में वारासिवनी विधायक श्री विक्की पटेल भी मौजूद रहे।

डेंजर रोड़ निर्माण मरम्मत व सरेखा ब्रिज के सम्बंध में विस्तार से चर्चा

बैठक के दौरान पीडब्ल्यूडी कार्यपालन यंत्री श्री अड़मे ने विभिन्न प्रचलित कार्यो की जानकारी दी। साथ ही उन्होंने डेंजर रोड़ की वर्तमान स्थिति के सम्बंध में कहा कि इस रोड से हैवी ट्रैफिक गुजरता है। जबकि यह सड़क ग्रामीण स्तर की है। इस रोड से ट्रैफिक कम कर दिया जाए तो बेहतर होगा। इस मामले में अन्य विकल्पों पर भी विचार किया गया। साथ ही रेलवे विभाग से भी इस सम्बंध में जानकारी ली जाएगी। फिलहाल सड़क के मरम्मत कार्य को तेजी से करने के निर्देश दिए गए। बैठक के दौरान पीआईयू द्वारा प्रचलित कार्यो की जानकारी भी दी गई।


PostImage

Chandrawar Media Service

July 11, 2024

PostImage

शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बुढ़ी में विधिक साक्षरता शिविर एवं पौधारोपण कार्यक्रम का हुआ आयोजन


बालाघाट :- 

प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश व अध्यक्ष श्री दिनेश चन्द्र थपलियाल के मार्गदर्शन में गुरुवार को शाउमावि बुढ़ी में विधिक साक्षरता एवं जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में उपस्थित जिला विधिक सहायता अधिकारी श्री जीतेन्द्र मोहन धुर्वे द्वारा अपने उद्बोधन में कहा कि आज महिलाऍ अपने उल्लेखनीय कार्यो से अपना बहुमूल्य योगदान दे रही है जिससे हमारा देश निरंतर प्रगति की ओर अग्रसर हो रहा है। लेकिन यर्थाथ में आज भी उन्हें लैंगिक असमानता, भेदभाव जैसी अनगिनत समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इन परिस्थितियों में समाज का मौलिक कर्त्तव्य है कि हम महिलाओं की स्थिति बेहतर बनाने को लेकर निरंतर प्रयास करने का संकल्प ले। साथ ही श्री धुर्वे ने बताया कि तकनीकी विकास ने आधुनिक जीवन शैली को बदल दिया है। समय के साथ इंटरनेट का प्रयोग आम जीवन में बढ़ता जा रहा है। हमारी छोटी सी चूक सायबर अपराधियों के लिए डेटा चोरी के द्वार खोल सकती है। सायबर अपराधी हमारे पैसे चुरा सकते है हमारी प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचा सकते है। अधिकांश सायबर अपराध मानवीय लापरवाही के कारण होते है। इसलिए सायबर सुरक्षा जागरूकता आवश्‍यक है, बच्चों को मोबाईल एवं ऑनलाईन संसाधनों का उपयोग बहुत सावधानी पूर्वक करना चाहिए।

       शिविर के पश्‍चात विद्यालय परिसर में पंच-ज अभियान अंतर्गत चलाये जा रहे वृहद वृक्षारोपण कार्यक्रम के तहत फलदार पौधे लगाकर पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया गया। इस दौरान श्री दुर्गेश लिमजे असिस्टेंट लीगल एड डिफेंश काउसिल, विद्यालय की शिक्षिका श्रीमती मनीषा श्रीवास्तव, श्रीमती किरण चिले, श्रीमती अल्का धुर्वे एवं पैरालीगल वालेन्टियर सुश्री कमर सुल्ताना व छात्र छात्राऍ उपस्थित रहें।


PostImage

Chandrawar Media Service

July 11, 2024

PostImage

विकासखंड स्तरीय, जिला स्तरीय व राज्य स्तरीय सर्वोत्तम कृषकों को मिलेगा पुरुस्कार


सर्वोत्‍तम कृषक के लिये 31 अगस्त तक आवेदन आमंत्रित

बालाघाट :-

सब मिशन ऑन एग्रीकल्चर एक्सटेंशन "आत्मा" अंतर्गत, जिला स्तरीय व राज्य स्तरीय एवं विकासखंड स्तरीय सर्वोत्तम कृषक तथा सर्वोत्तम कृषक समूह का वर्ष 2024-25 के लिये प्रविष्टियां आमंत्रित की जा रही है। आवेदन का प्रारूप संबंधित विकासखंड के वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी के कार्यालय में ब्लाक टेक्नालाजी मैनेजर से प्राप्त किया जा सकता है। आवेदन जमा करने की अंतिम दिनांक 31 अगस्त 2024 को शाम 5:30 बजे तक होगी। कृषको से अपील की गई है कि आवेदन फार्म को अपने क्षेत्र के विषय वस्तु विशेषज्ञ एवं ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी से सत्यापित कराकर ही जमा करें। साथ ही संबंधित गतिविधियों जैसे उपज, विक्रय रसीद, परमिट की छायाप्रति इत्यादि का प्रमाण (वर्ष 2023-24 के) भी प्रस्तुत करें। आवेदन फार्म के साथ कृषक समूह को स्वयं का फोटो मोबाइल नम्बर, दूरभाष नम्बर, बैंक का नाम, ब्रांच का नाम, एकाउंट नम्बर, आईएफएससी कोड, आधार कार्ड की छायाप्रति देनी अनिवार्य होगी। आवेदन बिना साक्ष्य के पाये जाने व अपूर्ण भरे जाने पर समिति द्वारा निरस्त किये जायेंगे। सर्वोत्तम कृषक व समूह की चयन प्रकिया जिला स्तर पर कलेक्टर डॉ. गिरीश कुमार मिश्रा की अध्यक्षता में समिति तैयार कर समिति द्वारा निर्धारित प्राप्तांकों के आधार पर की जायेंगी।

सर्वोत्तम कृषक समूह को मिलेगा बीस हजार 

परियोजना संचालक ‘आत्‍मा’ से प्राप्‍त जानकारी अनुसार विकासखंड स्तरीय, जिला स्तरीय व राज्य स्तरीय सर्वोत्तम कृषकों के लिये पुरस्कार राशि क्रमशः 10000, 25000 व 50000 रुपये एवं सर्वोत्तम कृषक समूह को 20000 रुपये की राशि पुरस्कार देने का प्रावधान निर्धारित किया गया है।


PostImage

Chandrawar Media Service

July 11, 2024

PostImage

स्वास्थ्य सेवाओं में लापरवाही बरतने पर 02 एएनएम कार्यकर्ता निलंबित


बालाघाट :-

गत दिवस सामु.स्वा.केन्द्र बिरसा के अंतर्गत उप स्वास्थ्य केन्द्र पितकोना के ग्राम चिलोरा में मलेरिया बीमारी का प्रकोप देखने को मिला। जिसके फलस्वरूप मलेरिया से एक साढ़े तीन वर्षीय बच्चे की मृत्यु हो गई। घटना के परिणामस्वरूप मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी, जिला मलेरिया अधिकारी, सी.बी.एम.ओ. बिरसा/लांजी द्वारा ग्राम चिलोरा का भ्रमण एवं निरीक्षण किया गया। निरीक्षण उपरांत उप स्वा. केन्द्र पितकोना में पदस्थ एएनएम श्रीमती मनीषा कटारे द्वारा ग्राम में सतत भ्रमण न करना एवं अन्य स्वास्थ्य सेवाएं देने में लापरवाही बरतना पाया गया। बताया गया कि इस प्रकार के कृत्य पदीय दायित्वों के विपरीत होकर म.प्र. सिविल सेवा आचरण नियम 1965 (वर्गीकरण, नियंत्रण एवं अपील) के उप नियम (एक) (दो) (तीन) का स्पष्ट उल्लंघन है। जिसके फलस्वरूप कलेक्टर व जिला दंडाधिकारी डॉ. गिरीश कुमार मिश्रा ने श्रीमती मनीषा कटारे एएनएम उकवा केन्द्र पितकोना विकासखण्ड बिरसा को तत्काल प्रभाव से निलंबित के आदेश जारी किए है।

इसी प्रकार की लापरवाही लांजी विकासखंड के अंतर्गत ग्राम पौसेरा में देखी गई। जिसमें बताया गया कि उपस्वा. केन्द्र पौसेरा में पदस्थ एएनएम श्रीमती सोमेश्वरी नारनौरे को ग्राम चिलोरा एवं लाफरा कार्य दायित्व सौंपा गया था। उनके द्वारा संबंधित ग्राम में सतत भ्रमण न करना एवं अन्य स्वास्थ्य सेवाएं देने में लापरवाही बरतना पाया गया। जिसके परिणामस्वरूप म.प्र. सिविल सेवा आचरण नियम 1965 (वर्गीकरण, नियंत्रण एवं अपील) के उप नियम (एक) (दो) (तीन) का उल्लंघन पाए जाने पर श्रीमती सोमेश्वरी नारनौरे को भी निलंबित के आदेश जारी किए गए है।


PostImage

Chandrawar Media Service

July 11, 2024

PostImage

किसानों के हित में है नैनो यूरिया व डीएपी - कलेक्टर डॉ. मिश्रा


सहकार से समृद्धि संगोष्ठी सम्पन्न

बालाघाट :- सहकार से समृद्धि समीक्षा सह-सहकारी संगोष्ठी व सहकारी सम्मेलन का आयोजन गुरुवार को गोंदिया रोड स्थित लॉन में इंडियन फारमर्स फर्टिलाईजर कोआपरेटिव लिमिटेड द्वारा किया गया। सहकारी सम्मेलन की अध्यक्षता डॉ. गिरीश कुमार मिश्रा ने की। कार्यक्रम में बैंक प्रशासक आरसी पटले सीईओ जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक, आर.के मिश्रा डीजीएम विपणन इफको जबलपुर, डॉ. आरएल राउत प्रमुख राणा हनुमान सिंह कृषि विज्ञान एवं अनुसंधान केन्द्र बढ़गांव, राजेश खोब्रागढ़े डीडीए बालाघाट, अनिल बिरला इफको क्षेत्रीय अधिकारी सिवनी, पी.जोशी प्रबंधक लेखा, वैदिक अगाल इफको क्षेत्रीय अधिकारी बालाघाट मंच पर उपस्थित रहे।

इस अवसर पर कलेक्टर डॉ. मिश्रा ने कहा कि नैनो यूरिया और नैनो डीएपी किसानों के हित में है सरकार द्वारा भी नैनो प्रोडेक्ट को लेकर विशेष अभियान चलाया जा रहा है। डॉ. मिश्रा ने उपस्थित जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित अंतर्गत शाखाओं के शाखा प्रबंधको, समिति प्रबंधको, खाद प्रभारियों और कृषि अधिकारियों से आव्हान किया कि नैनो यूरिया और नैनो डीएपी से होने वाले फायदो की जानकारी किसानो तक पहुंचाये ताकि किसान इसकी गुणवत्ता को समझे। डॉ. मिश्रा ने कहा कि नैनो यूरिया और नैनो डीएपी का उपयोग मेरे द्वारा पौधो में किया गया है। जिसका रिजल्ट बेहतर है। इसके अलावा डॉ. मिश्रा ने कहा कि जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित, बालाघाट के अधिकारी और कर्मचारियों के कार्य लगन का प्रतिफल है कि यह बैंक प्रदेश में उत्कृष्ठ कार्य कर रहा है।

सहकारी सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए बैंक सीईओ आरसी पटले ने कहा कि जिस उद्देश्य को लेकर कार्य करते है उसको शत प्रतिशत पूर्ण करना चाहिए। पैक्स समिति द्वारा किसानो के हित में कार्य करती है और समितियों को बेहतर बनाने और आय के स्त्रोत बढ़ाने के लिए सफल प्रयास किये जा रहे है, जिससे समिति और किसानो दोनो को लाभ होगा। जो किसान अपने कार्य के लिए शहर या अन्य स्थान जाता है। वह अब समितियों में ही अपना कार्य करवा पायेगा। श्री पटले ने कहा कि नैनो यूरिया और नैनो डीएपी के महत्व को समझे वर्तमान में प्रतिस्पर्धा के इस दौर में यह किसानो के लिए कारगर है। किसानो तक इसे पहुंचाने के लिए हर संभव प्रयास करे। ताकि इसका लाभ किसानो को मिल सके। इसके अलावा श्री पटले द्वारा बैंकिंग कार्यो की समीक्षा करते हुए अमानत संग्रहण, ऋण वितरण, मध्यमकालीन ऋण, वसूली, पैक्स ऑन लाईन, कृषक समृद्धि केन्द्र, कॉमन सर्विस सेंटर सहित अन्य विषयों पर विस्तार से जानकारी दी गई।

इस अवसर पर डॉ. आर.एल. राउत, राजेश खोब्रागढ़े, आर.के. मिश्रा द्वारा भी नैनो यूरिया और नैनो डीएपी को लेकर विशेष जानकारी से अवगत कराया गया। इस दौरान माइक्रो एटीएम के संचालन का लाईव प्रदर्शन किया गया साथ ही कृषक समृद्धि केन्द्र अंतर्गत पेक्स समितियों को इफको द्वारा सामग्री प्रदाय कर चयनित समितियों को उत्कृष्ट कार्य किये जाने को लेकर कलेक्टर डॉ. गिरीश कुमार मिश्रा ने प्रमाण पत्र और शिल्ड देकर सम्मानित किया। सहकारी सम्मेलन में राजेश नगपुरे फिल्ड अधिकारी, सारंग बिसेन, रौनक चौकसे, प्रकाश साहू, दीपक देशमुख, व्ही.पी. मिश्रा, सुनील राहंगडाले, अनिरूद्ध वागदे, राजेश दुबे, ऋषि हरिनखेड़े, मोरेश्वर फुंडे, दिनदयाल ठाकरे, वाय.आर. बारमाटे, मनोहरलाल यादव, युवराज चौधरी, हीरालाल टेंभरे सहित संस्था प्रबंधक, खाद प्रभारी आदि उपस्थित रहे।


PostImage

Chandrawar Media Service

July 11, 2024

PostImage

मॉइल के सहयोग से 5 लाख की मशीनें मुलना स्टेडियम में हुई स्थापित


खेल विभाग की जिम में नई मशीनों का कलेक्टर ने किया शुभारंभ

बालाघाट कलेक्टर डॉ. गिरीश कुमार मिश्रा ने गुरुवार को खेल विभाग की जिम में मॉइल के सहयोग से प्रदान की गई मशीनों का शुभारंभ किया। मुलना स्टेडियम स्थित जिम के लिए मॉइल ने करीब 5 लाख रुपये की नई मशीनें प्रदान की है। खेल अधिकारी श्री केके चौरसिया ने इस सम्बंध में बताया कि जिले के युवाओं के स्वास्थ्य के प्रति बढ़ावा देने के उद्देश्य से विभाग की कई वर्षों से जिम संचालित है। युवाओ के उत्साह को देखते हुए कलेक्टर डॉ. मिश्रा के निर्देशानुसार मॉइल के सहयोग से जिम को नई मशीनें प्रदान की गई। शुभारम्भ के दौरान मॉइल के डीजीएम श्री राजेश सिंह,जिम ट्रेनर श्री डेक्कन मरकाम मौजूद रहें।

हर तरह के एक्सरसाइज के लिए उपयुक्त होगी नई मशीनें

खेल अधिकारी श्री चौरसिया ने नई मशीनों के सम्बंध में जानकारी देते हुए बताया कि विभाग की जिम में अब हर तरह के एक्सरसाइज किये जा सकेंगे। ट्रायसेफ, बायसेफ के अलावा थाई व फिटनेश के शौकीन के लिए भी जिम में मशीनें है। जिम में एक ट्रेनर नियुक्‍त है जो सुबह 5 बजे से 9 बजे तक तथा शाम को 4 से 9 बजे तक मौजूद रहते है। उनके निर्देशन में जिम की जा सकती है। अब जिम में ओलम्पिक डिक्लाइन, इनलाइन और फ्लैट बैंच, मल्टी बेंच,यूटिलिटी स्टूल, वर्टिकल रो, एडजस्टेबल क्रोस ओवर व अन्य मशीनें उपलब्ध हो गई है।


PostImage

Chandrawar Media Service

July 11, 2024

PostImage

पीएम फसल बीमा योजना में बालाघाट जिले की 14 फसलें हुई अधिसूचित


मसूर का 12 हजार व कोदो-कुटकी का 14 हजार में होगा बीमा

प्रधानमंत्री फसल बीमा अंतर्गत भारत शासन के कृषि मंत्रालय ने फसलों को अधिसूचित करने सम्बंधी राजपत्र प्रकाशित कर दिया है। प्रकाशित राजपत्र के अनुसार बालाघाट जिले के लिए रबी की फसल मसूर 12 हजार और खरीफ की फसल कोदों-कुटकी का 14 हजार रुपये प्रति हेक्‍टेयर बीमा किया जा सकेगा। इनके अलावा खरीफ की फसलों में धान सिंचित के लिए बीमित राशि प्रति हेक्टेयर 46000 रुपये, असिंचित धान के लिए 38000, सोयाबीन के लिए 26000, मक्का के लिए 22000 और अरहर के लिए 26000, मूंगफली के लिए 26000, मूंग 24000 और उड़द के लिए 24000 रुपये प्रति हेक्टेयर बीमा की राशि निर्धारित की गई।

रबी के फसलों में

प्रकाशित राजपत्र के अनुसार रबी की फसलों में सिंचित गेंहू के लिए 38000, असिंचित के लिए 28000, चना के लिए 29000, राई सरसो के लिए 27500 और अलसी के लिए 19000 रुपये बीमा राशि प्रति हेक्टेयर निर्धारित की गई है।


PostImage

Chandrawar Media Service

July 11, 2024

PostImage

पीड़ित मानवता की सेवा : दुर्गम गांव में लगाया नेत्र परीक्षण स्वास्थ्य शिविर


तीन सैकड़ा बैगा-आदिवासियों को किया वस्त्रों का वितरण

बालाघाट। पीड़ित मानवता की सेवा और जरूरतमंदो को जीवनयापन करने में आ रही कठिनाईयों को दूर करने के लिए जिले के आदिवासी बैगा बाहुल्य गांव मोहनपुर में नेत्र परीक्षण शिविर, स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें तीन सैकड़ा से भी अधिक ग्रामीणों का स्वास्थ्य जांच कर करीब 165 लोगों की नेत्र जांच विशेषज्ञ चिकित्सकों द्वारा की गई। इस निःशुल्क शिविर में उकवा क्षेत्र अंतर्गत आने वाले ग्राम मोहनपुर सहित आसपास की करीब दस ग्राम पंचायतों के तीन सैकड़ा से भी ज्यादा ग्रामीणों ने शिविर में सहभागिता दर्ज कराते हुए स्वास्थ्य लाभ प्राप्त किया। यह आयोजन स्वर्ण जयंती वर्ष के अवसर पर समाजसेवी संस्था महावीर इंटरनरेशनल केन्द्र द्वारा आयोजित किया गया था।

मोतियाबिंद के आठ नेत्र रोगियों को आपरेशन के लिए भेजा

संस्था के पदधिकारियों ने बताया गोल्डन जुबली सेवा कार्य के प्रथम चरण में ग्राम पंचायत भवन मोहनपुर में पांच ग्रामों के बैगा परिवारों के बैगा परिवार के लोगो को 300 से अधिक वस्त्र साड़ी, चादर, पेंट शर्ट बच्चो के कपड़े प्रदान किए गए। नेत्र शिविर में 165 बैगाओ का नेत्र परीक्षण कर 57 लोगो को चश्में, आई ड्रॉप, दवा और 8 मोतियाबिंद के मरीजो को आपरेशन के लिए जबलपुर भेजा गया।

बच्चों को किया शिक्षण सामग्री का वितरण

शिविर में आसपास की 10 ग्राम पंचायत अंतर्गत ग्राम लत्ता, मोहनपुर सहित अन्य गांवो के स्कूली बच्चो को शिक्षण सामग्री का वितरण किया गया। हाई और हायर सेकेंडरी स्कूल के 270 से अधिक बच्चों को रजिस्टर, पेन, सहित अन्य शिक्षण सामग्री प्रदाय की गई। इस अवसर पर स्कूल के सभी बच्चों के साथ ही स्कूल स्टॉफ शिक्षक एवं शिक्षिकाओं का भी नेत्र परीक्षण कराया गया।

झिझक छोड़ो, चुप्पी तोड़ों अभियान की हुई शुरूआत

इस अवसर पर झिझक छोड़ो, चुप्पी तोड़ों अभियान की शुरूआत की गई। बैगा-आदिवासियों के बीच जनजागरूकता लाने के उद्देश्य से यह अभियान शुरू किया गया है। बता दे कि ग्रामीण अंचल के लोग किसी भी परेशानी एवं स्वास्थ्य संबंधी विकार को लेकर झिझक करते है और चुप्पी साधे रहते है। जिससे उनकी सेहत पर प्रतिकूल असर पड़ता है और समय पर इलाज नही होने के कारण असमय ही उनकी मौत हो जाती है। जिसे देखते हएु झिझक छोड़ो और चुप्पी तोड़ों अभियान की शुरूआत की गई ताकि वे, स्वास्थ्य संबंधी विकार एवं अन्य परेशानियों से बे-झिझक अवगत कराए ताकि समय पर उनकी समस्याओं का निराकरण किया जा सके।

आदिवासी स्टूडेंटो ने लिया हिस्सा

इस अभियान में आदिवासी कन्या छात्रावास की करीब 42 से अधिक छात्रों ने हिस्सा लिया और वे गांव-गांव में जनजागरूकता लाने के लिए इस अभियान के जरिए ग्रामीणों को स्वास्थ्य, स्वच्छता के साथ ही अन्य जानकारियों से अवगत कराएंगे।

पर्यावरण संरक्षण को लेकर करे पौधरोपण

पर्यावरण संरक्षण को लेकर पौधरोपण करने भी ग्रामीणों और विद्यार्थियों को अवगत कराया गया। आदिवासी कन्या छात्रवास अधीक्षिका की उपस्थिति में आधा सैकड़ा से ज्यादा पौधों का रोपण किया गया। इस आयोजन में महावीर इंटरनेशनल के पूर्व अंतर्राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सोहन वैद्य, अभय सेठिया, सुशील जैन, महेंद्रभाई टांक, सिद्धकरण कांकरिया, ज्ञानचंद कांकरिया सहित बड़ी संख्या में ग्राम के सरपंच एवं ग्रामीण मौजूद थे। 

 


PostImage

Chandrawar Media Service

July 11, 2024

PostImage

आदेश वापस ले सरकार, नहीं तो सरपंच संघ करेगा आंदोलन


ग्रामीण मजदूरों के लिए सरकार ने जारी किया काला आदेश -वैभवसिंह बिसेन

 01 जुलाई को पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के उपसचिव के जारी आदेश क्रमांक 2258/मनरेगा/2024 को लेकर अब पंचायत सरपंच सवाल खड़े करने लगे है। जिला सरपंच संघ अध्यक्ष वैभवसिंह बिसेन ने केन्द्र सरकार द्वारा लाए गए काले कृषि कानून की तरह इस आदेश को ग्रामीण मजदूरों के लिए काला आदेश करार दिया है। प्रेस को जारी बयान में जिला सरपंच संघ अध्यक्ष वैभवसिंह बिसेन ने कहा कि सरकार यदि इस आदेश को वापस नहीं लेती है तो इसके खिलाफ जिले और पूरे प्रदेश में सरपंच, पंचायत बंद करके आंदोलन करेंगे।

जिला सरपंच संघ अध्यक्ष वैभवसिंह बिसेन ने बताया कि जारी आदेश में मनरेगा के कार्यो में रेश्यो (अनुपात) को लेकर उल्लेखित किया गया है कि मटेरियल संबंधी व्यय ज्यादा होने की वजह से समस्त पक्के कामों को अन्य योजनाओं के मद से अभिसरण कर कराया जाए और तमाम मनरेगा संबंधी मटेरियल के काम बंद कर दिया जाए। इसके अलावा आदेश में ग्रामीणों को मिलने वाली काम की मजदूरी संबंधी कार्यो को भी लागत कम करने के निर्देश दिए गए है। जो पंचायत क्षेत्र में रोजगार के साधनों को समाप्त करने का सरकार का कदम है।

जिलाध्यक्ष वैभवसिंह बिसेन ने बताया कि पंचायत एवं ग्रामीण विकास के हालिया जारी आदेश में जिन 24 सामग्री व्यय वाले निर्माण कार्यो को उल्लेखित किया गया है। उनमें से उंगलियो में गिने जाने लायक काम ही जिले में होते है। अन्य कार्यो को कभी किसी भी पंचायत को पिछले पांच वर्षो में जनपद और जिलास्तर पर आबंटित नहीं किया गया है। जबकि जिले में सरपंचो द्वारा अन्य कार्याे के बारे मंे पूछे जाने पर उन्हें केवल कार्यो के प्रतिबंध होने की जानकारी ही जिम्मेदारों द्वारा दी गई। जिससे सरपंच कभी उन कार्याे को नहीं करवा पाया, लेकिन आदेश में उल्लेखित कार्य सूची के अनुसार स्पष्ट है कि प्रदेश के अन्य जिलो में पंचायतो मंे वह कार्य कराए गए है, संभवतः तभी मटेरियल और मजदूरी के व्यय के रेश्यों का संतुलन बिगड़ रहा है। जिसमें बालाघाट जिले के सरपंचों की कोई गलती नहीं है लेकिन उनके लिए गेंहू के साथ घुन भी पिसा जाने जैसी स्थिति हो गई है। जिले में जानकारी के अनुसार केवल मजदूरी का काम पंचायतो में सरपंचो द्वारा करवाया गया है। जबकि सामग्री का व्यय, अन्य जिलो ने करवाकर मलाई छानी है।

ज्ञात हो कि पूर्व में भी मध्यप्रदेश सरकार द्वारा 14 वें वित्त आयोग की पंचायत को सालाना मिलने वाली राशि को भी 15 वें वित्त में परिवर्तित कर टाईड और अनटाईड कर दिया गया। जिससे सरपंच, पंचायतो में पंचायत की जरूरत के अनुसार काम नहीं कर पा रहे है। यदि किसी पंचायत में काम भी हो रहा है तो वह राजनीतिक जनप्रतिनिधि के कृपापात्र पंचायत सरपंच या ऐसी पंचायतें, जिसकी स्वयं की आय हो, वही हो रहा है। जिसका भी औसत नहीं के बराबर है। सरकार का हालिया आदेश सीधे तौर पंचायतीराज व्यवस्था को खत्म करना और ग्रामीण मजदूरों को काम के लिए गांव से पलायन होने पर मजबूर करने जैसा है।

जिला सरपंच संघ ने प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री और जिले के पूर्व सांसद प्रहलाद पटेल से मांग की है कि वह जिले को भलीभांति जानते है। जिससे उन्हें स्पष्ट है कि जिले में मजदूरी का काम ज्यादा है, जिसे देखते हुए बालाघाट जिले के लिए इस आदेश को शिथिल किया जाए, ताकि ग्रामीण मजदूरों को काम मिल सके और काम के अभाव में पलायन करने को मजबूर ना हो।

जिला सरपंच संघ अध्यक्ष वैभवसिंह बिसेन, गौरीशंकर मोहारे, जिला सचिव आनंद बिसेन, नितेश कटरे, ब्लॉक अध्यक्ष पुष्पेन्द्र देशमुख, धनेश्वरी मरावी, चेतन पटले, विजय सहारे, शिव कुमार उईके, उमेश पटले, प्रकाश बाहे, ललित कबीरे, सावन पिछोड़े, शिवलाल सैयाम ने कहा कि जल्द ही जिला सरपंच संघ की समस्त ब्लॉक और जिला पदाधिकारियों के साथ संयुक्त बैठक इस आदेश को लेकर की जाएगी। जिसमें आगामी रणनीति तैयार की जाएगी। 


PostImage

Chandrawar Media Service

July 11, 2024

PostImage

दृंढशक्ति फाउंडेशन मना रहा पौधारोपण महोत्सव : स्कूली विद्यार्थियों से कराया पौधारोपण


प्रकृति से विद्यार्थियों को जोड़ना ही पौधारोपण महोत्सव का ध्येय - बरखा

बालाघाट में दृंढशक्ति फाउंडेशन जुलाई माह को पौधारोपण महोत्सव के रूप में मना रहा है। जिसमें फाउंडेशन, पर्यावरण संरक्षण को लेकर चरणबद्व तरीके से पौधारोपण कर रहा है। खास बात यह है कि अपने पौधारोपण महोत्सव के दौरान किए जा रहे पौधारोपण कार्यक्रम से फाउंडेशन ने स्कूली बच्चों को जोड़ा है, ताकि वह प्रकृति को समझ सके। यही कारण है कि दृढ़शक्ति फाउंडेशन ने पौधारोपण की शुरूआत स्कूली बच्चो के हाथो से की। नगर के सर्वोदय इंटरनेशनल इंग्लिश स्कूल के बच्चों के साथ फाउंडेशन टीम ने पौधारोपण किया। इस दौरान अध्यक्ष बरखा नाग गंगवानी, आशा बेदी, अश्विन तिवारी, प्रतिभा कनोजिया, मानवी श्रीवास्तव, श्रुति तिवारी, मोना लालवानी, भारती गंगवानी, ओमेश्वरी ऐडे, राहुल बोरकर, मृणाली खोब्रागढ़े, नंदिनी परिहार, सीमा गुप्ता, आशुतोष डहरवाल, अजीत चौधरी सहित अन्य उपस्थित थे।

यही नहीं बल्कि पौधारोपण महोत्सव अभियान से स्कूली बच्चों से ना केवल फाउंडेशन ने प्रकृति से जुड़ाव के भाव से पौधारोपण कराया अपितु स्कूलवार स्कूली बच्चो की ड्राईंग प्रतियोगिता भी कराई गई। सर्वोदय स्कूल में कक्षा तीसरी से लेकर दसवीं तक बच्चों के आयोजित प्रकृति पर ड्राईग प्रतियोगिता में करीब 70 बच्चों ने हिस्सा लिया। सभी को संस्था द्वारा प्रमाण पत्र प्रदान किया गया। वहीं स्कूल के कक्षा चौथी की छात्रा मनीषा विश्वकर्मा ने ड्राईंग में प्रथम स्थान हासिल किया। जिससे संस्था की ओर प्रमाण पत्र और शील्ड से सम्मानित किया गया।

फाउंडेशन अध्यक्ष अध्यक्ष बरखा नाग गंगवानी ने बताया कि पर्यावरण लगातार बिगड़ रहा है। जिससे मौसम पर इसका सीधा असर पड़ रहा है। जिसके कारण लोगो और विशेषकर बच्चों एवं आज की युवा पीढ़ी को पर्यावरण के प्रति जागरूक कराना अत्यंत जरूरी है। ये बारे किताबों में तो पढ़ाई जाती है किंतु आज के समय में टेक्नॉलजी इतनी बढ़ गई है,बढ़ती जनसंख्या और विकास के नाम पर ना जाने कितने वृक्षों को जंगलों को काटकर उस जमीन को इस्तेमाल किया जा रहा है। जिससे वातावरण तो दूषित हो ही रहा है साथ ही इसका सीधा प्रभाव हमारी पृथ्वी पे पढ़ रहा है। लगातार पिछले कुछ वर्षों से यह हमें देखने को मिल रहा है। हर बार गर्मी का तापमान बढ़ता जा रहा है। पानी का स्तर घट रहा है और हम आगे बढ़ने की दौड़ में प्रकृति के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। इससे हमारा ही नुकसान हो रहा है। जिसे देखते हुए दृंढशक्ति फाउंडेशन ने एक कदम आगे बढ़ाया है, विशेषकर बच्चों और युवा पीढ़ी को पर्यावरण के प्रति जागरूक करने का और इसी उद्देश्य को लेकर फाउंडेशन ने पौधारोपण महोत्सव में बच्चों और युवा पीढ़ी को जोड़ा है और उनके साथ पौधारोपण महोत्सव हम मना रहे है। उन्होंने बताया कि फाउंडेशन शहर के सभी शिक्षण संस्थान में जाकर भी पूरे माह विद्यार्थियों के साथ इस महोत्सव को मनाएगा। इससे हमारा मुख्य उद्देश्य आने वाली पीढ़ी को पर्यावरण के प्रति सचेत और जागरूक करना है। दृंढशक्ति फाउंडेशन इस महोत्सव के माध्यम से सभी से अपील करता है कि वह इस महोत्सव में शामिल होकर, पौधे अवश्य लगाए। चूंकि प्रकृति को सुरक्षित करने की यह हमारी स्वयं की भी जिम्मेदारी है। 


PostImage

Chandrawar Media Service

July 11, 2024

PostImage

आपदा के समय सामग्रियों और व्यवस्थाओं की कमी नहीं होनी चाहिए - कलेक्टर डॉ. मिश्रा


शिक्षक अनुपस्थित हो या स्कूल बंद मिले तो शिक्षक से पहले जनशिक्षक व प्राचार्य पर हो कार्रवाई

पंचायत स्कूल और आंगनवाड़ी क्षतिग्रस्त भवनों में संचालित नहीं हों

कलेक्टर डॉ.गिरीश कुमार मिश्रा ने टीएल बैठक में समस्त एसडीएम, होमगार्ड और सम्बंधित विभागों से कहा कि बाढ़ व आपदा के समय किसी भी सामग्री और व्यवस्थाओं की कमी नहीं रहे। जो स्थल पूर्व के वर्षों में प्रभावित हुए है उन पर खासतौर पर नजर रखें। साथ ही उन स्थलों पर गोताखोर, नाविक, तैराक और राशन सामग्री के साथ ही स्वास्थ्य केंद्रों पर आवश्यक दवाइयां उपलब्ध रहे। इसके लिए एसडीएम और एसडीओपी उन क्षेत्रों का दौरा कर पूर्व के प्रभावित गांवों में बैठक कर व्यबस्थाओ के बारे में अवगत कराएं। वहीं डेम से कनेक्ट गांवो में ही दल तैनात रखें। एसडीएम अपने स्तर पर रिहल्सल कर ले तो बेहतर होगा। खतरे वाले स्थानों को चिन्हित करें और ऐसे स्थलों पर साइनेज लगाएं। सभी एसडीएम तैयारी रखें इसके लिए पृथक से बैठक जल्दी की जाएगी। बैठक में अपर कलेक्टर जीएस धुर्वे, एसडीएम श्री गोपाल सोनी, संयुक्त कलेक्टर श्री केसी ठाकुर, डिप्टी कलेक्टर श्री एमआर कोल व सभी विभाग प्रमुख मौजूद रहें। जबकि अनुविभागीय अमला वीसी के माध्यम से जुड़ा।

पीडब्ल्यूडी, एमपीआरडीसी, आरईएस, डब्ल्यूआरडी व पीएमजीएसवाय प्रमाण पत्र देंगे

बैठक में सड़को पुल-पुलियों और निर्माण कार्यो की समीक्षा करते हुए कलेक्टर डॉ. मिश्रा ने निर्माण कार्यो से जुड़े विभागों से कहा कि प्रमाण पत्र देंगे। प्रमाण पत्र में ऐसे जोखिम भरे स्थल जहां पानी भर जाने से घटना की संभावना है। जिसमें पुल-पुलिया, सड़कें और निर्माण स्थल शामिल है। इन पर पूरी तरह साइनेज लगाने के सम्बंध में प्रमाणित करना होगा। साथ ही एसडीएम निरीक्षण करते हुए आपदा वाले क्षेत्रों का दौरा करते समय शासकीय उचित मूल्य की दुकानों और स्वास्थ्य केंद्रों पर राशन सामग्री व दवाइयों की उपलब्धता की जानकारी रखेगे।

भवनों की छतें जोखिम वाली है तो गतिविधि अन्यत्र संचालित हो

कलेक्टर डॉ.मिश्रा ने महिला बाल विकास, जनजाति कार्य, शिक्षा, डीपीसी और जिपं को निर्देश दिए है कि जोखिम भरे भवनों में कोई गतिविधि संचालित नहीं हो। जैसे- आंगनवाड़ी, स्कूल और पंचायत इसके लिए स्थानीय स्तर पर कोई अन्य स्थल का चयन करें। ऐसे जोखिम वाले स्थलों को चिन्हांकित कर सूची भी प्रदान करें। जिन्हें खनिज प्रतिष्ठान मद से आने वाले समय में दुरुस्त किया जा सकें।

शिक्षकों की उपस्थिति एसडीएम सुनिश्चित करें

कलेक्टर डॉ. मिश्रा ने टीएल बैठक में समस्त एसडीएम को स्कूलों के संचालन के सम्बंध में निर्देशित किया है। उन्होंने कहा कि कही भी शिक्षक अनुपस्थित है या स्कूल नहीं खुले है। उन स्थानों पर शिक्षक पर कार्यवाही से पहले जनशिक्षक और प्राचार्य पर सुनिश्चित होना चाहिए। इनके बाद सम्बंधित शिक्षक पर कार्यवाही हो।


PostImage

Chandrawar Media Service

July 11, 2024

PostImage

एक पेड़ मां के नाम कार्यक्रम के तहत साधु - संतों ने किया वृक्षारोपण


 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के उद्देश्यों को पूरा करने के लिए नरेंद्र मोदी विचार मंच ने पूरे देश में एक पेड़ मां के नाम अभियान की शुरुआत कर मंच के पदाधिकारियों के द्वारा एक पेड़ माँ के नाम लगाने का संदेश देते हुवे वृक्षारोपण किया जा रहा है। इसी के तहत चित्रकुट के पुलिस चौकी में , दिसंबर अखाड़े के स्कूल परिसर में तथा चित्रकुट के मुख्य सड़क पर बने डिवाइडर एवम् सीतापुर कालोनी में नरेंद्र मोदी विचार मंच के मुख्य राष्ट्रीय महासचिव सूरज ब्रम्हे, साधु - संत बौद्धिक मंच मध्यप्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष श्री श्री 1008 श्री लल्ली महराज , उत्तर प्रदेश साधु - संत बौद्धिक मंच के प्रदेश अध्यक्ष श्री श्री 1008 श्री दिव्य जीवन दास महराज , प्रोफेसर श्री त्रिपाठी, महिला शाखा की राष्ट्रीय महामंत्री श्रीमती कविता साहू, चित्रकुट के जिलाध्यक्ष संदीप द्विवेदी की उपस्थिति में एक पेड़ माँ के नाम कार्यक्रम के तहत वृक्षारोपण कर जनता को एक पेड़ अपनी मां के नाम लगाने के लिए संदेश दिया साथ ही देश के प्रत्येक व्यक्ति को एक पेड़ मां के नाम लगाने के लिए प्रेरित किया। वृक्षा रोपड़ के पश्चात केशव गढ़ में बैठक आयोजित की गई। बैठक में संगठन को मज़बूत बनाने की रुप रेखा तैयार की गई। वृक्षा रोपड़ कार्यक्रम में प्रमुख रूप से सूरज ब्रम्हे, श्री श्री 1008 श्री लल्ली महराज , श्री श्री 1008 श्री दिव्य जीवन दास महराज , संजीव द्विवेदी, श्रीमती कविता साहू, श्रीमती चंद्रकला सोनी, वन कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष विभाष मिश्रा, भोला नाथ महराज, उत्तरप्रदेश के उपाध्यक्ष केशव महराज, आकाश मुंडे, महराज दयानिधि शुक्ला, सीतापुर थाने के थानेदार तथा उनका स्टॉप एवम् अन्य पदाधिकरी उपस्थित रहे। मंच का संचालन नरेन्द्र त्रिपाठी ने किया । 


PostImage

Chandrawar Media Service

July 11, 2024

PostImage

ठहरे हुए पानी से डेंगू का खतरा, सतर्कता जरूरी


स्वास्थ्य विभाग ने जारी की एडवायजरी

मानसून आते ही कई तरह की मौसमी बीमारियों का प्रकोप भी बढ़ जाता है। जिले में अब तक करीब 8 इंच वर्षो से अधिक वर्षा हो चुकी है। गांव गलियों नालियों और नगरों में कई स्थानों पर पानी ठहरने भी लगा है। ऐसे स्थलों पर डेंगू फैलाने वाले मच्छर भी अपना स्थान बना लेते है। इसके लिए घर या घर के आसपास कही भी ऐसा ठहरा हुआ पानी जमा नहीं होने दे। जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. मनीषा जुनेजा ने बताया कि विभाग के साथ गोदरेज इंडस्ट्रीज और फैमिली हेल्थ इंडिया मिलकर जिले में डेंगू माह के अंतर्गत जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। अभियान में लोगों को बताया जा रहा है कि कैसे बिना राशि खर्च कर सतर्कता बरतते हुए डेंगू के प्रकोप से बचा जा सकता है।

घरों में रखनी होगी सावधानी

मलेरिया अधिकारी डॉ. जुनेजा ने बताया कि घर के भीतर व बाहर की ओर कूलर बहुतायत में रखें जाते है। कूलर में पानी एकत्रित न होने दे कूलर में एकत्रित साफ पानी में ही डेंगू और मलेरिया फैलाने वाले मच्छर पनपते है। इन दिनों फुल कपड़े पहनने पर जोर दें चाहिए। मच्छर रोधी साधनों का उपयोग करें। इसके अलावा पास के स्वास्थ्य केंद्र पर जांच कराए। कुलर के अतिरिक्‍त कई सामान में पानी एकत्रित होता है। उन सामानों को उल्‍टा रखने से भी बचाव संभव है।

डेंगू के लक्षणों को अनदेखा न करें

डेंगू के सामान्य लक्षण तेज बुखार आना, सिर दर्द व बदन दर्द करना,जोड़ों या मांसपेशियों में दर्द, पेट दर्द उल्टी होना है। जबकि गंभीर लक्षणों में नाक व मसूढो से खून आने लगता है। आंखों के पीछे दर्द होने लगता है और त्वचा पर लाल चकते दिखाई देने लगते है। लापरवाही से जान जोखिम में हो सकती है।


PostImage

Chandrawar Media Service

July 11, 2024

PostImage

एक पेड़ माँ के नाम" शास. उच्च. माध्य. विद्यालय मोहगांव (ध.) में किया गया पौधारोपण


'एक पेड़ माँ के नाम " शासन के निर्देशानुसार जिले के समस्त विद्यालय में 1 से 15 जुलाई तक एक पेड़ माँ के नाम अभियान के अंतर्गत दिनांक 10 जुलाई को शास. उच्च. माध्य. विद्यालय मोहगांव ध. के प्रांगण में और खेल मैदान के आस पास प्राचार्य के मार्गदर्शन में शाला के समस्त शिक्षक/शिक्षिकाओं एवं छात्र / छात्राओं द्वारा वृक्षारोपण का कार्य किया गया जिसमें फलदार और छायादार पौधे लगाये गये जिसमें मुख्य रूप से प्राचार्य श्री आर. के. माहुले, व्ही. के. नागेश्वर, राजेश कुमार पालेवार, ओ. पी. पारधी, सी. एल. आडे, डी एस बिसेन, पुरुषोत्तम लिल्हारे, श्रीमती विशाखा हीरकने, शारदा नगपुरे, भावना ठाकरे, निशा डोंगरे, गोपीचंद कडुकार, आदि का सराहनीय योगदान रहा


PostImage

Chandrawar Media Service

July 11, 2024

PostImage

रामपायली के कस्बीटोला में भगवान सहस्त्रबाहु की हुई प्राण प्रतिष्ठा


कलार समाज के भवन का हुआ लोकार्पण - सहस्त्रबाहु की प्रतिमा एवं शिवलिंग की प्राण प्रतिष्ठा

बालाघाट जिले के वारासिवनी क्षेत्र के रामपायली अंतर्गत कस्बीटोला में कलार समाज के भवन का लोकार्पण और सहस्त्रबाहु की प्रतिमा एवं शिवंिलंग की प्राण प्रतिष्ठा की गई।इस कार्यक्रम में बतौर अतिथि पूर्व केबिनेट मंत्री प्रदीप जायसवाल, सहस्त्रबाहु कल्चुरी महासभा राष्ट्रीय महासचिव पंकज चौकसे, मानिक लाल हिरवाने, कलार समाज अध्यक्ष अमृतलाल धुवारे, युवराज धुवारे, प्रकाश राय, सुमित बेनीराम चौरे, पूर्व नपा अध्यक्ष अनिल धुवारे, अभिषेक पिपलेवार, सुनील जायसवाल, श्रीमती श्रीति पुरूषोत्तम पालेवार, राकेश सेवईवार, उषा धुवारे और नोहरसिंह डोहरे उपस्थित थे। जहां विधिवत भवन का लोकार्पण और समाज के आराध्य भगवान सहस्त्रबाहु और शिवलिंग की प्राण प्रतिष्ठा की गई। लोकार्पण और प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के बाद समाज के युवाओं को मोटिवेटर कमलकांत बिठले, सामाजिक न्याय अधिकारी हितेश पिपलेवार, संदीप सोनगढ़े, जयश्री सोनवाने, शोभेन्द्र डहरवाल ने मोटिवेट किया। 

इस दौरान सरपंच देवेन्द्र बारेवार,शिवशंकर मंडलेकर, केवल धुवारे, हुकुमचंद धुवारे, क्षेत्रीय बुढ़ी की महिला कलार समाज संयोजक ऊषा धुवारे, शिखा पिपलेवार, एड. प्रीति राय, दीपाली बारेवार, हेमलता विजयवांशी, चंद्रकांत पिपलेवार, गजेंद्र डहाके साकडी, अलीशा कावडे, दिनेश आदेवार, दीपक वालोदे, बालाराम बलराम डोहरे, बबलू खनोरकर, रोहित डहरवाल, रेवाशंकर सोनकर, आशीष गडपंडे, पारसमणि धुवारे, पूनम खोब्रागढ़े सहित अन्य सामाजिक बंधु उपस्थित थे। समारोह का कुशल मंच संचालन नरेंद्र धुवारे, अंकित पालेवार ने किया। कार्यक्रम में ग्रामीण और सामाजिक लोगो का सहयोग रहा।


PostImage

Chandrawar Media Service

July 11, 2024

PostImage

आदिवासी महिला की मदद के लिए आगे आया रोटरी क्लब ऑफ वैनगंगा


10 वें बच्चे को जन्म देने वाली प्रसूता को प्रदाय की जरूरी सामग्री

बालाघाट। जिले के मोहगांव नगरपालिका के वार्ड क्रमांक 01 करहू बैगाटोला मोहगांव निवासी जुगती बाई ने जिला अस्पताल में अपने दसवें बच्चे को जन्म दिया। मुश्किल हालातो में सीजेरियन से दसवें बच्चे को जन्म देने वाली जुगतीबाई के साथ केवल, उसकी 9 वर्षीय मासुम बेटी है। ऐसी हालत में प्रसूता महिला के लिए आवश्यक खानपान, नवजात शिशु के दूध, कपड़े और अन्य सामग्री की आवश्यकता की जानकारी होने पर रोटरी क्लब ऑफ वैनगंगा के अध्यक्ष रोटे. अखिल वैद्य और साथियों ने जिला चिकित्सालय पहुंचकर महिला को जरूरी सामग्री प्रदान की। गौरतलब हो कि आदिवासी महिला 35 वर्षीय जुगतीबाई ने 08 जुलाई की रात सीजेरियन ऑपरेशन से दसवें बालक शिशु का जन्म दिया है। जिस वक्त महिला जुगतीबाई को जिले के बिरसा स्वास्थ्य केन्द्र से बच्चे का हाथ निकल जाने की गंभीर हालत में रिफर किया गया था। उसके जिला सीजेरियन ऑपरेशन काफी क्रिटिकल था। ऐसी परिस्थिति में चिकित्सक के पास उसकी बच्चेदानी निकालकर ही ऑपरेशन संभव था, जिसमें अत्यधिक रक्तस्राव होने की गुंजाईश थी और महिला और बच्चे के जीवन को नुकसान भी पहुंच सकता था, लेकिन चिकित्सक डॉ. अर्चना लिल्हारे और सहयोगी स्टॉप ने पूरे जतन के साथ सीजेरियन से ना केवल उसकी सुरक्षित डिलेवरी कराई बल्कि महिला के बच्चेदानी को भी निकालने की जरूरत नहीं पड़ी। डॉ. अर्चना लिल्हारे की मानें तो मां और बेटे दोनो सुरक्षित है।

अति गरीब है परिवार आशा कार्यकर्ता रेखा कटरे की मानें तो महिला जुगतीबाई पति अकलुसिंह मरावी, 35 वर्ष, मोहगांव नगरपालिका के वार्ड क्रमांक 01 करहू मोहगांव निवासी है, जिसे प्रसव पीड़ा होने पर बिरसा अस्पताल लेकर गए थे। जहां गर्भ के बच्चे का हाथ बाहर आ जाने के कारण उसे सीजेरियन प्रसव के लिए जिला चिकित्सालय लेकर आए। यहां ऑपरेशन ने उसने बेटे को जन्म दिया है। यह उसका दसवां बेटा है। जिसमें पहले जन्मे तीन बच्चो की मौत हो गई। आशा कार्यकर्ता रेखा कटरे ने बताया कि परिवार में पति बाहर कमाने गया है, परिवार की हालत बहुत खराब है, अस्पताल से छुट्टी के बाद महिला के लिए रहने के कोई ठौर ठिकाना भी नहीं है, अभी 06 बच्चों को पड़ोस वाले के यहां रखकर आए है। जानकारी में पता चला कि महिला के पास शासन का किसी भी प्रकार कोई ऐसा प्रमाणिक दस्तावेज नहीं है। जिससे उस परिवार को योजना का लाभ मिल सके। फिलहाल सीजेरियन के बाद, महिला को विशेष देखरेख में रखा गया है।

रोटरी क्लब ऑफ वैनगंगा ने की मदद जिले की सामाजिक संस्था रोटरी क्लब ऑफ वैनगंगा अध्यक्ष अखिल वैद्य ने बताया कि अस्पताल से जानकारी मिलने के बाद क्लब सदस्यो निलेश पटेल, अर्चित नेमा और भूपिन्दरसिंघ के साथ महिला के लिए फल, मां के साथ अस्पताल पहुंची बालिका के कपड़े, नवजात बच्चे के लिए दूध का डब्बा और अन्य खाद्य सामग्री लेकर जाकर दी है। अध्यक्ष अखिल वैद्य ने बताया कि अस्पताल से महिला की जानकारी के बाद वे यहां पहुंचे थे। जिसके बारे में और जानकारी मिलने पर हमने प्रण किए है, महिला के शासकीय दस्तावेज बनवाने से लेकर उसे शासन की मदद दिलाने तक हरसंभव प्रयास करेंगे।


PostImage

Chandrawar Media Service

July 11, 2024

PostImage

केन्द्रीय विद्यालय भरवेली में राजस्थानी महिला मंडल ने किया पौधारोपण


शाला प्राचार्य और स्कूली विद्यार्थियों के साथ रोपा पौधा

बालाघाट। हरित आवरण के साथ पर्यावरण बचाने में जुटी राजस्थानी महिला मंडल की बहनों ने पौधारोपण की कड़ी में 10 जुलाई को भरवेली केन्द्रीय विद्यालय के परिसर में शाला प्राचार्य, शालेय परिवार और स्कूली विद्यार्थियो के साथ पौधारोपण किया। इस दौरान राजस्थानी महिला मंडल के पौधारोपण कार्यक्रम की अतिथि राधिका गोपाल सोनी के अलावा महिला मंडल अध्यक्ष ज्योति शर्मा, पूर्व जिला अध्यक्ष राधा शर्मा, श्रीमती राधा शर्मा, प्राचार्य पंकज जैन, श्रीमती दीपशिखा जैन, शारदा शर्मा, अंजलि पालीवाल, ज्योति खेमकाजी, सविता किशोर शर्मा, किरण राजेंद्र शर्मा , किरण सोनी, शिक्षक डोंगरे, नीतीश, प्रदीप, संजू, मनोज सोनबिसरे सहित महिला मंडल की बहनें और विद्यार्थी उपस्थित थे।

अतिथि राधिका गोपाल सोनी ने कहा कि अगर हमें जीवन बचाना है तो वृक्ष लगाना होगा। केंद्रीय विद्यालय प्राचार्य पंकज जैन ने कहा कि भूमि का श्रृंगार पेड़ है, हम पर्यावरण को बचाने की बात तो करते है लेकिन इसकी ओर ध्यान नहीं देते है, लेकिन केंद्रीय विद्यालय, सदैव पर्यावरण संरक्षण के प्रयासों में जुटा रहता है और हम स्कूली बच्चो में भी यह सोच पैदा करते है कि हम अपनी धरा, भूमि हरा भरा रखें और अपने पर्यावरण को स्वच्छ बनाए ताकि हमें शुद्ध ऑक्सीजन मिल सके।

सर्व राजस्थानी महिला मंडल की अध्यक्ष श्रीमती ज्योति शर्मा ने बताया कि राजस्थानी समाज द्वारा बालाघाट नगर सहित संपूर्ण जिले में पर्यावरण बचाने के संकल्प के साथ स्कूलों, छात्रावास और खुले स्थल पर पौधारोपण किया जा रहा है। 


PostImage

Chandrawar Media Service

July 10, 2024

PostImage

लालबर्रा सरपंच संघ की आवश्यक बैठक 12 जुलाई को


बैठक में सभी सरपंचो की उपस्थिति प्रार्थनीय है :- चेतनलाल पटले

लालबर्रा। स्थानीय जनपद पंचायत के सभा कक्ष में 12 जुलाई दिन शुक्रवार को सरपंच संघ लालबर्रा की आवश्यक बैठक आहूत की गई है। तत्तसंबंध में जानकारी देते हुए लालबर्रा ब्लॉक सरपंच संघ अध्यक्ष चेतन पटले ने बताया कि 12 जुलाई दिन शुक्रवार को सरपंच संघ की बैठक आहूत की गई है जिसमें सभी सरपंच गण अपने-अपने ग्राम पंचायत की समस्या एवं वर्तमान समय में मनरेगा के संशोधन नियमों सहित अन्य समस्याओ एवं ग्राम पंचायत विकास हित में विशेष निर्णय लेने हेतु विचार विमर्श किया जावेगा उक्त बैठक में समस्त सरपंच साथियों की उपस्थिति प्रार्थनीय है।


PostImage

Chandrawar Media Service

July 10, 2024

PostImage

'एक पेड़ माँ के नाम" शास. उच्च. माध्य. विद्यालय मोहगांव ध. में किया गया पौधारोपण


'एक पेड़ माँ के नाम "शासन के निर्देशानुसार जिले के समस्त विद्यालय में 1 से 15 जुलाई तक एक पेड़ माँ के नाम अभियान के अंतर्गत दिनांक 10/07/2024 को शास. उच्च. माध्य. विद्यालय मोहगांव ध. के प्रांगण में और खेल मैदान के आस - पास प्राचार्य के मार्गदर्शन में शाला के समस्त शिक्षक/शिक्षिकाओं एवं छात्र /छात्राओं द्वारा वृक्षारोपण का कार्य किया गया जिसमें फलदार और छायादार पौधे लगाये गये जिसमें मुख्य रूप से प्राचार्य श्री आर. के. माहुले,  व्ही. के. नागेश्वर,राजेश कुमार पालेवार, ओ. पी. पारधी, सी. एल. आडे, डी एस बिसेन, पुरुषोत्तम लिल्हारे, श्रीमती विशाखा हीरकने, शारदा नगपुरे, भावना ठाकरे, निशा डोंगरे, गोपीचंद कडुकार, आदि का सराहनीय योगदान रहा


PostImage

Chandrawar Media Service

July 10, 2024

PostImage

6 जनपदों की 79 पंचायतों में 3484 तालाबों में मछली पालन कार्य जारी


जिला पंचायत अध्यक्ष की अध्‍यक्षता में हुई सामान्‍य प्रशासन समिति की बैठक

 जिला पंचायत अध्‍यक्ष श्री सम्राट सिंह सरस्‍वार की अध्‍यक्षता में जिपं के सभाकक्ष में सामान्‍य प्रशासन की बैठक आयोजित हुई। बैठक में उपाध्यक्ष जिला पंचायत योगेश राजा लिल्हारे सभापति श्री रामेश्वर पटेल श्री डुलेन्द्र ठाकरे सभापति श्री दल सिंह पन्द्रे श्री झामसिंह नागेश्वर सभापति मंसाराम मढ़ावी सभापति श्री महेश मरकाम सभापति एवं सीईओ जिला पंचायत श्री डी एस रणदा की प्रमुख उपस्थित में प्रारंभ की गई। अध्यक्ष श्री सरस्‍वार ने अधिकारी कर्मचारियों का परिचय उपरांत अनुपस्थित अधिकारियों को कारण बताओ सूचना पत्र जारी करने के निर्देश दिए गए। योजनाओं की समीक्षा उपरांत श्री दल सिंह पन्द्रे द्वारा आदिम जाति कल्याण विभाग के अपूर्ण निर्माण कार्यों को पूर्ण करने कहा गया एवं बजट आवंटन हेतु शासन को पत्र लेख करने कहा गया। मत्‍स्‍य अधिकारी श्रीमती पुजा रोडगे ने बताया कि जिला पंचायत अंतर्गत 6 जनपद पंचायतों में 79 एवं ग्राम पंचायत में 3484 ग्रामीण तालाब जिले में उपलब्ध है। जिसमें रखरखाव एवं मत्स्य पालन किया जा रहा है।

बैठक में श्री रामेश्वर पटेल ने बताया कि प्रधानमंत्री संपदा योजना में जिनका भुगतान नहीं हो पाया है। उन्हें चिन्हित कर प्रकरणों का तत्काल निराकरण कराया जाए। उपसंचालक कृषि द्वारा बताया गया कि खरीफ फसल 2.5 लाख हेक्टेयर रकबा का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने बताया कि मिलेट्स क्राफ्ट फसलों के उत्पादन पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। कोदो कुटकी का उत्पादन बैहर बिरसा परसवाड़ा के अलावा अन्य क्षेत्रों में भी उत्पादन के प्रयास किये जा रहे हैं। इसके अलावा किसानों को रागी राम तिल आदि के बीज अनुदान सहित वितरण किया जा रहे हैं। धान के खेतों में रागी का उत्पादन अच्छी मात्रा में होता है तथा कृषकों को रागी की फसल लगाने प्रोत्साहित किया जा रहा है। वहीं शिक्षा विभाग द्वारा बताया गया की 10वीं 12वीं की परीक्षा परिणाम में 10वी में राज्य स्तर पर द्वितीय स्थान रहा 12वीं का परिणाम स्टेट में 12 नंबर पर रहा पिछले वर्ष से 17 प्रतिशत ज्यादा रहा उन्होंने बताया कि इस वर्ष 100 प्रतिशत उतीर्ण का लक्ष्य रखा गया है।

अध्यक्ष श्री सरस्‍वार ने बताया गया कि नवेगांव हायर सेकेंडरी स्कूल की पुरानी बिल्डिंग पानी का रिसाव हो रहा है तत्काल मरम्मत कार्य कराये जाने के निर्देश दिए गए साथ ही जिले में जितने भी शाला भवन मरम्मत योग्य हो उनकी सूची तैयार की जावे स्वास्थ्य एवं चिकित्सा विभाग द्वारा बताया गया की वर्षा ऋतु में विभिन्न प्रकार की बीमारियां होती है जिसकी रोकथाम हेतु विभाग जागरूकता अभियान चला रहा है एवं ग्रामीण क्षेत्रों में वैक्सीनेशन साफ सफाई आदि से ग्रामीणों को जागरूक किया जा रहा है दस्तक अभियान अंतर्गत 300 से अधिक बच्चों को चिन्हित कर हृदय रोग का इलाज कराया गया है बाल श्रवण योजना अंतर्गत 23 बच्चों को कॉकलियर इम्प्लांट कराया जा चुका है वर्षा ऋतु में सांप से काटे जाने के बचाव पर चर्चा की गई। बताया गया कि सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर एंटी स्नेक वैक्सीन दवाइयां उपलब्ध है ग्रामीण झाड़ फूंक में समय खराब ना करें सामुदायिक विकास केंद्रों में जाकर इलाज कराए।

आदिम जाति कल्याण विभाग की समीक्षा के दौरान अध्यक्ष महोदय द्वारा छात्रावास भवन जहां नहीं है उनकी सूची तैयार करने कहा गया और जिले में अनुकंपा नियुक्ति पदोन्नति क्रमोन्नति के प्रकरणों पर तत्काल निराकरण कर करने के निर्देश दिए गए। महिला बाल विकास विभाग की समीक्षा के दौरान विभाग द्वारा बताया गया है कि लाडली बहना लाड़ली लक्ष्मी योजना की राशि नियमित प्रदान की जा रही है। उपाध्यक्ष श्री योगेश राजा लिल्हारे द्वारा बताया गया कि ओरमा पंचायत के टेकाड़ी जरेरा के कुरकीटोला में आंगनबाड़ी भवन की स्थिति जर्जर है। जिसे सुधार किया जाना अत्यंत आवश्यक है जिस पर सीईओ जिला पंचायत द्वारा जांच कर प्रतिवेदन प्रस्‍तुत करने के निर्देश दिये।


PostImage

Chandrawar Media Service

July 10, 2024

PostImage

ग्राम कटंगटोला में हुआ पशु टिकाकारण एवं प्राथमिक स्वास्थ्य शिविर का आयोजन


ग्राम कटंगटोला में हुआ पशु टिकाकारण एवं प्राथमिक स्वास्थ्य शिविर का आयोजन

ग्राम कि शासकीय भूमि को समतल कर शासकीय भवन निर्माण हेतु सुरक्षित किया जायेगा-लिखीराम

 लालबर्रा नगर मुख्यालय से सटी ग्राम पंचायत पांढ़रवानी अन्तर्गत आने वाले ग्राम कटंगटोला में 8 जुलाई दिन सोमवार को ग्राम सर्व समाज के द्वारा 10 बजे से पशु चिकित्सा विभाग द्वारा ग्राम के पशुओं को चिन्हित कर पशुओं को टिका लगाया गया तथा 12 बजे से ग्राम में स्वास्थ्य शिविर का आयोजन करवाया गया है जिसमें स्वास्थ्य विभाग ने ग्रामीणों का निःशुल्क उपचार कर दवाई का वितरण किया जिसमें पशु-चिकित्सा विभाग से डां. राजेश कुशरे पशु चिकित्सा अधिकारी, डॉ. शिल्पा साहू, प्रवीण चौधरी,दशरथ कुकड़ें,घितेन्द्र चौहान, वहीं शासकीय सामूदायिक स्वास्थ्य केंद्र से डां. धर्मेंद्र गहिया दंत चिकित्सक, डॉ कामिनी टेम्भरे,एच एल पटले, अनिता माने, प्रीति खरे सहित सर्व समाज के अध्यक्ष लिखीराम हरिन्द्रवार उपस्थित रहे इनकी मौजूदगी में कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें सर्वप्रथम ग्राम के सभा मंच (हनुमान मंदिर) में पूजन अर्चन कर कार्यक्रम शुरू हुआ प्रेस को जानकारी देते हुए सर्व समाज के ग्राम अध्यक्ष श्री लिखीराम हरिन्द्रवार ने बताया कि निःशुल्क चिकित्सा शिविर का आयोजन रितु परिवर्तन के साथ होने वाली मौसमी बिमारियों के बचाव व उपचार हेतु मुख्य खण्ड चिकित्सा अधिकारी डॉ नैनो इंडोलिया सर के कुशल मार्गदर्शन में स्वास्थ्य विभाग ने अपना योगदान दिया तथा मवेशियों के उपचार हेतु ग्राम के समस्त मवेशियों कि जांच व टिकाकरण पशु-चिकित्सा खण्ड चिकित्सा अधिकारी डॉ राजेश कुसरे एवं समस्त स्टाप के साथ ग्राम के सभी मवेशियों का निःशुल्क जांच व उपचार किया गया।

तत्पश्चात ग्राम में निवासरत शिक्षक श्री कोमल प्रसाद पंचेश्वर के सेवानिवृत्त होने पर ग्राम अध्यक्ष श्री लिखीराम हरिन्द्रवार व समस्त ग्रामीणों द्वारा साल श्रीफल व एक पौधा प्रदान कर आत्मीय सम्मान किया गया। एवं ग्राम कि शासकीय भूमि का समतलीकरण कर सार्वजनिक मंगलभवन,आंगनबाड़ी व बाल उद्यान जैसे अनेकों कार्य के लिए सुरक्षित किया गया जिसमें ग्राम सरपंच अनीश खांन जी का महत्वपूर्ण योगदान रहा तथा उक्त चिन्हित भूमि में 15 अगस्त 2024 को ध्वजारोहण किया जाने का सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया है।

वहीं उक्त आयोजित कार्यक्रम में विशेष योगदान देने वालों में प्रमुख रूप से लिखीराम हरिन्द्रवार अध्यक्ष ग्राम सर्व समाज, चन्द्रप्रकाश बिसेन मिडिया प्रभारी,सर्व ग्राम समाज, धनीराम पाचें, राजेन्द्र पंचेश्वर, विश्वनाथ पंचेश्वर, तरूण पंचेश्वर, रुपचंद बिसेन,शैसराम सोनवाने, दिगम्बर ठाकरे, कृष्णा पंचेश्वर, रामप्रसाद पंचेश्वर, सजंय पंचेश्वर, देवेंद्र पटले,भवन बिसेन, नंदकिशोर पंचेश्वर,विजय पांचें ,कुमान सिंह पंचेश्वर, सोमलाल पंचेश्वर,अनिता पंचेश्वर,सविता पंचेश्वर,लक्ष्मी पांचें,अंजली पाचें, लक्ष्मी पंचेश्वर, आरती पाचें,तिजिया पंचेश्वर,सुमिता पंचेश्वर व प्राची पंचेश्वर सहित अन्य सभी ग्रामीणों का सराहनीय रहा !


PostImage

Chandrawar Media Service

July 10, 2024

PostImage

एक पेड़ मां के नाम अभियान के तहत फ़िज़ा भारत गैस परिसर में किया गया पौधारोपण


एक पेड़ मां के नाम अभियान के तहत फ़िज़ा भारत गैस परिसर में किया गया पौधारोपण

प्रकृति को हरा भरा व पर्यावरण को सुरक्षित रखने सरकार द्वारा एक पेड़ मां के नाम अभियान चलाया जा रहा है। जिसके तहत फ़िज़ा भारत गैस लालबर्रा परिसर में पौधरोपण किया गया। इस अभियान के तहत 5 प्रजाति के 5 पौधा लगाया गया। जिसमें आम, जामुन, करंज, नीम, अमरूद प्रजाति के पौधे शामिल है। इस संबंध में फ़िज़ा भारत गैस संचालक जमील खान ने कहा कि प्रदेश सरकार के अभियान एक पौधा मां के नाम के तहत पौधारोपण किया गया है और पौधों की देख रेख की जिम्मेदारी भी ली गई है। उन्होंने कहा कि पर्यावरण को बढ़ावा देने व प्रकृति की सौंदर्यता के लिये हर व्यक्ति को अपने जीवन में पौधा लगाना चाहिए। एक छोटा सा पौधा बड़ा होकर हमें सदैव कुछ न कुछ देता है। पेड़ पौधों से शुद्ध हवा व ऑक्सीजन मिलती है। उन्होंने सभी लोगों से अपील की है कि मां के नाम से एक पौधा जरूर लगाये। इस दौरान संचालक जमील खान, मिथुन बोरकर आकाश रंगारे, अरुण यादव अरशद कुरैशी, दिनेश पटले, कबीर खान सहित फ़िज़ा भारत गैस के कर्मचारी उपस्थित रहे ।


PostImage

Chandrawar Media Service

July 10, 2024

PostImage

विधायक अनुभा मुंजारे ने जनता दरबार लगाकर सुनी जनता की समस्याए


विधायक अनुभा मुंजारे ने जनता दरबार लगाकर सुनी जनता की समस्याए

लालबर्रा मुख्यालय स्थित रेस्ट हाउस में ग्रामीण जनों से की वन टू वन चर्चा लालबर्रा मुख्यालय के बालाघाट रोड़ स्थित विश्राम गृह में बुधवार 10 जुलाई को बालाघाट विधायक श्रीमती अनुभा मुंजारे ने जनता दरबार लगाकर क्षेत्रीयजनों की समस्याएं सुनी और उनका निराकरण किया। इस जनता दरबार में लालबर्रा क्षेत्र के ग्रामीणजन एवं नगरवासियों ने विधायक श्रीमती अनुभा मुंजारे से मुलाकात कर अपनी समस्याओं से अवगत करवाया। जिस पर क्षेत्रीय विधायक ने ग्रामीणजनों की समस्याएं सुनकर उपस्थित संबंधित विभाग के अधिकारियों से चर्चा कर उनका निराकरण करने निर्देशित किया है ।


PostImage

Chandrawar Media Service

July 10, 2024

PostImage

जबलपुर संभागायुक्त ने शासन की प्राथमिकताओं पर कार्य करने के लिए कलेक्टर्स को किया अलर्ट


जबलपुर संभागायुक्त ने शासन की प्राथमिकताओं पर कार्य करने के लिए कलेक्टर्स को किया अलर्ट

जबलपुर संभागायुक्त श्री अभय वर्मा ने बुधवार शाम को सम्भाग के समस्त कलेक्टर्स के साथ वीसी के माध्यम से शासन की प्राथमिकताओं वाले कार्यो पर जोर देने के निर्देश दिए। उन्होंने जिले वार कलेक्टर्स से चर्चा करते हुए आयुष्मान कार्ड बनाने और पेंडिंग तथा पेंडिंग कार्ड बनाने में आ रही समस्याओ की जानकारी ली। उन्होंने मिलावट से मुक्ति अभियान के लिए जांच टेस्टिंग कार्यो की भी समीक्षा की। साथ ही संभागायुक्त श्री वर्मा ने जिलो से कहा कि कजबलपुर संभागायुक्त ने शासन की प्राथमिकताओं पर कार्य करने के लिए कलेक्टर्स को किया अलर्टक्षा 10 वी और 12 वी की परीक्षाओं में गत वर्ष के मुकाबले रिजल्ट डाउन हुआ है तो जिम्मेदारों पर कार्यवाही करें। इसके अलावा उन्होंने शासन द्वारा शासकीय कार्यालयों के संचालन के लिए जारी समयावधि का पालन कराने के निर्देश दिए है। जिलों में बारिश के दौरान अलर्ट होने के भी निर्देश दिए है। बैठक में बालाघाट कलेक्टर डॉ. मिश्रा ने जिले से सम्बंधित जानकारियां दी। वीसी में डिप्टी कलेक्टर श्री एमआर कोल, नपा सीएमओ श्री निशांत श्रीवास्तव उपस्थित रहे।


PostImage

Chandrawar Media Service

July 10, 2024

PostImage

जल जीवन मिशन की पूर्ण योजनाऍ पंचायतों को हैण्‍डओवर करने पर समान्‍य सभा ने दिया जोर


जल जीवन मिशन की पूर्ण योजनाऍ पंचायतों को हैण्‍डओवर करने पर समान्‍य सभा ने दिया जोर

जिला पंचायत अध्‍यक्ष की अध्यक्षता में सामान्य सभा की बैठक हुई सम्‍पन्‍न  

 जिला पंचायत अध्‍यक्ष श्री सम्राट सरस्‍वार की अध्‍यक्षता में जिला पंचायत के सभाकक्ष में सामान्‍य सभा की बैठक आयोजित हुई। बैठक में वारासिवनी विधायक श्री विवेक पटेल, उपाध्यक्ष जिला पंचायत योगेश राजा लिल्हारे एवं सदस्यगण बालाघाट सिवनी सांसद प्रतिनिधि श्री हीराचंद आसटकर, बालाघाट विधायक प्रतिनिधि श्री प्रशांत मोहारे, विधायक परसवाड़ा प्रतिनिधि श्री देवेंद्र मोहारे तथा सीईओ जिला पंचायत श्री डी एस रणदा की प्रमुख उपस्थिति में आयोजित हुई। बैठक में बिंदुवार विषयो पर विभागीय अधिकारियों से चर्चा कर कार्यवाही समय सीमा में किये जाने के निर्देश दिए गए। विद्युत विभाग द्वारा दी गई जानकारी पर सदस्यों द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में निरंतर विद्युत आपूर्ति किए जाने हेतु ध्यान आकर्षित कराया गया। जिन ग्रामों में विद्युत आपूर्ति में दिक्कत आ रही है उसके निराकरण के लिए तुरंत उपाय किए जाने की आवश्यकता है। सदस्यों द्वारा बताया गया कि ट्रांसफार्मर कम वोल्टेज विद्युत लाइनों की ज्यादातर समस्याओं का ग्रामीणों को सामना करना पड़ रहा है। जिस पर विभाग द्वारा निराकरण कराए जाने का आश्वासन दिया।

लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग की समीक्षा के दौरान जल जीवन मिशन अंतर्गत नल जल योजनाओं की समीक्षा की गई। जिसमें जो योजनाएं पूर्ण हो गई है उनका पंचायत को हैंडओवर किए जाने पर चर्चा की गई नल जल योजना में आ रही समस्याओं के निराकरण किये जाने के संबंध में निर्देश दिए गए जिला पंचायत सदस्यों द्वारा कहा गया की नल जल योजना के उद्देश्य की पूर्ति होना चाहिए हर घर में जल पहुंचना चाहिए पुराने हैंडपंपों का मरम्मतीकरण सुधार कार्य समय सीमा में हो जंहा आंगनबाड़ी भवन नही है उसकी महिला बाल विकास विभाग सूची तैयार कर शासन को प्रेषित करें। आंगनबाड़ियों में शुद्ध पेयजल की व्यवस्था हो खनिज विभाग की समीक्षा के दौरान जिला खनिज अधिकारी द्वारा बताया गया कि जिले में स्थित 212 खदानें हैं जिसमें कॉपर आयरन बॉक्साइट डोलोमाइट मैंगनीज लाइमस्टोन और रेत की खदाने शामिल है। इन खदानों से जिससे शासन को लगभग 200 करोड रुपए का राजस्व प्राप्त होता है। पंचायत सदस्यों द्वारा खनिज अधिकारी को बताया गया कि नदियों से अवैध रेत उत्खनन पर त्वरित कार्यवाही की जावे एवं इस बात का भी ध्यान रखें की रेत खनन करते समय वृक्षों को नुकसान न पहुंचाया जाए।

महिला बाल विकास विभाग की समीक्षा में बताया गया कि लाडली लक्ष्मी एवं लाडली बहना योजना की राशि समय पर हितग्राहियों के खाते में पहुंचाई जा रही है। नए आंगनबाड़ी भवनों के लिए शासन को प्रस्ताव भेजे गए हैं राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन में संचालित गतिविधियों एवं विभाग द्वारा किए जा रहे कार्यों की जानकारी से सामान्य सभा को अवगत कराया गया। सदस्यों द्वारा विभाग के अधिकारियों से कहा गया। की स्व सहायता समूह सीएलएफ के अध्यक्ष सचिव के निर्वाचन की प्रक्रिया समय-समय पर होनी चाहिए। एक ही समूह को कई प्रकार की गतिविधियों में नहीं जोड़ा जाना चाहिए जिससे पृथक पृथक समूह को योजनाओं का लाभ मिल सके। बैठक के आखिर मे जल गंगा अभियान अन्तर्गत किये गए महत्वपूर्ण कार्यो जैसे पौधरोपण कुए बावड़ियों तालाबो नदियों की साफ सफाई बोरी बधान हैण्डपम्पों में सोखता गड्ढो का निर्माण आदि जल संरक्षण एवं संवर्धन कार्यो का प्रस्तुतीकरण किया गया।