ProfileImage
9

Post

0

Followers

0

Following

PostImage

Suresh

March 30, 2024

PostImage

Summer Health Tips : उन्हाळ्यात घामोळ्या होणार नाही अशी घ्या त्वचेची काळजी


गेल्या काही दिवसांपासून उष्णतेत वाढ झाली आहे. तापमान ४० च्या आसपास आहे. कडक उन्हाळ्याच्या झळ्यामुळे घाम तर येतोच. पण, त्वचेशी संबंधित समस्या निर्माण होतात. त्वचेवर रॅशेस येणे, खाज सुटणे, घामोळ्या आदी समस्या अनेकांना उद्भवत असतात. मात्र आपण वेळीच उन्हाळ्यात त्वचेची काळजी घेतल्यास त्या समस्येपासून दूर राहू शकतो, 

 मार्च महिन्यातच चाळीशी गाठल्याचे दिसून येत आहे. या तापमानामुळे आरोग्याच्या विविध समस्या भेडसावतात. उन्हाळ्यात सर्वात जास्त त्रास होतो तो घामोळ्यांचा. पाठ, मानवेर अशा विविध ठिकाणी छोटं छोटं पुरळ येऊन जळजळ होते. याचा त्रास अनेकांना होतो. त्यामुळे यापासून वाचण्यासाठी लोक विविध उपाय करतात. मात्र पूर्वीच काळजी घेतली तर आपण या समस्यांपासून मुक्ती मिळवू शकतो, असा सल्ला त्वाचारोग तज्ज्ञांनी दिला आहे.

1.चेहरा थंड पाण्याने धुवा wash face with cold water :
उन्हाळ्यामध्ये सतत घाम येत असतो. त्यामुळे हा घाम जर तसाच राहिला तर त्वचेवर रॅश येऊ शकते. त्यामुळे चेहरा दिवसातून तीन-चार वेळा थंड पाण्याने धुवावा.

2. योग्य प्रमाणात पाणी प्या drink adequate amount of water:
उन्हाळ्यात घाम निघत असल्याने शरीरातील पाणी कमी होते. त्यामुळे पाणी भरपूर प्यावे. पाणी अधिक पिल्यानं त्वचा तजेलदार होते. तसेच पचनक्रिया चांगल्या पद्धतीनं होते.

3. उन्हात बाहेर पळू नका don't fly out there :
साधारणतः तप्त उन्हात बाहेर पडणे टाळावे, महत्त्वाचे काम असेल तर संपूर्ण शरीर झाकेल असेल कपडे परिधान करूनच बाहेर पडावे.

4. सनस्क्रिनचा वापर करावा use sunscreen :
उन्हाळ्यामध्ये चांगल्या प्रतिच्या सनस्क्रीनचा वापर करावा. सनस्क्रीन लावल्यानंतर टॅनिंग होत नाही.

5. हायड्रेटिंग फेस क्रिम hydrating face cream :
 उन्हाळ्यात त्वचा हायड्रेट ठेवणे गरजेचे असते. त्यासाठी हायड्रेटिंग क्रिमचा वापर करा. तसेच मॉयश्चरायझर क्रिम, क्लिजिंग क्रिम आणि हायड्रेटिंग फेसमास्कचा वापर करा. व्हिटॅमिन सी सिरमचा वापर देखील तुम्ही करु शकता. तसेच कोरफड जेल आणि चंदचा पॅक आणि गुलाब पाणी इत्यादी गोष्टी चेहऱ्याला लावल्याने तुमची त्वचा मुलायम आणि तजेलदार होईल.


PostImage

Suresh

March 30, 2024

PostImage

M.S. Dhoni journey in IPL : M.S. Dhoni का IPL में जलवा बरकरार


M.S. धोनी! यह नाम ही काफी है. (M.S. Dhoni! Yeh naam hi kaafi hai.) भारतीय क्रिकेट जगत के इस दिग्गज खिलाड़ी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट (international cricket) से संन्यास ले लिया है, लेकिन आईपीएल (IPL) में उनके धमाके अभी थमे नहीं हैं IPL की शुरुआत से ही माही का मैदान, यानी IPL, रोमांच और रणनीति का पर्याय बन गया है.

M.S. Dhoni journey in IPL  M.S. Dhoni का IPL में जलवा बरकरार

कप्तानी का जलवा (Kaptaani ka Jalwa)
धोनी IPL के सबसे सफल कप्तानों में से एक हैं उन्होंने Chennai Super Kings (CSK) को चार बार IPL चैंपियन बनाया है  उनकी शांतचित्त कप्तानी, निर्णय लेने की क्षमता और विपरीत परिस्थितियों में भी मैच फिनिशर की भूमिका निभाने का हुनर उन्हें "captain cool" का असली हकदार बनाता है.

M.S. Dhoni journey in IPL  M.S. Dhoni का IPL में जलवा बरकरार

बल्लेबाजी का तूफान (Battezbaazi ka Toofan)
धोनी सिर्फ एक कप्तान ही नहीं, बल्कि विस्फोटक बल्लेबाज भी हैं  उन्होंने कई मौकों पर अपनी आक्रामक बल्लेबाजी से मैच का रुख पलट दिया है यह भूलना नहीं चाहिए कि उनका हेलीकॉप्टर शॉट (helicopter shot) दुनियाभर में प्रसिद्ध है.

M.S. Dhoni journey in IPL  M.S. Dhoni का IPL में जलवा बरकरार

आने वाले सीजन में धोनी का धूम
भले ही धोनी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट (international cricket) को अलविदा कह दिया है, लेकिन यह तो तय है कि आने वाले IPL सीजन में भी उनका बल्ला जमकर बोलेगा  उनका अनुभव, कौशल और खेल के प्रति जुनून निश्चित रूप से Chennai Super Kings (CSK) के लिए फायदेमंद साबित होंगे

तो आईए देखते हैं कि इस बार "माही का मैदान" पर क्या धमाका होता है!


PostImage

Suresh

March 30, 2024

PostImage

Birsa Munda Story In Hindi : धरती आबा भागवान बिरसा मुंडा की संघर्षमय जीवन कहानी


आज हम आपको भारत के इतिहास के एक ऐसे वीर से मिलवाने जा रहे हैं, जिनकी कहानी जंगल की गर्जना और आदिवासी हक की लड़ाई का प्रतीक है - महामानव क्रांतिसूर्य भगवान बिरसा मुंडा 

जड़ों से जुड़े (Jadon se Judey)
1875 में जन्मे बिरसा मुंडा का जीवन आदिवासी संस्कृति और प्रकृति के साथ गहरे जुड़ाव का प्रतीक है.  ब्रिटिश राज के अत्याचारों को उन्होंने बचपन से ही देखा था. जमीन छीनी जा रही थी, जंगलों का नाश हो रहा था, और आदिवासी समुदाय लगातार शोषित किया जा रहा था.

Birsa Munda Story In Hindi  धरती आबा भागवान बिरसा मुंडा की संघर्षमय जीवन कहानी

विद्रोह की ज्वाला (Vidroh ki Jwala)
बिरसा मुंडा ने कम उम्र में ही आदिवासी समाज को संगठित करना शुरू कर दिया। उन्होंने "सर्वधर्म समभाव" का संदेश दिया, जिसका अर्थ है सभी धर्मों का समान सम्मान।  उन्होंने एकेश्वरवाद  का प्रचार किया और लोगों को अपने अधिकारों के लिए लड़ने के लिए प्रेरित किया.

धर्मयुद्ध और बलिदान (Dharmayudh aur Balidan)
बिरसा मुंडा ने अहिंसक आंदोलन और धार्मिक सुधारों के साथ-साथ ब्रिटिश राज के खिलाफ सशस्त्र विद्रोह का भी नेतृत्व किया।   उन्हें "धर्मयुद्ध" के नाम से जाना जाता है। उन्होंने गुरिल्ला युद्ध तकनीक का इस्तेमाल किया और कई वर्षों तक ब्रिटिश सेना को परेशान किया.

Birsa Munda Story In Hindi  धरती आबा भागवान बिरसा मुंडा की संघर्षमय जीवन कहानी

बलिदान का अमरत्व (Balidan ka Amartva)
ब्रिटिश सरकार द्वारा लगातार पीछा किए जाने और धोखे से पकड़े जाने के बाद, वीर बिरसा मुंडा को जेल में डाल दिया गया. उन्होंने जेल में ही 1900 में मात्र 25 वर्ष की आयु में अंतिम सांस ली.

Birsa Munda Story In Hindi  धरती आबा भागवान बिरसा मुंडा की संघर्षमय जीवन कहानी

हालांकि, उनकी मृत्यु के बाद भी उनका आंदोलन कमजोर नहीं पड़ा। आदिवासी हक की लड़ाई को उन्होंने एक नई दिशा दी थी

प्रेरणादायक पहलू :

अन्याय के खिलाफ साहस : वीर बिरसा मुंडा ने कम उम्र में ही ब्रिटिश राज और जमींदारों के अन्याय के खिलाफ आवाज उठाई।

संगठन और नेतृत्व : उन्होंने आदिवासी समाज को संगठित किया और उन्हें अपने अधिकारों के लिए लड़ने के लिए प्रेरित किया।

धर्मनिरपेक्षता : उन्होंने "सर्वधर्म समभाव" का संदेश दिया और सभी धर्मों के बीच समानता का समर्थन किया।

अहिंसा और सशस्त्र संघर्ष : उन्होंने अहिंसक आंदोलन और धार्मिक सुधारों के साथ-साथ सशस्त्र विद्रोह का भी नेतृत्व किया।

आज के लिए प्रासंगिकता :

अन्याय के खिलाफ आवाज : वीर बिरसा मुंडा हमें अन्याय के खिलाफ आवाज उठाने और लड़ने के लिए प्रेरित करते हैं.

सामाजिक समानता : उनकी शिक्षाएं हमें सामाजिक समानता और न्याय के लिए लड़ने के लिए प्रेरित करती हैं.

पर्यावरण संरक्षण : उन्होंने जंगलों और प्रकृति के संरक्षण का महत्व समझा।

आदिवासी अधिकार : वीर बिरसा मुंडा आदिवासी समुदाय के अधिकारों के लिए लड़ने के प्रतीक हैं.

वीर बिरसा मुंडा एक महान वीर थे जिन्होंने अपने जीवन को आदिवासी समुदाय और भारत के लिए समर्पित कर दिया। उनका जीवन और संघर्ष आज भी प्रासंगिक है और हमें प्रेरणा देता है.


PostImage

Suresh

March 30, 2024

PostImage

Tasty And Yummy Chicken Recipe : घर पर बनाएं रेस्टोरेंट जैसी टेस्टी हरी चिकन


हरी चिकन, जिसे हरियाली चिकन या हरा मसाला चिकन के नाम से भी जाना जाता है, एक स्वादिष्ट व्यंजन है जो आपके मीट-प्रेमी स्वाद को मिटा देगा (Hari chicken, also known as hariyali chicken or hara masala chicken, is a flavorful dish that will tantalize your meat-loving taste buds). हरे मसाले का पेस्ट इस व्यंजन की जान है, जो ताजी जड़ी बूटियों और मसालों से मिलकर बनता है (The star of this dish is the green masala paste, made with a combination of fresh herbs and spices).

चाहे आप रोटी, पराठा या नान के साथ इसका आनंद लें, यह निश्चित रूप से आपके भोजन को खास बना देगा (Whether you enjoy it with roti, paratha, or naan, it's sure to make your meal special).

आवश्यक सामग्री (Aavश्यक सामग्री)
चिकन - 1 किलो (कटा हुआ) (Chicken - 1 kg (boneless or bone-in, cut into pieces))
दही - 1/2 कप (Yogurt - 1/2 cup)
हरी मिर्च - 10-12 (हरा धनिया और पुदीना के साथ) (Green chilies - 10-12 (along with fresh coriander and mint))
अदरक - 1 इंच का टुकड़ा (Ginger - 1 inch piece)
लहसुन - 4-5 कलियाँ (Garlic - 4-5 cloves)
जीरा - 1 छोटा चम्मच (Cumin seeds - 1 tsp)
हल्दी पाउडर - 1 छोटा चम्मच (Turmeric powder - 1 tsp)
धनिया पाउडर - 1 छोटा चम्मच (Coriander powder - 1 tsp)
गरम मसाला - 1/2 छोटा चम्मच (Garam masala - 1/2 tsp)
नींबू का रस - 1 बड़ा चम्मच (Lemon juice - 1 tbsp)
हरी धनिया पत्ती, कटी हुई (Fresh coriander leaves, chopped) - गार्निशिंग के लिए (For garnishing)
तेल - आवश्यकतानुसार (Oil - As needed)
नमक - स्वादानुसार (Salt - To taste)
बनाने की विधि (Banane ki Vidhi)

हरा मसाला तैयार करें (Hara Masala Taiyar Karen): सबसे पहले हरा मसाला तैयार करें। इसके लिए हरी मिर्च, धनिया पत्ती, पुदीना पत्ती, अदरक और लहसुन को पीसकर पेस्ट बना लें। आप चाहें तो इसमें थोड़ा पानी भी डाल सकते हैं। (First, prepare the green masala. To do this, grind the green chilies, coriander leaves, mint leaves, ginger, and garlic into a paste. You can also add a little water if needed.)

चिकन का मैरीनेशन करें (Chicken ka Marination Karen): एक बड़े बर्तन में दही, हरा मसाला पेस्ट, हल्दी पाउडर, धनिया पाउडर, गरम मसाला, नींबू का रस और नमक डालकर अच्छी तरह मिलाएं। अब इसमें चिकन के टुकड़े डालकर कम से कम 30 मिनट के लिए मैरीनेट होने दें। (In a large bowl, combine yogurt, green masala paste, turmeric powder, coriander powder, garam masala, lemon juice, and salt. Mix well. Now, add the chicken pieces and marinate for at least 30 minutes.)

चिकन को पकाएं (Chicken ko Pakayen): एक कड़ाही में तेल गरम करें। जीरा डालकर चटकने दें। फिर इसमें मैरीनेट किया हुआ चिकन डालें और मध्यम आंच पर सुनहरा होने तक भूनें। (Heat oil in a pan. Add cumin seeds and let them splutter. Then, add the marinated chicken and cook on medium flame until golden brown.)

तैयार है आपका हरी चिकन! (Taiyar hai aapka Hari Chicken!): थोड़ा पानी डालें और ढककर चिकन को नरम होने तक पकाएं। (Add a little water and


PostImage

Suresh

March 30, 2024

PostImage

Murder Case : मोबाईलवर बोलल्याने सख्या भावाने केली बहिणीची हत्या


मोबाइलवरून एका मुलाशी बोलल्याचे पाहून शेणगावातील मोठ्या भावाने बहिणीच्या डोक्यावर काठीने प्रहार केल्याने गंभीर जखमी झालेल्या बहिणीचा उपचारादरम्यान शुक्रवारी चंद्रपुरात खासगी रुग्णालयात मृत्यू झाला. सुजाता कावरे (19) असे मृत युवतीचे नाव आहे. पोलिसांनी आरोपी रमेश कावरे (23) याला अटक केली आहे.

तालुक्यातील शेणगाव येथे रमेश परवतम व रंजिता परवतम हे पती-पत्नी मुलांसह रवी तेलंग यांच्या घरी भाड्याने राहतात. त्या घरी 24 मार्चला सिरोंचा येथील मावसबहीण रजिता प्रसाद मुडमडगेला ही आली होती. त्यावेळी रजिता व रमेश परवतम, रजिताची बहीण सुजाता कावरे, रमेश कावरे व त्याचा मित्र चंदन हे घरी होते. मात्र, रमेश परवतमचे भोपाळ येथे काम असल्याने त्या दिवशी रात्री 9 वाजता रंजिता व रमेश परवतम हे मुलांसह भोपाळला निघून गेले.

 27 मार्चला दुपारी 2 वाजेदरम्यान आरोपी भाऊ रमेश कावरे याच्या फोनवर बहीण सुजाता मुलाशी बोलत असल्याच्या कारणावरून भावा-बहिणीत वाद झाला. दरम्यान, रजिताने जाऊन बघितले असता रमेशने तिला खोलीत जायला सांगितले. त्यामुळे रजिता निघून गेल्यानंतर सुजाताच्या ओरडण्याचा मोठा आवाज आला. बहीण-भावाचे आपसी भांडण असल्याने रजिताने दुर्लक्ष केले; परंतु काही वेळाने खोलीत बघितल्यानंतर सुजाता ही रक्ताच्या थारोळ्यात पडून होती. तिच्या अंगावर चादर टाकण्यात आली. खोलीतच एक काठीही आढळली.

भावाने डॉक्टरांना दिली खोटी माहिती
पाहुणी म्हणून आलेल्या रजिताला सुजाताची गंभीर स्थिती बघून प्रचंड धक्का बसला. दरम्यान, रमेश कावरे हा घरून निघून गेला. काही वेळातच रमेशचा मित्र चंदन घरी आल्यानंतर दोघांनी भाजीपाला विकण्याच्या मालवाहू गाडीने सुजाताला गडचांदूर येथे उपचारासाठी नेले होते. काही वेळातच आरोपी रमेश हा त्या ठिकाणी आला व त्याने एक काळीपिवळी गाडी भाड्याने केली.

 त्यानंतर 27 मार्चला दुपारी 4:30 वाजेच्या सुमारास चंद्रपुरातील खासगी हॉस्पिटलमध्ये तिला भरती करण्यात आले. तेव्हा डॉक्टरांना अपघात झाल्याचे खोटे कारण सांगण्यात आले होते. उपचारादरम्यान रात्री 11:30 वाजता तिचा मृत्यू झाला. याप्रकरणी चंद्रपुरातील रामनगर पोलिसांनी बयाण नोंदवून गुन्हा दाखल केला होता. मात्र, घटनास्थळ जिवती तालुक्यातील असल्याने हे प्रकरण जिवती पोलिसांकडे सोपविण्यात आलेजियती पोलिसांनी आरोपी भावाला अटक केली.


PostImage

Suresh

March 29, 2024

PostImage

Rape and blackmailing case : विवाहिता से बलत्कार कर के ऐंठ लिए 5 लाख रुपये


NAGPUR CRIME : बेहोशी की अवस्था में विवाहिता से बलात्कार करके उसकी क्लिपिंग वायरल करने की धमकी देकर पांच लाख रुपए की उगाही किए जाने का मामला सामने आया है. तहसील पुलिस ने आपराधिक प्रवृत्ति के सर्राफा व्यापारी और उसके मित्र को गिरफ्तार किया है.

आरोपी राहुल कांतिलाल सोनी (39) हंसापुरी तथा मंगेश हटवार ( 34 ) रजवाड़ा पैलेस के पास, गांधीसागर हैं. तीन साल तक आरोपियों की शिकार होने के बाद पीड़िता ने शिकायत दर्ज कराई है. इस प्रकरण में मोमिनपुरा की इप्पा गैंग के भी लिप्त होने का पता चला है. राहुल का हंसापुरी में राहुल ज्वेलर्स है. उसके खिलाफ पहले भी चोरी तथा धोखाधड़ी के मामले दर्ज हैं. मंगेश पर भी अपहरण तथा मारपीट के मामले दर्ज हैं. दोनों इप्पा गैंग से जुड़े हैं. पीड़ित 38 वर्षीय विवाहिता गणेशपेठ थाना परिसर में रहती है. वह 2020 को काम के सिलसिले में सरकारी कार्यालय गई थी. वहां उसकी राहुल से पहचान हुई. इसके बाद राहुल विवाहित को फोन करके प्रभावित करने लगा.

 उसने 8 फरवरी 2021 को चाय पीने के बहाने अपने घर बुलाया. चाय में बेहोशी की दवा मिलाकर दी. बेहोशी की अवस्था में विवाहिता से बलात्कार किया. इसकी क्लिपिंग बनाई. इसके बाद क्लिपिंग वायरल करने की धमकी देकर विवाहिता को ब्लैकमेल करने की धमकी देकर शारीरिक संबंध बनाने के साथ पांच लाख रुपए ऐंठ लिए. फरवरी माह में राहुल और मंगेश ने दो लाख रुपए मांगे रुपए नहीं देने पर इप्पा गैंग के माध्यम से बच्चों सहित मारने की धमकी दी.

दोनों ने विवाहिता को एक दिन रजवाड़ा पैलेस के पास एक टपरे पर बुलाया. वहां भी उसे धमकी देकर रुपए नहीं देने पर इम्पा गैंग की मदद से बच्चों सहित मारने की धमकी दी. इसी बीच विवाहिता को आरोपियों द्वारा दूसरी महिलाओं का भी इसी तरह शोषण किए जाने का पता चला.

उसने सह पुलिस आयुक्त अश्वती दोरजे से प्रकरण की शिकायत की. सह पुलिस आयुक्त ने क्राइम ब्रांच के एसएसबी की पीआई कविता इसारकर को कार्रवाई करने के निर्देश दिए. विवाहिता की जानकारी के आधार पर इसारकर ने तत्काल आरोपियों को हिरासत में लेकर तहसील पुलिस को सौंप दिया. उनके खिलाफ बलात्कार, मारपीट, धमकाने का मामला दर्ज कर जांच आरंभ की है.


PostImage

Suresh

March 29, 2024

PostImage

Facebook Tips : एक ही Facebook Account से बनाएं कई Profiles


Tech Tips : आज के समय में जब social media की मदत से हम आसानी से अपनी profile monetizing कर के पैसे कमा सकते है. लोग चाहते है की वो ज्यादा से ज्यादा profile बनाए ताकि ज्यादा से ज्यादा अपने profiles को monetize कर सके और ज्यादा पैसा कमा सके. 

तो इस लिए यूजर चाहते है की वो multiple profiles create कर सके. लेकिन उसको करने के लिए हर बार एक नया account create करना पड़ता है. जो की बहुत ज्यादा मुश्किल हो जाता है. तो इस चीज को ध्यान में रखते हुए. Facebook ने अपने user को एक फीचर दिया है. जिसकी मदत से वो एक account में multiple profiles को create कर सकते है. इस फीचर के बारे में काफी काम लोग जानते है. तो इस आर्टिकल में हम जानेंगे की कैसे आप अपने एक Facebook account से multiple profiles create कर सकते है. 

हम जानेंगे की कैसे हम अपने Facebook account से multiple profiles बना सकते है. अगर आप एक laptop की मदत से इसे करना चाहते है. तो सबसे पहले आपको अपने laptop में अपना Facebook account ओपन करना है. उसके बाद आपको अपने profile icon पर click करना है. ये option आपको ऊपर राइट साइड menu में मिलेगा.

इसको जब आप क्लिक करेंगे उसके बाद आपको See All Profile का एक option मिलेगा. आपको इसपे क्लिक करना है. इसमें आपके जितने भी adjusting profile आपको सभी वहां पर दिख जाएंगे इसके साथ साथ creat Facebook profile का भी एक option मिलेगा आपको उसपे tap करना है. यहां पे आपको gate started का option मिलेगा। आपको उसपे क्लिक करना है. उसके बाद आपको कुछ अपने detels भरने होंगे। इसको करने के बाद आप आसानी से अपनी एक नई profile को सेम ही acount से creat कर सकते है. 

अगर आप इस फीचर का का इस्तेमाल मोबाइल फ़ोन से करना चाहते है. तो सबसे पहले आपको अपने मोबाइल फ़ोन में Facebook application खोलना है. उसके बाद आपको राइट साइड में menu का option दिखेगा आपको उसे क्लिक करना है.  जब आप menu पर Tab करेंगे तो create another profile  का एक option मिलेगा आपको उस option पर क्लिक करना है. उसके बाद आपको gate started एक option मिलेगा। आप उसपे क्लिक करेंगे और अपनी कुछ details आपको भरने होंगे। वो करने के बाद आपका एक नया profile आसानी से फिर बसे create हो जाएगा.


PostImage

Suresh

March 29, 2024

PostImage

Blood Sugar Diabetes Tips : शुगर पेशेंट को जरूर फॉलो करना चाहिए ये 5 टिप्स


ब्लड शुगर (blood sugar) का बढ़ना एक Lifestyle सबंधी समस्या है। जिसे medicine से कुछ हद तक कंट्रोल किया जा सकता है. अगर आप शुगर से पीड़ित है. और उसे ठीक करना चाहते है. तो आपको अपनी रोज की जीवन शैली में कुछ जरुरी बदलाव करने होंगे. 

डाइबिटीज (Diabetes) एक ऐसी बीमारी है जो की आज की बदलती दुनिया में बहुत तेजी से लोगों को अपना शिकार बना रही है. आपका बढ़ा  हुआ ब्लड शुगर सिर्फ इस बात की गवाही देता है की आपके लाइफस्टाइल और खानपान बहुत गड़बड़ हो रही है. इस बीमारी से छोटे बच्चो से लेकर बड़े बुजुर्ग तक सभी लोग परेशान है. इस बीमारी की गंभीरता को देखते हुए. आपको शुरुआती लक्षणों पर ध्यान देने की आवश्यकता है. तो इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको Lifestyle के कुछ जरुरी टिप्स देने वाले है. जिससे आपका शुगर कण्ट्रोल में रह सकता है.

Blood Sugar Diabetes Tips  शुगर पेशेंट को जरूर फॉलो करना चाहिए ये 5 टिप्स

सोने का समय फिक्स होना चाहिए : Bedtime should be fixed
अगर आप एक शुगर पेशेंट है और अपने ब्लड शुगर को सिर्फ कण्ट्रोल में रखना चाहते है. तो आपको आपने सोने टाइम फिक्स करना होगा। अगर आप अपने सोने और उठाने का टाइम को फिक्स करते है. तो इससे आपके ब्लड शुगर को नियंत्रित रखने में बहुत मदत होगी.

समय समय पर जांच करें :
शुगर पेशेंट को रोज अपने ब्लड शुगर जांच करनी चाहिए. ये करने से शुगर नियंत्रित रखने में आसानी होगी. आप चाहे तो दिन की शुरुआत में ही अपने शुगर लेवल की जांच कर साकते है. 

हेल्दी नाश्ता करें :
हमारी सलाह डाइबिटीज के पेशेंट के लिए बहुत महत्वपूर्ण होती है. इसलिए जरुरी है की आपको अपना नाश्ता हमेशा और पोषक से भरपूर खाना चाहिए. आपका सुबह  का नाहटा ऐसा होना चाहिए. जो की आपको दिनभर एनर्जी से भरपूर होना चाहिए.

Blood Sugar Diabetes Tips  शुगर पेशेंट को जरूर फॉलो करना चाहिए ये 5 टिप्स

डिहाइड्रेशन से बचे : avoid dehydration
लगभग 70 % तक पानी  हमारे शरीर में होता है. इसलिए इसकी मात्रा को ओर ज्यादा बढ़ाने के लिए  आपको रोज 3 से 4 लीटर पानी पिने कीआवश्यकता होती है. और डाइबिटीज के पेशेंट को ब्लड शुगर को कंट्रोल में रखने के लिए दिनभर ज्यादा से ज्यादा पानी चाहिए। इससे आपके ब्लड शुगर को नियंत्रित रखने में बहुत ज्यादा मदत हो सकती है. 


PostImage

Suresh

March 29, 2024

PostImage

Summer Health Tips : उन्हाळ्यात अशी घ्या स्वतःची काळजी


मार्च महिना संपत असतानाच आता उन्हाचा तडाखाही वाढला आहे. सध्या तर उष्णतेची लाट आल्यासारखी परिस्थिती आहे.  उष्णतेने नागरिक घामाच्या धारेत भिजत आहेत. दुपारच्या वेळी बाजारातही शुकशुकाट दिसून आला. आताची ही परिस्थिती तर एप्रिल, मे महिन्यांत काय होईल ? या शक्यतेनेच आताच अनेकांना घाम सुटला आहे. पुढील काही दिवसांत तापमान वाढण्याची शक्यता व्यक्त केली जात आहे.

वाढत्या तापमानाचा आरोग्यावर परिणाम पडतो. उन्हाळ्यात शरीर घामाघूम होते त्यामुळे शरीरातील पाणी कमी होऊन घशाला सतत कोरड पडते. पाण्याची पातळी कमी झाल्याने शरीरावर गंभीर परिणाम  होऊन Dehydration धोका वाढू शकतो. शरीरातील अंतर्गत तापमान नियंत्रण गमाविल्यामुळे उष्णतेचा कॅम्प्स, उष्मा, थकवा, उष्माघात यासह विविध आजार होऊ शकतात. यासाठी शरीरातील पाणी टिकविणे अत्यंत महत्त्वाचे आहे. वाढत्या तापमानात शरीरातील पाण्याचे प्रमाण कमी होते. त्यामुळे अशक्तपणा वाढतो. शरीरातील सोडियम, पोटॅशियम कमी झाल्यामुळे थकवा सुद्धा येतो.

आरोग्यासाठी उन्हात घ्या काळजी
ऊन तापत असल्याने नागरिकांनी घराबाहेर पडताना डोक्यावर टोळी, स्कार्फ गुंडाळा किंवा छत्रीचा वापर करावा, शक्यतो दुपारी 12 ते 3 यावेळेत बाहेर पडू नका, सतत पाणी पित रहा, बाहेरून आल्यानंतर एकदम फ्रीजमधील पाणी पिऊ नका, सुती सैल कपडे वापरा.