PostImage

सुपर फास्ट बातमी

April 16, 2024   

PostImage

पोलीस नक्षल चकमकीत तब्बल 18 नक्षली ठार


कांकेर, दि. 16 : लोकसभा निवडणुकीची रणधुमाळी सुरू झाली आहे

 

या दरम्यान नक्षली डोके वर काढतांना दिसत आहे. अशातच आज 16 एप्रिल ला पोलीस नक्षल चकमकीत तब्बल 18 नक्षली ठार झाल्याची माहिती पुढे येत आहे.

 

मिळालेल्या माहितीनुसार छत्तीसगडमधील कांकेरच्या छोटेबेठिया ठाण्याअंतर्गत येत असलेल्या जंगल परिसरात जवान नक्षलविरोधी अभियान राबवित असतांना नक्षल्यांसोबत चकमक उडाली. सुमारे एक तास चाललेल्या या चकमकीत तब्बल 18 नक्षली ठार तर 3 जवान जखमी झाल्याची माहिती आहे. चकमकीनंतर घटनस्थळावरून Ak47 व इतर स्वयंचलित हत्यार जप्त करण्यात आले आहे. आतातापर्यंतची ही मोठी कारवाई मानल्या जात आहे. तसेच ठार नक्षल्यांचा आकडाही वाढण्याची शक्यता वर्तवली जात आहे.


PostImage

Balaghat Bhoomi

April 16, 2024   

PostImage

सलमान खान और लॉरेंस बिश्नोई की कब ख़तम होगी दुश्मनी …


 कौन हैं लॉरेंस बिश्नोई क्यों बना गैंगस्टर 

 

 

लॉरेंस बिश्नोई एक भारतीय गैंगस्टर और अपराधी हैं, जो पश्चिमी भारत में गतिरोध का केंद्र हैं। उन्हें राजस्थान के बिश्नोई समुदाय से जोड़ा जाता है। उनका गुणानुसार और उनके संगठन के अनुसार, वे अपने समुदाय के हित में काम करने का दावा करते हैं, लेकिन उन्हें अपराधिक गतिविधियों के लिए भी जाना जाता है। वे नकली एनकाउंटर, हत्या, दबंगाई और अन्य अपराधिक कार्रवाईयों के मामलों में शामिल हैं। उनका नाम भारतीय पुलिस के लिए एक बड़ी चुनौती है।
 

Salman Khan: सलमान खान नहीं हैं किसी पहचान के महोताज़ 

 
 

सलमान ख़ान, भारतीय फ़िल्म उद्योग के प्रमुख अभिनेता, निर्माता, और दर्शक हैं। उन्होंने बॉलीवुड में लम्बे समय तक अपनी प्रतिष्ठित फ़िल्मकारी की है। सलमान ख़ान का जन्म 27 दिसंबर 1965 को हुआ था। उन्होंने अनेक लोकप्रिय फ़िल्मों में काम किया है, जैसे "बाज़ीगर", "हम आपके हैं कौन", "करण अर्जुन", "टाइगर", "सलमान ख़ान की दोस्ती", "टीक-टिक-टीक-टिक", "दबंग" और "बाहुबली" जैसी बहुत सारी फ़िल्में। उन्हें उनके काम के लिए कई पुरस्कार भी प्राप्त हुए हैं।

 

Lawrence Bishnoi: सलमान खान से क्यों नफरत करता है गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई

बिश्नोई समाज से आने वाला लॉरेंस बिश्नोई उस समय चर्चा में आया था, जब सलमान खान को धमकी देने के मामले में उसके गैंग के मेंबर को गिरफ्तार किया गया था. दरअसल, साल 2018 में लॉरेंस बिश्नोई ने सलमान खान को पहली बार जान से मारने की धमकी दी थी. तब से अभी तक इस गैंग के निशाने पर सलमान खान हैं. साल 1998 के काले हिरण के शिकार मामले में सलमान फंसे हैं, जिसको लेकर लॉरेंस अब सलमान से बदला लेना चाहता है. लॉरेंस ने खुलासा किया था कि साल 2018 में सलमान की हत्या की पूरी साजिश रच ली थी  बता दें काले हिरण चिंकारा को बिश्नोई समाज में काफी पवित्र माना जाता है. ऐसे में काले हिरण के शिकार मामले में अभियुक्त सलमान खान को लॉरेंस गैंग के मेंबर संपत नेहरा ने जान से मारने की धमकी दी थी. इसके बाद, साल 2022 में एक चिट्ठी के माध्यम से सलमान को धमकी दी गई थी, जो उनके पिता सलीम खान को मिली थी. चिट्ठी में लिखा था कि सिद्धू मूसेवाला के जैसा ही सलमान खान का हाल कर दिया जाएगा.


PostImage

Balaghat Bhoomi

April 16, 2024   

PostImage

भारत को मिल सकता हैं एक नया प्रधानमंत्री 2024 लोकसभा …


 2024 नितिन गडकरी बन सकते हैं देश के नए प्रधानमंत्री

नितिन गडकरी एक भारतीय राजनीतिज्ञ हैं तथा भारत सरकार में सड़क परिवहन और राजमार्ग, जहाज़रानी, जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्री हैं। इससे पहले 2010-2013 तक वे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष थे। 52 वर्ष की आयु में भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष बनने वाले वे इस पार्टी के सबसे कम उम्र के अध्यक्ष थे। 

वे एक राजनेता के साथ-साथ एक कृषक और एक उद्योगपति भी हैं

गडकरी सफल उद्यमी हैं। वह एक बायो-डीज़ल पंप, एक चीनी मिल, एक लाख २० हजार लीटर क्षमता वाले इथानॉल ब्लेन्डिंग संयत्र, 26 मेगावाट की क्षमता वाले बिजली संयंत्र, सोयाबीन संयंत्र और को जनरेशन ऊर्जा संयंत्र से जुड़े हैं।

नितिन गडकरी का राजनैतिक कैरियर 

गडकरी ने 1976 में नागपुर विश्वविद्यालय में भाजपा की छात्र शाखा अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से अपने राजनीतिक जीवन की शुरूआत की। बाद में वह 23 साल की उम्र में भारतीय जनता युवा मोर्चा के अध्यक्ष बने अपने ऊर्जावान व्यक्तित्व और सब को साथ लेकर चलने की ख़ूबी की वजह से वे सदा अपने वरिष्ठ नेताओं के प्रिय बने रहे।1995 में वे महाराष्ट्र में शिव सेना- भारतीय जनता पार्टी की गठबंधन सरकार में लोक निर्माण मंत्री बनाए गए और चार साल तक मंत्री पद पर रहे। मंत्री के रूप में वे अपने अच्छे कामों के कारण प्रशंसा में रहे। 1989 में वे पहली बार विधान परिषद के लिए चुने गए, पिछले 20 वर्षों से विधान परिषद के सदस्य हैं और आखिरी बार 2008 में विधान परिषद के लिए चुने गए। वे महाराष्ट्र विधान परिषद में विपक्ष के नेता भी रहे हैं। उन्होंने अपनी पहचान ज़मीन से जुड़े एक कार्यकर्ता के तौर पर बनाई है 


PostImage

Today Latest News

April 11, 2024   

PostImage

Haryana Bus Accident : हरियाणा में स्कूल बस हादसे में …


Haryana Bus Accident : मनेंद्रगढ़ में गुरुवार की सुबह बच्चों से भरी प्राइवेट स्कूल की बस पेड़ से टकराने के बाद पलट गई हादसे में 6 बच्चों की जान चली गई जबकि 15 से ज्यादा बच्चे घायल है. घायलों को तुरंत निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. सूचना के बाद पुलिस और प्रशासन के आला अधिकारी घटना स्थल पर पहुंच चुके हैं मनेंद्रगढ़ के कस्बा कनीना स्थित JL Public School ईद की छुट्टी होने के बाद भी खुला था गुरुवार सुबह बस 35 बच्चों को लेकर स्कूल जा रही थी. इस बीच उहानी गांव के पास यह हादसा हो गया.

ये भी पढ़े : Dr. BR Ambedkar Jayanti 2024 : डॉ. बीआर अंबेडकर जयंती कब से मनाई जाती है, आइये जानते है पूरा इतिहास
 
Haryana Bus Accident : इस दौरान जोरदार धमाका हुआ. बच्चो चीख पुकार मच गई. पांच बच्चों की मौके पर ही मौत हो गई. और एक ने अस्पताल में दम तोड़ दिया मनेंद्रगढ़ के SP Arsh Verma ने कहा कि 8:30 बजे की ये घटना है. ड्राइवर के शराब पीने की सूचना है हम ड्राइवर का मेडिकल करवा रहे हैं. वह नशे में था या नहीं वह मेडिकल के बाद पता चलेगा. ज्यादा तेज गति में स्कूल बस चला रहा था. जिसकी वजह से बस रोड से फिसल गई और पेड़ से टकरा गई उन्होंने कहा कि अभी तक 6 बच्चों की मौत की सूचना है. लेकिन करीब 15 से 20 बच्चे घायल हालत में अस्पताल में भर्ती कराए गए हैं. और एक से दो बच्चे गंभीर हालत में हैं.

ये भी पढ़े : Government Typing Job 2024 : एक घंटा काम करके घर बैठे कमा सकते है Rs 900 रोज, सरकार दे रही है बहुत बडा मौका

ईद की सरकारी छुट्टी होने के बाद भी स्कूल शुरू रखने  पर SP ने कहा कि इस बारे में स्कूल अथॉरिटी से संपर्क नहीं हो पा रहा है. उन्होंने कहा कि जांच के दौरान देखेंगे कि इस मामले में स्कूल की क्या जिम्मेदारी बनती है. उस हिसाब से कारवाई करेंगे। आगे उन्होंने कहा कि गाड़ी के डॉक्यूमेंट पूरे ना होने के बारे में भी जांच की जाएगी.


PostImage

Sanket dhoke

April 11, 2024   

PostImage

Election Commission Big Decision; निवडणूक आयोगाचा मोठा निर्णय ! - …


Election Commission :- निवडणूक आयोगाचा मोठा निर्णय ! - आता मतदान कार्ड नसले तरी देखील करता येणार मतदान

 

राज्यात लोकसभा निवडणूका पाच टप्प्यात होणार असून 19, 26 एप्रिल, 7 मे, 13 मे आणि 20 मे रोजी मतदान होणार आहे. तर मतदान करण्यासाठी निवडणूक आयोगाने Election  Commission मतदार कार्ड व्यतिरिक्त इतर 12 प्रकारचे ओळखीचे पुरावे ग्राह्य धरले आहेत. 

 

त्यापैकी कोणताही एक पुरावा दाखविल्यानंतर नागरिकांना मतदान करता येणार आहे अशी माहिती मुख्य निवडणूक अधिकारी कार्यालयाने दिली आहे.

 

अधिक वाचा :-   Ajche Rashibhavish ; ११ एप्रिल २०२४ ; मित्र मंडळी आणि नातेवाईकांची भेटीगाठी होतील...

 

 

 पाहा काय सांगितले निवडणूक आयोगाने

 

एखाद्या मतदाराने मतदार यादीतील आपल्या पत्त्यात बदल केला असेल, मात्र त्याला अद्याप नवे ओळखपत्र मिळाले नसेल तर आधीचे ओळखपत्र ग्राह्य धरले जाईल. पण त्या व्यक्तीचे नाव विद्यमान पत्यासह मतदार यादीत असणे आवश्यक आहे. 

 

तसेच सर्व नोंदणीकृत मतदारांना मतदान दिनांकाच्या किमान पाच दिवस आधी मतदान केंद्र, यादी भाग क्रमांक, मतदानाची तारीख, वेळ इत्यादी माहिती निवडणूक कार्यालयाकडून वितरण केली जाणार आहे. 

 

अधिक वाचा :-  Pratibha Dhanorkar;- मुनगंटीवार यांनी या पवित्र भावा-बहिणीच्या नात्यावर चिखलफेक केली

 आता मतदान कार्ड नसले तरी देखील मतदान करता येणार - हि माहिती आपण आपल्या इतर मित्रांना देखील शेअर करा. 

 

अधिक वाचा   :-     Entertainment News :- रश्मिका मंदान्ना आणि विजय देवराकोंडा एकत्र हॉलिडे एन्जॉय करत आहेत.

 

अशाच बातम्य साठी Vidharbh News What's App ग्रुप ला जॉईन व्हा, What's app ग्रुप ला जॉईन होण्यसाठी खालील लिंक वर  क्लिक करा.*

        

⬇️

 

https://chat.whatsapp.com/IPm3HgmL9MiJq9rXSGzsAW

 

आमच्या vidharbh News च्या What's App चॅनेलला फॉलो करा

https://whatsapp.com/channel/0029VaHnI2BIXnlrTXSG3A1w

 

वेबाईटवर जाहिरात देण्यासाठी खालील नंबरवर संपर्क करा

 

☎️ :  ७७५८९८६७९८

जॉईन व्हा, बातमी वाचा, शेयर करा.

 


PostImage

Nikhil Alam

April 5, 2024   

PostImage

Ration card me milegi Daru: राशन कार्ड में मिलेगी अंग्रेजी …


चंद्रपूर: लोकसभा चुनाव 2024 का ऐलान होने के साथ ही राजनीति दलोके नेता ॲक्शन नोट फोर आ गये है और चुनावी मैदान मे उतर कर जनता के भेज अपने पेट बनाने की कवायत मे लगी हुई है.

वहीं, निर्वाचन आयोग की ओर से चुनाव की तारीखों का ऐलान होने के बाद से वादों और दावों का दौर भी शुरू हो गया है। इसी बीच खबर आ रही है कि लोकसभा चुनाव लड़ने मैदान में उतरी एक महिला उम्मीदवार ने जनता से वादा किया है कि अगर वो चुनाव जीतीं तो राशन कार्ड में मुफ्त में शराब बांटेंगी।

 इतना ही नहीं उन्होंने हर गांव में बीयर बार खुलवाने का वादा करने के साथ-साथ कहा है कि बेरोजगार युवाओं को दारू का ठेका दिलवाएंगी। तो चलिए जानते हैं कौन हैं ये नेत्री?

राशन कार्ड में मुफ्त मिलेगी शराब: मिली जानकारी के अनुसार अखिल भारतीय मानवता पार्टी ने इस बार वनिता राऊत को चंद्रपुर के चुनावी मैदान में उतारा है। वनिता राऊत इन दिनों अपनी जीत तय करने के लिए ताबड़तोड़ प्रचार-प्रसार कर रहीं हैं। चुनाव प्रचार के दौरान वनीता राउत ने क्षेत्र की जनता से वादा किया है l

कि अगर वह सांसद बनी तो राशन कार्ड पर विदेशी शराब दिलाएगी और बेरोजगार युवाओं को शराब के ठेके भी आवंटित करेगी। इतना ही नहीं महिला प्रत्याशी का वादा है कि वह चुनाव जीतने के बाद प्रत्येक गांव में शराब के ठेके भी खुलवाएगी।

हर गांव में खुलेगा बीयर-बार: वनिता राउत ने चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि अगर वह सांसद बनीं तो सांसद निधि से राशन कार्ड पर जैसे राशन मिलता है, वैसे ही विस्की और बियर भी गरीबों के लिए उपलब्ध कराएंगी।

 साथ ही बेरोजगार युवकों के लिए शराब के ठेके दिलवाएगीं। इतना ही नहीं उन्होंने अपने मतदाताओं से हर गांव में एक बियर बार खुलवाने का वादा भी किया है।

नागपुर में भी किया था वादा: बता दें कि इससे पहले वनिता राऊत 2019 में भी नागपुर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ी थीं। उसके बाद 2019 में चंद्रपुर जिले के चिमूर विधानसभा से चुनाव में खड़ी हुई थीं, तब भी वनिता ने यही वादे किए थे और इस बार फिर एक बार वे चंद्रपुर लोकसभा क्षेत्र से इन्ही मुद्दों को लेकर चुनाव मैदान में हैं।


PostImage

Nikhil Alam

April 3, 2024   

PostImage

8 एप्रिल ला सूर्यग्रहण दिवसा होणार पूर्ण अंधार या राज्यातील …


 होळीच्या सणावर चंद्रग्रहणाची छाया बघायला मिळणार आहे. यामुळे काही राशींवर याचा थेट परिणाम देखील होणार आहे. हेच नाही तर काही देशांमध्ये 8 एप्रिल 2024 रोजी सूर्यग्रहण होणार आहे. यामुळे प्रशासनाकडून काही खबरदारी घेण्यात येतंय. शाळांना सुट्टी देखील जाहिर करण्यात आलीये.

 8 एप्रिल 2024 हा दिवस अत्यंत मोठा आणि तितकाच महत्वाचा आहे. मात्र, अनेक ठिकाणी या दिवशी शाळांनी सुट्ट्या जाहिर केल्या आहेत. 8 एप्रिलला चैत्र महिन्यातील अमावस्येच्या दिवशी संपूर्ण सूर्यग्रहण होईल.

हे सूर्यग्रहण अत्यंत खास असून तब्बल 50 वर्षांनंतर हे सूर्यग्रहण होत आहे. मात्र, यादिवशी काही वेळ पूर्णपणे अंधार होणार आहे. यामुळेच प्रशासनाकडून खबरदारी म्हणून सुट्टी जाहिर करण्यात आलीये.

या सूर्यग्रहणात सूर्य दिवसा चंद्राला झाकतो आणि दिवसा अंधार होतो. तब्बल सात मिनिटे अजिबातच सूर्य दिसणार नाहीये, म्हणजेच सात मिनिटे दिवसा पूर्ण काळोखा होईल.

8 एप्रिल 2024 रोजी होणाऱ्या या सूर्य ग्रहणादरम्यान अमेरिकेच्या काही भागांमध्ये दिवसा पूर्ण अंधार होणार आहे. यामुळेच सुरक्षेसाठी म्हणून काही भागांमधील शाळांना सुट्टी देण्यात आलीये. हे सूर्यग्रहण अमेरिका आणि इतर काही देशांमध्ये दिसणार आहे. हे सूर्यग्रहण भारतामध्ये दिसणार नाहीये किंवा त्याचा कोणताच प्रभाव हा भारतामध्ये नसणार आहे.

या ग्रहणामध्ये सूर्याच्या डिस्कचे 46 भाग अस्पष्ट होतील. हे ग्रहण मेक्सिको, डुरांगो, कोहुइला, टेक्सास, ओक्लाहोमा, आर्कान्सा, न्यू हॅम्पशायर, यूएस, ओंटारियो, क्यूबेक, न्यू ब्रन्सविक, प्रिन्स एडवर्ड आयलंड, नोव्हा स्कॉशिया, कॅनडा येथे दिसणार आहे. यादिवशी लोक ग्रहण पाहण्यासाठी मोठ्या प्रमाणात घराच्या बाहेर पडताना देखील दिसतात.

तज्ज्ञांच्या मते, या सूर्यग्रहणामुळे सौरऊर्जा निर्मितीचे अत्यंत मोठे नुकसान हे होऊ शकते. सात वर्षांपेक्षा कमी कालावधीमध्ये हे दुसऱ्यांना युनायटेड स्टेट्समध्ये दुसऱ्यांदा सूर्यग्रहण होत आहे.

हे सूर्यग्रहण पाहण्यासाठी लोक हे मोठ्या प्रमाणात घराच्या बाहेर पडतील. यामुळे अमेरिकेत काही भागांमध्ये ट्रॅफिक जाम होऊ शकते.

तज्ज्ञांनी हे सूर्यग्रहण थेट पाहणे टाळण्याचा सल्ला देखील दिलाय. यामुळे डोळ्यांचे नुकसान होऊ शकते आणि डोळे खराब होऊ शकतात. अमेरिकेतील काही राज्यातील शाळा या सूर्यग्रहणामध्ये बंद राहणार आहेत.

भारतासह इतर देशांमध्ये हे सूर्यग्रहण दिसणार नसल्याचे स्पष्ट करण्यात आलंय. अमेरिका आणि काही इतर देशांमध्ये हे ग्रहण दिसणार आहे.
 
 
 
 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

 
 
 
 
 

 


PostImage

सुपर फास्ट बातमी

April 3, 2024   

PostImage

निवडणुकीपूर्वी ऑपरेशन; १२ नक्षलवाद्यांचा खात्मा


छत्तीसगडमध्ये चकमकीत १०, मध्य प्रदेशात २ नक्षली टिपले

 

रायपूर : छत्तीसगडमधील विजापूर जिल्ह्यामध्ये तसेच मध्य प्रदेशमधील बालाघाट येथे सुरक्षा दलांशी झालेल्या दोन स्वतंत्र चकमकींमध्ये १२ नक्षलवाद्यांचा खात्मा करण्यात आला. लोकसभा निवडणुकांच्या पार्श्वभूमीवर नक्षलवाद्यांविरोधात अधिक व्यापक मोहीम उघडण्यात आली. छत्तीसगडमध्ये मंगळवारी सकाळी सहा वाजता सुरक्षा दलाशी चकमक होऊन नक्षलवाद्यांना मोठा दणका देण्यात आला.

 

छत्तीसगडमध्ये बस्तर लोकसभा मतदारसंघात विजापूरचा भाग येतो. या मतदारसंघात १९ एप्रिलला मतदान होणार आहे. गंगळूर पोलिस ठाण्याच्या हद्दीतील लेंद्रा गावानजीकच्या जंगलामध्ये मंगळवारी सकाळी सहा वाजता नक्षलवादी व सुरक्षा दलामध्ये चकमक झाली. नक्षलवाद्यांना पकडण्यासाठी सुरक्षा दलाच्या जवानांनी शोधमोहीम हाती घेतली असताना ही घटना घडल्याचे बस्तर विभागाचे पोलिस महानिरीक्षक सुंदरराज पी. यांनी सांगितले.

 

छत्तीसगडमध्ये डिस्ट्रीक्ट रिझर्व्ह गार्ड, स्पेशल टास्क फोर्स, केंद्रीय राखील पोलीस दल, कमांडो बटालियन फॉर रेझोल्यूट अॅक्शन (कोब्रा) या सुरक्षा दलांनी नक्षलवाद्यांना पकडण्यास संयुक्त मोहिम हाती घेतली. मार्च ते जून या कालावधीत नक्षलींकडून जास्त हल्ले होतात.

 

महाराष्ट्र पोलिसांना हवे असलेले दोघे ठार

मध्य प्रदेशमधील बालाघाट जिल्ह्यात सोमवारी सुरक्षा दलांबरोबर झालेल्या चकमकीत दोन नक्षलवादी ठार झाले. त्यामध्ये एका महिला नक्षलवाद्याचा समावेश आहे. त्यांच्याकडून एके-४७ रायफल, १२ बोअरची रायफल व दारुगोळा जप्त करण्यात आला आहे. केराझारी भागामध्ये सोमवारी रात्री ९ ते १०च्या दरम्यान ही चकमक झाली. त्यात सजांती उर्फ क्रांती ही महिला व रघू उर्फ शेरसिंग या दोन नक्षलवाद्यांचा खात्मा करण्यात आला. अनेक गुन्ह्यांप्रकरणी हे दोन नक्षलवादी पोलिसांना हवे होते. त्यांना पकडून देण्यास सरकारने जाहीर केलेल्या बक्षिसांची एकूण रक्कम ४३ लाख रुपये आहे.

 

नक्षलवाद्यांकडे आहेत आधुनिक शस्त्रास्त्रे

छत्तीसगड, मध्य प्रदेश येथील चकमकीत ठार झालेल्या नक्षलवाद्यांकडे विदेशी शस्त्रे आढळून आली आहेत. याआधीही नक्षलवाद्यांकडून सुरक्षा दलाने एके रायफली जप्त केल्या आहेत. या नक्षलवाद्यांकडे चिनी बनावटीची शस्त्रेही आढळून आली आहेत.

 

ग्रेनेड लाँचरही होते नक्षलवाद्यांकडे

■ चकमक थांबल्यानंतर घटनास्थळी चार नक्षलवाद्यांचे मृतदेह आढळून आले.

 

■ त्यांच्याकडून मशीनगन, बॅरेल ग्रेनेड लाँचर अशी शस्त्रास्त्रे व मोठ्या प्रमाणावर दारूगोळा सुरक्षा दलाने जप्त केला आहे.

 

■ घनदाट जंगलात शोध घेतला असता आणखी ६ नक्षलवाद्यांचे मृतदेह सापडले.


PostImage

Vaingangavarta19

April 2, 2024   

PostImage

Breaking news आपचे खासदार संजय सिंह यांचा जामीन मंजूर, तुरुंगातून …


Breaking news
आपचे खासदार संजय सिंह यांचा जामीन मंजूर, तुरुंगातून निघाले बाहेर


नवी दिल्ली : -
आपचे खासदार संजय सिंह यांचा जामीन मंजूर झाला असून तुरुंगातून ते बाहेर पडले आहेत 
आम आदमी पक्षाचे सर्वेसर्वा आणि दिल्लीचे मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल दारू घोटाळ्यामध्ये तुरुंगात गेले आहेत. केजरीवाल यांना २१ मार्चला ईडीने अटक केली होती, सोमवारी त्यांना न्यायालयीन कोठडीत पाठविण्यात आले आहे. अशातच गेल्या सहा महिन्यांपासून दारू घोटाळ्याप्रकरणी तुरुंगात असलेले राज्यसभा खासदार संजय सिंह यांना जामिन मिळाला आहे.

यामुळे संजय सिंह राजकीय घडामोडींमध्ये, आपच्या प्रचारामध्ये भाग घेऊ शकणार आहेत. सर्वोच्च न्यायालयाच्या तीन न्यायमूर्तींच्या खंडपीठाने संजय सिंह यांच्या जामिन अर्जावर सुनावणी घेतली होती. यामध्ये संजय सिंह यांना आतादेखील तुरुंगात ठेवण्याची गरज का आहे, असा सवाल खंडपीठाने ईडीला विचारला होता. यावर सिंह यांच्या वकिलांनी पैशांच्या अफरातफरीचे काहीच सिद्ध करू शकले नाहीत, तसेच मनी ट्रेलही दाखवू शकले नाहीत, असे कोर्टाच्या निदर्शनास आणून दिले होते.
संजय सिंह यांनी मनी लाँड्रिंग प्रकरणी अटक आणि रिमांडविरोधात सर्वोच्च न्यायालयात आव्हान याचिका दाखल केली होती. यामध्ये खंडपीठाने सिंह यांच्याकडून कोणतेही पैसे जप्त करण्यात आलेले नाहीत. तसेच त्यांच्यावरील दोन कोटींची लाच घेतल्याच्या आरोपांची चौकशी केली जाऊ शकते, असे नमूद केले. ईडीच्या वकिलांनी आपण त्यांना सूट देऊ शकतो असे म्हटले होते.

संजय सिंह यांना गेल्या वर्षी ४ ऑक्टोबरला ईडीने अटक केली होती. हायकोर्टात ईडीने सिंह यांच्या जमिन अर्जाला विरोध केला होता. यानंतर तीन महिन्यांनी सिंह यांनी सर्वोच्च न्यायालयात याचिका दाखल केली होती. यामध्ये त्यांनी मी गेल्या तीन महिन्यांपासून तुरुंगात आहे, परंतु आजवर मला गुन्हा काय आहे आणि माझी त्यात भुमिका काय आहे, हे देखील सांगितले गेल नाहीय, असे म्हटले होते


PostImage

सुपर फास्ट बातमी

April 2, 2024   

PostImage

लग्न झाल्यानंतर महिला किंवा पुरुषांनी स्वेच्छेने ठेवलेले विवाहबाह्य शरीर संबंध …


लग्न झाल्यानंतर महिला किंवा पुरुषांनी स्वेच्छेने ठेवलेले विवाहबाह्य शरीर संबंध हा कायदेशीर गुन्हा नाही. असा निर्णय राजस्थान उच्च न्यायालयाने दिला आहे. न्यायमूर्ती बीरेंद्र कुमार यांनी असं म्हटलं आहे की भारतीय दंड संहिता कलम ४९७ नुसार विवाहबाह्य संबंध व्याभिचाराचा गुन्हा या कक्षेत येत होते. मात्र २०१८ मध्ये सर्वोच्च न्यायालयाने असंवैधानिक ठरवत ही बाब रद्द केली आहे.

 

काय म्हटलं आहे न्यायालयाने?

“विवाह झालेली व्यक्ती स्वेच्छेने विवाहबाह्य संबंध ठेवत असेल तर तो कुठलाही गुन्हा नाही. व्याभिचाराचा गुन्हा आधीच रद्द करण्यात आला आहे.” एका प्रकरणाच्या सुनावणी दरम्यान न्यायालयाने हे स्पष्ट केलं आहे.

 

काय आहे प्रकरण?

राजस्थान उच्च न्यायालयात एका याचिकेवर सुनावणी सुरु होती. यामध्ये याचिकाकर्त्याने भारतीय दंड संहिता कलम ३६६ (अपहरण किंवा महिलेला लग्नासाठी भाग पाडणं) या प्रकरणावरची ही सुनावणी होती. माझ्या पत्नीला तीन जणांनी पळवून नेलं असं याचिकाकर्त्याने म्हटलं होतं. याचिकाकर्ता या प्रकरणाच्या सुनावणीला उपस्थित राहू शकला नाही कारण तो तुरुंगात आहे. मात्र त्याची पत्नी न्यायालयात आली. तिने हे सांगितलं की ज्याच्यावर आरोप लावला गेला आहे त्या आरोपीसह मी लिव्ह इन रिलेशनशिपमध्ये राहते आहे. त्यानंतर सर्वोच्च न्यायालयाने अशा प्रकरणांमध्ये दिलेले निर्णय तपासण्यात आले. सहमतीने विवाहबाह्य संबंध ठेवणं हे अपराध नाहीत हा निर्णय राजस्थान उच्च न्यायालयाने दिला.

 

याचिकाकर्त्यांचे वकील अंकित खंडेलवाल यांनी असा युक्तिवाद केला की माझ्या अशीलाच्या पत्नीने हे मान्य केलं आहे की तिचे विवाहबाह्य संबंध आहेत. त्यामुळे कलम ४९४ (पती किंवा पत्नी जिवंत असताना लग्न करणं) आणि कलम ४९७ (व्याभिचाराचा गुन्हा) या अन्वये कारवाई केली जावी. मात्र त्यावेळी न्यायालयाने हे स्पष्ट केलं की विवाहबाह्य संबंध हे व्याभिचाराच्या गुन्ह्याच्या कक्षेत येत नाहीत.Bar & Bench ने हे वृत्त दिलं आहे.


PostImage

Nikhil Alam

March 31, 2024   

PostImage

दुनिया की 4 ऐसी जगहैं, जहा महिना तक नही डुबता …


places Where sun Never Set: हमारी दुनिया में ऐसे कही शहर है जिंकी कुछ विशेषताये है. या पूरी दुनिया काही अद्भुत चीजो से भरी हुई है. इसका एक अनोखा पहलूया है कि हमारी धरती पर एक नही बल की कुछ ऐसी जगह, या महिन्यात सुरज दुखता ही नही है.

जहां सूरज नहीं डूबता, वहां रात कैसे हो सकती है? वहां के लोगों को कैसे पता चलता है कि दिन कब शुरू हुआ और कब खत्म हुआ? आइये देखते हैं कौन सी हैं ये जगहें…

नॉर्वे: नॉर्वे उन देशों की सूची में पहले स्थान पर आता है जहां सूरज जल्दी नहीं डूबता. यह देश यूरोप के उत्तर में स्थित है और इसकी जलवायु समशीतोष्ण है. इस देश में सूर्योदय की अवधि लंबी और सूर्यास्त की अवधि बहुत कम होती है.

नुनावुत, कनाडा: उत्तरी कनाडा आर्कटिक सर्कल से दो डिग्री ऊपर स्थित है. इस क्षेत्र की जनसंख्या अन्य देशों की तुलना में कम है. यहां सिर्फ 3 हजार लोग रहते हैं. इस देश में साल के 60 दिन तक सूरज नहीं डूबता. लेकिन सर्दी के दिनों में यहां तीस दिनों तक अंधेरा रहता है. यह दुनिया की सबसे ठंडी जगहों में से एक है.

स्वीडन: स्वीडन यूरोप का एक ऐसा देश है जो चारों तरफ से समुद्र से घिरा हुआ है. यह दुनिया के सबसे खूबसूरत शहरों में से एक है. यहां मई की शुरुआत से अगस्त के अंत तक सूरज लगभग 12.00 बजे डूबता है. फिर सुबह 4.30 बजे सूरज फिर से उग आता है. इस देश में 6 महीने तक हमेशा सुबह होती है.

आइसलैंड: आइसलैंड उत्तरी यूरोप में अटलांटिक महासागर में स्थित एक द्वीप देश के रूप में जाना जाता है. इस देश की खास बात यह है कि यहां सूरज जल्दी नहीं डूबता. यह प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर देश भी है. इस देश में सर्दियां लंबी होती हैं लेकिन गर्मियां बहुत कम होती हैं.


PostImage

Nikhil Alam

March 28, 2024   

PostImage

Ration card online apply: रेशन कार्ड ऑनलाइन कैसे बनवाए? जाने …


Ration card online apply: राशन कार्ड हमारे देश में नागरिक को के लिए जारी होने वाले एक जरुरी सरकारी दस्तावेज है l राशन कार्ड परिवार के मुखिया के नाम पर जारी किया जाता है जिसमे परिवार के अन्य सदस्य की जानकारी रहती है l

कई सरकार योजना व का फायदा लेने के लिए राशन कार्ड का होना जरुरी है l अगर आपके पास राशन कार्ड नही है तो आपसानी से इसे बनवा सकते है l हम आपको आज बता रहे है वह तरीका जिसे आप घर बैठे ऑनलाईन रेशन कार्ड अप्लाई कर सकते है l राशन कार्ड ऑनलाइन अप्लाय करणे का सबसे बडा फायदा है कि आपको लंबी लाईन मे नही लगना पडेगा l

गौर करणे वाली बात है की हर राज्य के रेशन कार्ड को बनने का तरीका थोडा अलग हो सकता है l आज हम आपको बता रहे है की कैसे आप उत्तर प्रदेश के रेशन कार्ड के लिए अप्लाय कर सकते है l बता दे की राशन कार्ड ऊन परिवार को जरी किये जाते है जो राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (NFSA) के तहत सार्वजनिक वितरण प्रणाली (PDS) के जरी ये सबसिडी वाला अनाज खरीदने के लिये योग्य है l

राशन कार्ड बनाने के लिए जरूरी डॉक्युमेंट्स

ऑनलाइन राशन कार्ड बनाने के लिए कुछ दस्तावेज होना जरुरी है l देखिये इन की पूरी लिस्ट.....

आधार कार्ड/वोटर आयडी कार्ड

ऍड्रेस प्रूफ/बिजली बिल/पाणी काबिल

मोबाईल नंबर

आपके परिवार के सदस्य का पासपोर्ट साईज फोटो

पॅन कार्ड

इनकम सर्टिफिकेट

बँक पासबुक

गॅस कनेक्शन की डिटेल्स

रेशन कार्ड बनाने के लिए ऑनलाइन कैसे करे अप्लाई

सबसे पहले यूपी सरकार की अधिकारी वेबसाईट

https://FCS.up.gov.in पर जाये.

इसके बाद होमपेज पर दिख रहे Form Download ऑप्शन पर क्लिक करें
-अब आपके सामने एक नई स्क्रीन आ जाएगी, यहां आपको अलग-अलग तरह के फॉर्म का ऑप्शन दिखेगा
-आपको लिस्ट से अपना Application Form सिलेक्ट करना होगा। इस लिंक पर क्लिक करने पर एक फॉर्म डाउनलोड होगा और PDF फाइल में खुल जाएगा
-अब आपको इस फॉर्म में दी गई सारी डिटेल्स भरनी होंगी
-डिटेल भरने के बाद आपको रीजनल CSC सेंटर पर जाकर यह फॉर्म जमा करना होगा

ध्यान रहे कि फॉर्म भरते समय किसी समय की गलती ना करें नहीं तो आपका आवेदन रिजेक्ट हो जाएगा। अगर आपने सभी जरूरी दस्ताेज के साथ सही से भरा हुआ फॉर्म जमा किया है तो कुछ दिनों में राशन कार्ड आपके पास पहुंच जाएगा।

बता दें कि राशन कार्ड बनवाने के लिए 5 रुपये से 45 रुपये तक फीस लगती है। आपको बता दें कि फॉर्म जमा होने के बाद इसे वेरिफाई किया जाएगा। और वेरिफिकेशन प्रोसेस 30 दिनों का होता है। वेरिफिकेशन प्रोसेस सही होने पर 30 दिन के अंदर राशन कार्ड जारी कर दिया जाता है।


PostImage

Nikhil Alam

March 27, 2024   

PostImage

बँक मे अब नहीं सुनना पडेगा लंच के बाद आना. …


बँक मे जाने पर अगर अभी आपको लंच के बाद आना पगली काउंटर पर जाओ जैशी बाते सुनने को मिलती है तो  ही आपका एक्सपिरीयन्स बदलणे जा रहा है.

सरकारने इसके लिये तयारी करली की और विशेष तोडफोड दिव्यांगो की बँक पोहोच बनाने के लिए सरकारने कधी गाईडलाइन्स का ड्रॉप भी शेअर किया है. चलिये जानते है कैसे बदलेगा ये सब...?

सरकार के दिव्या ंग सशक्तिक डिपारमेंट बँकिंग सेक्टर तक सभी की पोहोच को असं नोट सुगम बनाने के लिए ड्राफ्ट गाईडलाईन शेर की है. इस पर लोगो से सुजन मांगे गये है. वैशाली डिपार्टमेंटने ऐसा करने  के काही तरीके बतायेl

सबके लिये ऐसी आसान बनेगी बँक तक पोहोच

डिपार्टमेंट ने अपने ड्राय मे दिव्यांग केली बँक मे रॅम बनाने शेलेकर काही अशी मशीन ने लगाने की सुजाती है जो ऑटोमॅटिक हो और वायर्स कमांड से अपडेट हो सकती हो. इतना ही नाही, सबको बँक मे अन्य मुश्किलो का सामना ना करना पडे इसके लिये ज्यादा से ज्यादा डिजिटल सोल्युशन और उनके इस्तमाल करने के तरीके को लेकर जागरूकता फैलाने के लिए कहा है l

डिपार्टमेंट का कहना है कि इन गाईड लाईन्स का उदेश बँकिंग सेक्टर मे ऐसा महुल बनाना है, जोहर तरह की क्षमता रखने वाले लोगो के लिए बँक तक पहुंच को सुलभ बनाये.

इसके मुताबिक, बैंकों को यह सुनिश्चित करना होगा कि उनके प्रोडक्ट्स से लेकर अन्य सुविधाओं की जानकारी सबके समझने के लिए आसान हो. वहीं बैंक के काउंटर भी सभी यूजर्स के लिए सुलभ हों. ये ऐसे बनें हों कि व्हीलचेयर से आने वाले ग्राहक, छोटे कद के व्यक्ति या देखने-सुनने में अक्षम लोग भी उसका आसानी से इस्तेमाल कर सकें.

गाइडलाइंस में एटीएम और सेल्फ-हेल्प मशीनों की भी डिटेल दी गई है. इसके अलावा बैंकों को अपनी वेबसाइट और डिजिटल डॉक्युमेंट्स को दिव्यांग यूजर्स के अनुरूप बदलने के लिए भी कहा गया है. आम जनता और स्टेकहोल्डर्स इस पर अपने सुझाव 20 अप्रैल तक दे सकते हैं.

नहीं सुनना पड़ेगा ‘अगले काउंटर पर जाओ’

अगर बैंकों के अंदर ज्यादा से ज्यादा डिजिटल सॉल्युशंस और ऑटोमेटिक मशीन को जगह दी जाती है, तो लोगों की ज्यादा से ज्यादा जरूरत उन्हीं मशीनों से पूरी हो जाएगी. ऐसे में उनका बैंक काउंटर पर कम से कम काम पड़ेगा


PostImage

Janvikhobragade

March 22, 2024   

PostImage

Holi Special Tips : होली के मस्ती में हो जाएं …


Holi Special : होली जलाने के दूसरे दिन धूलिवंदन मनाया जाता है. होली पर रंग खेलने से पहले अपनी आंखों और त्वचा का ख्याल रखना बहुत जरूरी है.

रासायनिक रंगों के प्रयोग के कारण यह सावधानी जरूरी है. इसलिए रासायनिक रंगों की बजाय प्राकृतिक रंगों से होली खेलने से त्वचा और आंखों की बीमारियों से बचा जा सकता है. होली के त्योहार से लेकर रंगपंचमी तक रंग-गुलाल उड़ाए जाते हैं। कुछ लोग होली में विभिन्न रासायनिक रंगों का भी प्रयोग करते हैं. इसलिए इस रंग के कारण त्वचा का रूखापन, चेहरे पर मुंहासे, त्वचा में रंग का घुसना और चेहरे का काला दिखना जैसी कई समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं. होली खेलने से पहले त्वचा पर नारियल तेल से मालिश करें.

कई बार होली खेलते समय रंग आंखों में चला जाता है और इससे आंखों में जलन होने लगती है. ऐसा होने से रोकने के लिए होली खेलते समय आंखों पर चश्मा पहनें. इससे आंखों की सुरक्षा होगी.

होली खेलने से पहले आपको क्या सावधानियां बरतनी चाहिए?
होली खेलते समय अक्सर रंग आंखों में चले जाते हैं और आंखों में जलन पैदा करते हैं. ऐसा होने से रोकने के लिए होली खेलते समय चेहरे पर चश्मा लगाना चाहिए.

होली खेलने से पहले पूरे शरीर पर बॉडी लोशन (Body Lotion) लगाना चाहिए. ताकि त्वचा को नुकसान न हो. कई बार आंखों के रंग के कारण बाल रूखे हो जाते हैं. इसलिए होली खेलने जाने से पहले बालों में तेल लगाना चाहिए.

होली खेलने के बाद आपको ये करना चाहिए ?
आंखों को साफ और ठंडे पानी से धीरे-धीरे धोएं. जब रंग उतर जाएगा तो आंखों की जलन और खुजली बंद हो जाएगी.

त्वचा का रंग उतारते समय त्वचा को रगड़ें नहीं। कुछ देर पानी के नीचे खड़े रहें। सादे साबुन का उपयोग करके रंग हटाएँ। नींबू, दही, हल्दी और आटे का प्रयोग करके स्नान करें.

ऐसा मत करें ?
केमिकल युक्त रंगों से होली खेलने से त्वचा और आंखों की बीमारियां हो सकती हैं, इसलिए इससे बचें.
गुब्बारों में पानी भरकर दूसरों पर न फेंकें.


PostImage

pran

March 22, 2024   

PostImage

एनपीएस का नया लॉग-इन नियम: 2FA 1 अप्रैल से लागू …


उन्नत सुरक्षा व्यवस्था के तहत, उपयोगकर्ता अभी भी सीआरए प्रणाली में लॉग इन करने के लिए अपने वर्तमान यूजर आईडी और पासवर्ड का उपयोग करेंगे।

 

राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली (एनपीएस) की सुरक्षा को मजबूत करने के लिए पेंशन फंड विनियामक और विकास प्राधिकरण (पीएफआरडीए) ने एक नया निर्देश जारी किया है। 1 अप्रैल, 2024 से एनपीएस सेंट्रल रिकॉर्ड-कीपिंग एजेंसी (सीआरए) सिस्टम तक पहुँचने के लिए दो-कारक प्रमाणीकरण की आवश्यकता होगी, जिसमें मौजूदा पासवर्ड-आधारित लॉगिन पद्धति के साथ आधार-आधारित सत्यापन को एकीकृत किया जाएगा।

 

पीएफआरडीए के हालिया परिपत्र में सरकारी नोडल कार्यालयों को इस उन्नत सुरक्षा प्रोटोकॉल को अपनाने का आदेश दिया गया है। पहले, ये कार्यालय एक साधारण पासवर्ड का उपयोग करके सीआरए सिस्टम तक पहुँच सकते थे

 

हालाँकि, 1 अप्रैल 2024 से आधार-आधारित प्रमाणीकरण अनिवार्य हो जाएगा, जिससे दो-कारक प्रमाणीकरण प्रक्रिया सुनिश्चित होगी।

 

नई प्रणाली कैसे काम करती है?

 

बढ़ी हुई सुरक्षा व्यवस्था के तहत, उपयोगकर्ता अभी भी CRA सिस्टम में लॉग इन करने के लिए अपने मौजूदा उपयोगकर्ता आईडी और पासवर्ड का उपयोग करेंगे।

 

हालाँकि, इन क्रेडेंशियल के अलावा, आधार-आधारित प्रमाणीकरण चरण को शामिल किया जाएगा। सुरक्षा की इस अतिरिक्त परत का उद्देश्य अनधिकृत पहुँच को कम करना और NPS लेनदेन को सुरक्षित रखना है।

 

उन्नत प्रणाली की मुख्य विशेषताएं और इससे क्या नया होगा?

 

अनधिकृत प्रवेश का जोखिम कम होता है

दो-कारक प्रमाणीकरण की शुरूआत से CRA प्रणाली में अनधिकृत प्रवेश का जोखिम काफी कम हो जाता है, तथा यह सुनिश्चित होता है कि केवल सत्यापित उपयोगकर्ता ही प्रवेश प्राप्त कर सकेंगे।

सुरक्षा की अतिरिक्त परत

 

इस अतिरिक्त सुरक्षा उपाय को लागू करके, PFRDA NPS ग्राहकों और हितधारकों के हितों की सुरक्षा के लिए अपनी प्रतिबद्धता को रेखांकित करता है।

 

आधार लिंकेज

 

सरकारी नोडल कार्यालयों को अब अपने आधार क्रेडेंशियल को अपने CRA उपयोगकर्ता आईडी से लिंक करना आवश्यक है। यह लिंकेज प्रमाणीकरण के लिए आधार OTP (वन-टाइम पासवर्ड) के उपयोग को सक्षम बनाता है।

 

निर्बाध NPS गतिविधियाँ

 

सुचारू परिवर्तन सुनिश्चित करने के लिए, सरकारी कार्यालयों और स्वायत्त निकायों को सभी NPS-संबंधित लेनदेन के लिए आधार-आधारित लॉगिन और प्रमाणीकरण की सुविधा के लिए आवश्यक बुनियादी ढाँचे को तेज़ी से अपनाना चाहिए।

 


PostImage

Nikhil Alam

March 21, 2024   

PostImage

Aadhar card मात्र 50 रुपये मे घर बैठे अपने आधार …


अगर अपने आपको भी अपने Aadhar card  मे उमर को घटना या बढाना होतो आपके लिये अच्छी खबर है l अब आप ऐसा ऑनलाईन घर बैठे भी कर सकते है l जिसके लिये पुरी प्रक्रिया और आवेदन की प्रक्रिया की जानकारी या पर प्राप्त की जायेगी lAadhar card मात्र 50 रुपये मे घर बैठे अपने आधार कार्ड की उमर को सुधारे जाने प्रोसेस l

Aadhar card मे घर बैठे उमर बडा सकते है

UIDAI के माध्यम से अपने Aadhar card सर्विस के अंतर्गत अवैधक को करेक्शन करने के बहुत से ऑप्शन भी दिये जायेंगे l जिसमे आप अपना निवास स्वय से चेंज कर सकते हैl अपनी उमर भी चेंज करेंगे l

डेट ऑफ बर्थ चेंज करने के लिए आवेदन शुल्क

अगर आप भी अपनेAadhar card मै अपनी डेट ऑफ बर्थ चेंज करने का सोच रहे है तो उसके लिये उसे आवेदन शुल्क ₹50 का देना होगा जो ऑनलाइन जमा करना होगा l

डेट ऑफ बर्थ चेंज करने के लिए डॉक्युमेंट

Aadhar card मे डेट ऑफ बर्थ चेंज करने के लिए आपके पास कुछ जरुरी दस्तावेज भी होना जरुरी होगा l जिसमे आप अपना पॅन कार्ड लगा सकते है l जन्म प्रमाणपत्र, पासपोर्ट, शैक्षणिक योग्यता प्रमाणपत्र, गव्हर्मेंट से जारी हेल्थ कार्ड और भी बहुत से डॉक्युमेंट्स लगा सकते है l जो आप आवेदन के टाइम वहा पर देख पायेंगे l Aadhar card मात्र 50 रुपये मे घर बैठे अपने आधार कार्ड की उम्र को सुधारे जाने प्रोसेस l

Aadhar card मे डेट ऑफ बर्थ चेंज करने की प्रोसेस

१. Aadhar card me date of birth change करने के लिए सबसे पहले आपको ऑफिशियल वेबसाईट UIDAI पर जाना होगा l

२. वेबसाईट पर Update Aadhar के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा l

३. Upadate पर क्लिक करके मोबाईल नंबर और OTP की सहायता से लॉगिन भी करना होगा l

४. Change DOB के ऑप्शन पर क्लिक करे और सपोर्टिंग डॉक्युमेंट सिलेक्ट करना होगा l

५. अब उसे उमर को लिखे जिस आप चाहते तो उसे संबंधित डॉक्युमेंट्स अपलोड कर सकते है l